google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

यूपी के सीएम के स्वागत को उमड़ा जनसैलाब, लहराया भगवा- गूंजा-योगी-योगी


हैदराबाद, 25 नवंबर 2023 : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार से तेलंगाना के चुनावी रण में उतर गए। यहां उन्होंने रैली व रोड शो कर पांच प्रत्याशियों के लिए कमल खिलाने की अपील की। यूपी के सीएम के स्वागत को जनसैलाब उमड़ पड़ा। यहां भगवा लहराया और सड़कों पर योगी-योगी गुंजायमान हो गया। एक ओर जहां योगी आदित्यनाथ ने तेलूगू में संबोधन कर स्थानीय नागरिकों से खुद को जोड़ा तो वहीं तेलंगानावासियों ने भी उन्हें खूब स्नेह दिया। यहां केसीआर, कांग्रेस, एमआईएम व बसपा योगी आदित्यनाथ के निशाने पर रही। सीएम ने बीआरएस का मतलब भ्रष्टाचार रिश्वतखोरी समिति बताया तो बसपा को वोटकटवा कहा। बोले कि तेलंगाना में मुस्लिम आरक्षण संविधान विरोधी है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार आएगी तो इसे समाप्त कर दिया जाएगा। केसीआर ने सिर्फ छलावा किया है। सत्ता में आने पर वे निल्लू (जल), निधुलू ( पैसा) व नियामाकालु (रोजगार) के वायदों को भी भूल गए। कांग्रेस ने इसे हैदराबाद बनाया, हम भाग्यनगर बनाने आए हैं।

तेलंगाना में भाजपा आएगी तो मुस्लिम आरक्षण समाप्त होगा

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सीरपुर से भाजपा उम्मीदवार डॉ. पलवई हरीश बाबू व आसिफाबाद से आत्माराम नाइक के लिए वोट मांगा। उन्होंने कहा कि केसीआर के नेतृत्व वाली बीआरएस सरकार शोषण व अराजकता का कारण बन चुकी है। यह राज्य अपने अधिकारों के लिए तरस रहा है। तेलंगाना में तुष्टिकरण की राजनीति का सबसे गंदा खेल चल रहा है। समाज को बांटने के लिए सरकार किसी भी हद तक जा सकती है। बीआरएस सरकार ने मुस्लिम आरक्षण देकर दलित, वंचितों, अनुसूचित जाति- जनजाति व पिछड़ी जाति को हक से वंचित करने की साजिश की। यह भीमराव आंबेडकर के बनाए संविधान का अपमान है। मुस्लिम आरक्षण संविधान विरोधी है, इसलिए तेलंगाना में भाजपा के आने पर यह समाप्त होगा। वीआरएस व कांग्रेस देश को नए विभाजन की ओर ले जाना चाहती है। बीआरएस-कांग्रेस और बीएसपी एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं।

तीन लाख करोड़ रुपये के कर्ज में फंसा है तेलंगाना

सीएम योगी आदित्यनाथ ने वेमुलावाड़ा में भाजपा प्रत्याशी डॉ. विकास राव के पक्ष में वोट मांगा। यहां उन्होंने वरिष्ठ नेता व पूर्व राज्यपाल विद्यासागर राव की भी चर्चा की। सीएम ने कहा कि तेलंगाना राज्य के लिए 1969, 2001 से 2014 तक चले लंबे आंदोलन के दौरान कि निल्लू (जल), निधुलू ( पैसा) व नियामाकालु (रोजगार) देने का नारा दिया गया था, लेकिन सत्ता में आने के बाद केसीआर यह वादे भूल गए। तेलंगाना जब बना था तो यह रेवेन्यू सरप्लस राज्य था। आज तेलंगाना तीन लाख करोड़ रुपये के कर्ज में है। बीआरएस किसानों, नौजवानों व महिलाओं के साथ धोखा कर रही है। पानी अवैध धन का स्रोत बन गया है। सरकार की गलत नीतियों के साथ युवा कर्ज के बोझ से दबा है।

भाजपा सरकार लाइए, निजाम से मुक्ति दिवस को मनाएंगे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सनथनगर से मैरी शशिधर रेड्डी के लिए रोड शो किया। यहां योगी के रोड शो में जनसैलाब उमड़ पड़ा। सीएम ने कहा कि तेलंगाना में सिर्फ बीजेपी-बीजेपी ही चाहिए। 2017 से पहले यूपी में दंगे होते थे पर आज यूपी में कर्फ्यू है न दंगा, क्योंकि वहां सब चंगा ही चंगा, जबकि तेलंगाना का किसान आत्महत्या के लिए मजबूर है। यहां पेपर लीक हो रहे हैं। जो सीएम व सरकार परीक्षा नहीं करा सकती, वह राज्य चला सकती है क्या। सीएम ने आरोप लगाया कि एमआईएम दोनों पार्टियों का कॉमन फ्रेंड है। उनके कारण सरकार तेलंगाना निजाम से मुक्ति के दिवस को नहीं मनाने देती है। भाजपा सरकार लाइए, निजाम से मुक्ति दिवस को राष्ट्रीय दिवस मनाने का कार्य होगा। कांग्रेस ने इसे हैदराबाद बनाया, हम भाग्यनगर बनाने आए हैं।


0 views0 comments

コメント


bottom of page