google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

राममंदिर निर्माण के विघ्न संतोषी, ऐसे लोग जो आज भी अयोध्या में काम रोकना चाहते हैं



मुस्लिम दूर रहें


शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के शिष्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने नया राग छेड़ा है। उनका कहना है कि संघ के प्रमुख नेता इंद्रेश कुमार कहने पर मुसलमान मोहम्मद फैज खान नाम का व्यक्ति मिट्टी लेकर अयोध्या आ रहा है। जिसे बिल्कुल स्वीकार नहीं किया जा सकता। अगर फैज खान की राम और हिंदू धर्म में आस्था है, तो पहले वह हिंदू धर्म अपनाए और प्रायश्चित करे कि गलत जगह चले गए थे फिर उन्हें मौका दिया जा सकता है।


डीडी पर प्रसारण


5 अगस्त को अयोध्या में भूमि पूजन कार्यक्रम को दूरदर्शन पर टेलिकास्ट किया जाएगा। इसे लेकर कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया कड़ी आपत्ति जताई है। पार्टी ने केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखकर कहा है कि सरकारी चैनल पर यह कार्यक्रम प्रसारित करना ठीक नहीं होगा। सीपीआई की इस आपत्ति पर राम जन्मभूमि ट्रस्ट ने कड़ी प्रतिक्रिया दी। जिस पर ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने वामदल पर धार्मिक कार्यक्रम को तुच्छ राजनीति में घसीटने का आरोप लगाया। सीपीआई की तरफ से यह चिट्ठी बिनय विश्वम ने लिखी है।


मुहुर्त पर विवाद


5 अगस्त को भूमि पूजन का जो मुहुर्त निकाला गया है उस पर भी आपत्ति जताई जा रही है। शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने भूमि पूजन के तय वक्त को शुभ नहीं बताया है। उन्होंने कहा कि 5 अगस्त को दक्षिणायन भाद्रपद मास कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि है। शास्त्रों में भाद्रपद मास में गृह, मंदिरारंभ कार्य निषिद्ध है। उन्होंने इसके लिए विष्णु धर्म शास्त्र और नैवज्ञ बल्लभ ग्रंथ का हवाला दिया।

कोरोनाकाल में भीड़ जुटान


अयोध्या में पांच अगस्त को राम मंदिर निर्माण कार्य शुरु होने पर रोक लगाने के लिए हाईकोर्ट में राहुल गांधी के करीबी साकेत गोखले ने याचिका दाखिल की थी। गोखले ने अनलॉक 2 की गाइडलाइन का हवाला देते हुए और कोरोना में जनता के स्वास्थ्य का ध्यान दिलाते हुए अयोध्या में राम मंदिर के आयोजन पर रोक लगाने की मांग की। हांलकि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राम मंदिर निर्माण के लिए 5 अगस्त को प्रस्तावित भूमि पूजन के खिलाफ दाखिल याचिका को खारिज कर दिया है। याचिका में कहा गया था कि भूमि पूजन में 300 से ज्यादा लोगों को आमंत्रित किया गया है। इससे कोविड-19 संकट के दौरान सोशल डिस्टैंसिंग के नियमों का उल्लंघन होगा।

टीम स्टेट टुडे



41 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0