google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

राम जन्मभूमि - मंदिर निर्माण के लिए जमीन समतल करने के दौरान देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां और पत्थर



अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का काम शुरू हो गया है. राम जन्मभूमि परिसर के समतलीकरण का काम चल रहा है. इस दौरान कई पुरातात्विक मूर्तियां, खंभे और शिवलिंग मिलने का दावा किया गया है। श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महामंत्री चम्पत राय ने कहा कि मलबा हटाने के दौरान कई मूर्तियां और एक बड़ा शिवलिंग मिला है।


राम मंदिर निर्माण के लिए बनाई गई ट्रस्ट श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र का कहना है कि समतलीकरण के दौरान काफी संख्या में पुरावशेष यथा देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां, पुष्प, कलश, आमलक, दोरजाम्ब आदि कलाकृतियां, मेहराब के पत्थर, 7 ब्लैक टच स्टोन के स्तम्भ, 8 रेड सैंड स्टोन के स्तंभ और 5 फिट आकार की नकाशीयुक्त शिवलिंग की आकृति मिली है।



राम जन्मभूमि परिसर में 11 मई से समतलीकरण का काम शुरू हुआ है, जो अभी भी जारी है। कोरोना महामारी के कारण सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए जेसीबी, क्रेन, ट्रैक्टर और 10 मजदूरों की टीम समतलीकरण का काम कर रही है। परिसर के समतलीकरण के बाद मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू होगी।


अयोध्या में जल्द ही राममंदिर ट्रस्ट का कार्यालय भी खुल जाएगा। रामजन्मभूमि परिसर के पास राम कचहरी मंदिर में ट्रस्ट के कार्यालय का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। संचालन के लिए कंप्यूटर और दूसरी जरूरी चीजें आ चुकी हैं। कार्यालय में केवल फिनिशिंग का काम बाकी है. इसी कार्यालय में बैठकर ट्रस्टी आगे की रूपरेखा तय करेंगे।



5 फीट का नक्काशीदार शिवलिंग भी मिला


श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने अब तक जहां-जहां खुदाई हुई है, वहां से और आसपास की जगहों से बड़ी तादाद में देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां, पुष्प कलश, कलाकृतियां निकली हैं। अब तक ब्लैक टच स्टोन के सात खंबे, छह रेडसैंड स्टोन के खंबे, पांच फुट के नक्काशीनुमा शिवलिंग और मेहराब के पत्थर मिले हैं।

Advt.

चंपत राय ने बताया कि डीएम एके झा ने इस काम की मंजूरी दी है। निर्माण कार्य के दौरान कोरोना संक्रमण के मद्देनजर सुरक्षा मानकों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। काम के दौरान मास्क लगाना और सोशल डिस्टेसिंग का सख्ती से पालन करवाया जा रहा है।


Advt.

उन्होंने कहा कि परिसर की पटाई और दर्शन मार्ग में लगे एंगल और बैरिकेडिंग को हटाने में तीन जेसीबी, एक क्रेन और 10 मजदूर लगाए गए हैं। इसके बाद यहां मंदिर के लिए प्लेटफॉर्म तैयार किया जाएगा।


टीम स्टेट टुडे


Advt.

Advt.


16 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0