google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

बेबी रानी मौर्य का स्वामी प्रसाद पर हमला, बोलीं-वो तो खोजने आए थे अवसर, अब बेकार


लखनऊ, 27 मार्च 2022 : उत्तर प्रदेशकी योगी आदित्यनाथसरकार 2.0 में कैबिनेटमंत्री की शपथलेने वाली विधायकबेबी रानी मौर्यने रविवार कोपूर्व मंत्री स्वामीप्रसाद मौर्य को नयानाम दिया। आगराग्रामीण विधानसभा क्षेत्र सेपहली बार विधायकबनीं बेबी रानीमौर्य ने 25 मार्चको इकाना इंटरनेशनलक्रिकेट स्टेडियम में कैबिनेटमंत्री की शपथली थी।

उत्तराखंडकी राज्यपाल रहींबेबी रानी मौर्यने रविवार कोमीडिया से कहाकि भाजपा नेहमारा लगातार सम्मानबढ़ाने का कामकिया है। मैंखुद जाटव समाजसे आती हूं।भाजपा ने एकदलित को आगेरखकर मेयर, राज्यपाल, कैबिनेट मंत्री और भाजपाका राष्ट्रीय उपाध्यक्षबनाया है। उन्होंनेकहा कि भाजपाने हमेशा हीअपने कार्यकर्ता कोसम्मान दिया। उनको क्रमके अनुसार आगेभी बढ़ाया। भाजपामें बने रहनेवालों का हमेशासे ही सम्मानहुआ है।

बेबी रानी मौर्य ने कहा कि भाजपा ने अवसर खोजने के लिए आने वाले बहुत जल्दी ही एक्सपोज हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य इसके बड़े उदाहरण हैं। स्वामी प्रसाद मौर्य को बहुजन समाज पार्टी ने लगातार बड़ा कदम दिया। समय-समय पर उनका ओहदा भी बढ़ाया, इसके बाद भी उन्होंने बसपा को छोड़ दिया। बसपा के बाद भारतीय जनता पार्टी में आने पर उनको विधानसभा का चुनाव लड़वाया गया। जीतने पर कैबिनेट मंत्री का पद दिया गया। वह पार्टी में सदैव ही सम्मानजनक ओहदे पर रहे। इसके बाद भी उनका मन मचल रहा था।

बेबी रानी मौर्य ने कहा विधानसभा चुनाव 2022 से ठीक पहले बड़े ही अवसरवादी स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपने कुछ साथियों के साथ भाजपा को छोड़ दिया। उनके इस कृत्य से यही लगता है कि वह भाजपा में बस अवसर खोजने आए थे। भाजपा को छोड़कर समाजवादी पार्टी में अपना भविष्य तलाशने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य को क्या मिला, आप खुद देखिए। विधानसभा चुनाव हारने के बाद अब कहीं के नहीं हैं। यह वही स्वामी प्रसाद मौर्य हैं जो कि भाजपा के साथ आरएसएस को भी बर्बाद करने की बातें कर रहे थे। अब लगता है कि वह नया ठिकाना तलाशेंगे।
18 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0