बेंगलुरू हिंसा सुनियोजित साजिश – जानिए कांग्रेस की दंगों में भूमिका, येदियुरप्पा से सवाल



कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु जल उठी। 250 से ज्यादा गाड़ियां फूंक दी गईं। 100 से ज्यादा पुलिस कर्मी घायल हो गए। बेंगलुरू के डीजे हल्ली और केजी हल्ली पुलिस थाना जल कर खाक हो गए। जिले में धारा 144 लगानी पड़ी। भयंकर उपद्रव में तीन लोंगों की जान भी गई।


ये सब किया किसने। कांग्रेस ने। जी हां जो फैक्ट सामने आए हैं उसके मुताबिक कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे ने एक विवादित पोस्ट डाली। महज कुछ मिनटों में हजारों की भीड़ जमा हो गई। भीड़ ने उपद्रव शुरु किया। कांग्रेस के विधायक के आवास पर तोड़ फोड़ शुरु हुई। कुछ ही देर में दो थाने और बेंगलुरू के कई इलाके हिंसा की चपेट में आ गए।


सोशल मीडिया पर महज एक पोस्ट से भड़की हिंसा में दो पुलिस स्टेशन आग की लपटों में घिर गए। उपद्रवियों ने घर से लेकर गाड़ियों तक किसी भी चीज को नहीं बख्शा।


बेंगलुरु में उग्र भीड़ को कंट्रोल करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े। बड़ी तादाद में आए उपद्रवियों के सामने जो कुछ भी आया, सब तोड़ते चले गए। कुछ जगहों पर लूटपाट की घटनाएं भी हुईं। हिंसाग्रस्त इलाके में एटीएम मशीन तोड़-फोड़ कर पैसे भी निकालने की कोशिश हुई।



कर्नाटक सरकार के मंत्री सीटी रवि ने कहा कि बेंगलुरु की हिस्सा सुनियोजित थी और हमारे पास कुछ संदिग्ध है जिसकी जांच कराई जा रही है।


दंगे सुनियोजित थे। संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के लिए पेट्रोल बम और पत्थरों का इस्तेमाल किया गया। 300 से ज्यादा गाड़ियां जलाई गईं। हमारे पास कुछ संदिग्ध हैं, लेकिन जांच के बाद ही इसकी पुष्टि की जा सकती है। हम यूपी की तरह दंगा करने वालों से नुकसान की वसूली करेंगे।

कांग्रेस विधायक के घर से हुई साजिश


हिंसा की घटना के बाद कांग्रेस के विधायक श्रीनिवासमूर्ति ने कहा कि कुछ अज्ञात लोगों ने मेरे घर में आग लगा दी, पेट्रोल बम भी फेंके। पुलिस को मामले की जांच करनी चाहिए और दोषियों को खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। अगर एक विधायक के साथ ऐसा हो सकता है तो दूसरों का क्या होगा।


सबसे बड़ा सवाल इस बात का है विधायक के भतीजे की विवादित पोस्ट के बाद ही दंगे भड़के। यानी घर के चिराग ने ही शहर में आग लगाई।


बाहर से किसने बुलाए दंगाई


श्रीनिवासमूर्ति ने आगे कहा- मैंने गृहमंत्री, पुलिस अधिकारियों और पार्टी के नेताओं से इस घटना के संबंध में बात की है। जिन लोगों ने यह हमला किया था वह मेरे विधानसभा क्षेत्र के इलाकों से नहीं थे। ये सभी बाहरी तत्व थे। ऐसे में यह अच्छा होगा कि मुझे सरकार की ओर से सुरक्षा दे दी जाए।

कांग्रेस विधायक श्रीनिवासमूर्ति का भतीजा गिरफ्तार


अखंड श्रीनिवासमूर्ति के भतीजे को बेंगलुरु पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि खुद को विधायक का रिश्तेदार बताने वाले आरोपी ने कथित रूप से सोशल मीडिया पर एक पोस्ट साझा की। जिससे समुदाय विशेष के लोग भड़क उठे। जिसके बाद कांग्रेस के विधायक श्रीनिवास मूर्ति ने वीडियो संदेश में कहा कि मैं मुस्लिम भाइयों से अपील करता हूं कि हमें हिंसा में शामिल नहीं होना चाहिये। लड़ने-झगड़ने की कोई जरूरत नहीं है। हम सभी भाई हैं। हम कानून के अनुसार दोषियों को सजा दिलाएंगे। हम भी आपके साथ हैं। मैं अपने मुस्लिम दोस्तों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।

कांग्रेस का येदियुरप्पा सरकार से सवाल


बेंगलुरु में हुई हिंसा और दंगों के बाद कांग्रेस ने येदियुरप्पा सरकार को घेरा है। येदियुरप्पा सरकार सो रही थी क्या? तीन मौतों का जिम्मेदार कौन है। वहीं कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने भी दोषियों पर कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि मैं बेंगलुरु में हुई हिंसा की निंदा करता हूं। किसी को भी कानून अपने हाथ में नहीं लेना चाहिए। सरकार को उस व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए जिसने अपमानजनक सोशल मीडिया पोस्ट डाली साथ ही उन लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए जो दंगों में शामिल थे।


बेंगलुरु सिटी पुलिस कमिश्नर कमल पंत ने बताया है कि RAF, CRPF और CISF की कुछ कंपनियां भी मदद के लिए आई हैं।


कर्नाटक सरकार ने फैसला लिया है यूपी के योगी मॉडल की तर्ज पर दंगे के दौरान हुए नुकसान की भरपाई की जाएगी।


जिस तरह से कांग्रेस कर्नाटक सरकार पर हमलावर हुई है और कांग्रेस के ही एक विधायक के घर से पूरी साजिश के तार जुड़ रहे हैं इससे समझा जा सकता है कि देश के भीतर एक गहरी साजिश रची जा रही है।


टीम स्टेट टुडे



51 views0 comments