google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

करीबियों को टिकट न मिलने से नाराज थे आरपीएन सिंह, इनके खिलाफ ठोकेंगे ताल


लखनऊ, 25 जनवरी 2022 : कांग्रेस से त्‍यागपत्र देने वाले कांग्रेस के कद्दावर नेता, पूर्व सांसद व वर्तमान में कांग्रेस झारखंड के प्रभारी आरपीएन सिंह अपने करीबियों को टिकट न दिए जाने से नाराज थे। बीते कई दिनों से यह कयास लगाया जा रहा था कि आरपीएन सिंह कांग्रेस छोड़ सकते हैं। मंगलवार को आरपीएन सिंह ने कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी को अपना त्‍यागपत्र भेज दिया।

स्‍वामी प्रसाद मौर्य से होगा मुकाबला !

माना जा रहा है कि आरपीएन सिंह भाजपा में शामिल होंगे और पडरौना विधानसभा सीट से भाजपा से चुनाव लड़ेंगे। अभी इस सीट से स्वामी प्रसाद मौर्य विधायक हैं। स्‍वामी प्रसाद मौर्य ने हाल ही में भाजपा छोड़कर सपा ज्‍वाइन किया था। स्‍वामी प्रसाद मौर्य के समाजवादी पार्टी में जाने के बाद से ही भाजपा इस सीट से किसी बड़े नाम की तलाश में थी। मंगलवार को उसकी यह तलाश पूरी हो गई।

ट्वीट कर दी इस्‍तीफे की जानकारी

आरपीएन सिंह का त्‍यागपत्र देना कांग्रेस के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है। आरपीएन ने ट्वीट कर अपने इस्‍तीफे की जानकारी दी। आरपीएन सिंह कुशीनगर से सांसद भी रह चुके हैं और यहां पर उनका अच्छा प्रभाव है। आरपीएन सिंह का जन्म 25 अप्रैल 1964 को दिल्ली में हुआ था। 2002 में उन्होंने पत्रकार सोनिया सिंह से शादी की। आरपीएन सिंह कांग्रेस की मनमोहन सिंह सरकार में गृह राज्य मंत्री रहे। वर्ष 1996 से 2009 तक विधायक रहने के बाद आरपीएन सिंह कुशीनगर से 15वीं लोकसभा सदस्य बने। 16वीं लोकसभा चुनाव में भाजपा के राजेश पाण्डेय ने उन्हें हरा दिया था। आरपीएन के पिता कुंवर सीपीएन सिंह भी कुशीनगर से सांसद थे। वह 1980 में इंदिरा गांधी कैबिनेट में रक्षा राज्यमंत्री भी रहे।

11 views0 comments