google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

अवसर युग में बदल गई कोरोनाकाल की चुनौती, सीएमआरए के वेबिनार में युवाओं से बोले रामलाल



कोरोना काल की चुनौती और अवसर विषय पर आयोजित युवा संवाद में देशभर के करीब 35 से ज्यादा कॉलेज और विश्वविद्यालयों के छात्रों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख रामलाल ने कहा कि कोरोना काल में समाज की सोच में बड़ा बदलाव आया है। उन्होने बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन की कविता की पक्तियों को दोहराते हुए कहा कि ‘मुश्कित वक्त है लेकिन गुजर जाएगा’। रामलाल ने कहा कि भारतीय समाज कोरोना की चुनौता का सामना पूरे आत्मविश्वास के साथ कर रहा है और यही वजह है कि पश्चिमी देशों की तुलना में भारत का रिकवरी रेट काफी ज्यादा है।


रामलाल सेंटर फॉर मीडिया रिसर्च एंड एनालिसिस (सीएमआरए) द्वारा आयोजित ऑनलाइन वेबिनार श्रृंखला युवा संवाद में बोल रहे थे। उनके साथ साथ उत्तर क्षेत्र संपर्क प्रमुख श्रीकृष्ण, दिल्ली प्रांत के संपर्क प्रमुख डॉ. अशोक त्यागी और वरिष्ठ पत्रकार एवं सीएमआरए के संस्थापक रविंद्र चौधरी कार्यक्रम में शामिल हुए।


युवाओं से संवाद करते हुए रामलाल ने कहा कि कोरोना काल में कई सकारात्मक पहलू भी सामने आए है जैसे हमारे समाज की आधारभूत ईकाई परिवार एक बार फिर मजबूत हुई है। उन्होने कहा कि कई नए क्षेत्रों में युवाओं के लिए रोजगार की नई संभावनाएं भी पैदा हुई है। साथ ही उन्होने कहा कि विकास का मॉडल इकोनॉमी, इकोलॉजी और इथिक्स पर आधारित होना चाहिए।


इससे पहले युवाओं को संबोधित करते हुए श्रीकृष्ण ने कहा कि कोरोना काल में काम की पद्धति में बड़ा बदलाव हुआ है। उन्होने कहा कि आत्मनिर्भर भारत बनाने का विकल्प स्वदेसी ही है औऱ स्वदेसी अपना ही हम आत्मनिर्भर बन सकते हैं।



इसके साथ ही छात्रों को संबोधित करते हुए सीएमआरए के संस्थापक और वरिष्ठ पत्रकार रविंद्र चौधरी ने कहा कि युवा के अंदर वो ताकत है जो किसी भी देश की दशा और दिशा बदल सकते हैं। आज भारत दुनिया का सबसे युवा राष्ट्र है, ऐसे में कोरोना की चुनौती को भी अवसर में बदलने का मादा हिन्दुस्तान के युवाओं के भीतर है बस जरुरत सही दिशा में एकजुट होकर चलने की है।


इस सबके बीच आरएसएस दिल्ली प्रांत के संपर्क प्रमुख डॉ. अशोक त्यागी ने कहा कि आज युवाओं और मीडिया के बीच सकारात्मक सोच को बढ़ा देने की जरुरत है, क्योंकि सकारात्मक सोच से ही कोरोना की चुनौती से निपटा जा सकता है।



वेबिनार में सीएमआरए कोर कमेटी के सदस्य कमल चिब, विक्रम मित्तल, स्वर्णिम प्रभात, शेखर आनंद त्रिवेदी, दिव्य रत्न वर्मा, चेतन शर्मा, गोपाल जी, अमन शर्मा, मनीष कुमार और प्रांशू ने हिस्सा लिया। वेबिनार का संचालन पत्रकार अशीता दधीच ने किया।


टीम स्टेट टुडे




40 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0