24 घंटे में टूटे कोरोना के रिकार्ड, 6088 नए मामले, 148 मौत– सावधान ना रहता भारत तो आज का आंकड़ा होता



भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि कोरोना वायरस से 37,000-78,000 मौतें हो सकती थीं। 14-29 लाख मामले हो सकते थे, लाखों मामले नहीं फैले क्योंकि हमने फैसला किया कि हम घर की लक्ष्मण रेखा को पार नहीं करेंगे।


बढ़ गई है संक्रमण की रफ्तार कोरोना ढा रहा है कहर


इतनी रोकथाम और संयम के बावजूद लॉकडाउन 4 में कोरोना के नए मामले की रफ्तार तेज हो गई है। पिछले तीन दिनों से हर रोज 4 हजार से ज्यादा नए केस सामने आ रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 1,18,447 है जबकि 48,534 लोग इस जानलेवा बीमारी से ठीक हो चुके हैं। कोविड-19 ने 3,583 लोगों की जान ले ली है। देश में कोरोना के मामलों अब तेज उछाल आ रही है। पिछले 24 घंटे में 6,088 नए केस आए जबकि 148 लोगों की मौत हुई है। लॉकडाउन -4 में ढील देने के बाद से हर रोज कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़ती जा रही है।


Advt.

24 घंटे में महाराष्ट्र में कोरोना ने तोड़े रिकार्ड


महाराष्ट्र में कोरोना वायरस हर दिन नए रेकॉर्ड बना रहा है। पिछले 24 घंटे में 2940 नए कोरोना संक्रमित सामने आए हैं। यह एक दिन में कोरोना मरीजों की सबसे ज्यादा संख्या है। अब राज्य में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 44,582 हो गई है। राज्य में पुलिस भी कोरोना से बुरी तरह जूझ रही है। महाराष्ट्र पुलिस के 1666 पुलिसकर्मी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, जिसमें से 18 की मौत हो चुकी है।


राज्य में शुक्रवार को कोरोना के कुल 63 मरीजों की मौत हो गई। इस प्रकार राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या अब 1517 हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि यह लगातार छठा दिन है, जब महाराष्ट्र में दो हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। अब तक राज्य में कुल 12583 मरीज ठीक हो चुके हैं और कुल 30474 ऐक्टिव केस बचे हैं। राज्य में 332777 लोगों का कोरोना टेस्ट किया जा चुका है।

मुंबई में 27 हजार के पार पहुंचे कोरोना के मरीज


देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1751 मामले सामने आए और कुल 27 मरीजों की मौत हो गई। सिर्फ मुंबई में ही कोरोना के मरीजों की संख्या अब 27251 हो चुकी है। महाराष्ट्र में कोरोना से मरने वाले कुल 1517 लोगों में से 909 लोग सिर्फ मुंबई से ही हैं।

Advt.

प्रवासियों के पहंचने के बाद यूपी, बिहार में बढ़ी संख्या

देश के विभिन्न हिस्सों से प्रवासियों के यूपी और बिहार लौटने के बाद वहां भी कोरोना के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। बिहार में कोरोना केस 2,000 के करीब पहुंच चुका है। यूपी में साढ़े 5 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। अधिकारियों ने बताया कि प्रवासियों के कारण मरीजों की संख्या बढ़ी है।


देश में हर दिन 1 लाख टेस्ट


देश में पिछले चार दिन से कोविड-19 के लिए रोजाना एक लाख से अधिक जांच की जा रही है। सरकार ने कहा है कि लगभग 80 प्रतिशत केस पांच राज्य, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, और दिल्ली से हैं। ऐसे में कहा जा सकता है कि भारत में कोरोना का प्रकोप सीमित क्षेत्र तक ही है। सरकार ने कहा है कि दो स्वतंत्र अर्थशास्त्रियों द्वार तैयार मॉडल से पता चलता है कि लॉकडाउन के कारण लगभग 23 कोविड-19 के केस और 68,000 मौतों को टाला गया है।


Advt.

24 घंटे में कोविड-19 के 3,234 मरीज ठीक हुए

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि शुक्रवार दोपहर एक बजे तक कोविड-19 की 27,55,714 जांच की गई। एक दिन में 1,03,829 नमूनों की जांच हुई। उन्होंने बताया कि 3.13 प्रतिशत से घटकर 3.02 प्रतिशत हो गई। मंत्रालय के अनुसार 24 घंटे में कोविड-19 के 3,234 मरीज ठीक हुए और अब तक 48,534 मरीज अभी तक ठीक हो चुके हैं। लॉकडाउन का फायदा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक 21 मई तक कोरोना वायरस का संक्रमण कुछ राज्यों और शहरों में केंद्रित हो चुका है। डॉ वीके पॉल ने बताया कि पांच राज्यों में लगभग 80% केस और पांच शहरों में 60% से अधिक, 10 राज्यों में 90% से अधिक और 10 शहरों में 70% से अधिक मामले कोविड 19 के आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के कारण COVID19 मौतों की संख्या की वृद्धि दर में भी काफी गिरावट आई है।

भारत सरकार की योजना आयुष्मान भारत और प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत अब तक 1 करोड़ लोग इलाज करा चुके हैं।


टीम स्टेट टुडे


Advt.

22 views0 comments