google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

डेंगू से बचाव के लिए गाइडलाइन, मरीज मिलने पर 60 घरों में स्क्रीनिंग


लखनऊ, 11 अक्टूबर 2022 : डेंगू से बचावके लिए उत्तरप्रदेश चिकित्सा एवं स्वास्थ्यविभाग ने कमरकस ली है।उप मुख्यमंत्री ब्रजेशपाठक ने सभीजिलों के मुख्यचिकित्साधिकारियों को मंगलवारको दिशा-निर्देशदिए कि किसीभी क्षेत्र मेंडेंगू का एकमरीज मिलने परआसपास 60 घरों मेंस्क्रीनिंग की जाए।डेंगू के लक्षणके आधार परपहले कार्ड जांचकराई जाए औरफिर डेंगू कीएलाइजा जांच कराईजाए।

एंटीलार्वा का करेंछिड़काव

उप मुख्यमंत्रीब्रजेश पाठक नेकहा कि बारिशके बाद जलभरावहोने से मच्छरोंके पनपने कीसंभावना अधिक होतीहै। ऐसे मेंएंटीलार्वा का छिड़कावकराया जाए औरफागिंग की व्यवस्थाकी जाए। जिनक्षेत्रों में खालीप्लाट पर पानीभरने के कारणमच्छर पनप रहेहों, उस प्लाटमालिक को नोटिसजारी कर उसकीसाफ-सफाई सुनिश्चितकी जाए।

अस्पतालों में बनाएंविशेष वार्ड

डिप्टी सीएम ब्रजेशपाठक ने सभीअस्पतालों में 10-10 बेड केडेंगू वार्ड बनानेके भी निर्देशदिए। मरीजों कोहर हाल मेंमच्छरदानी में हीरखा जाए ताकिदूसरे अन्य रोगियोंको डेंगू सेबचाया जा सके।अस्पतालों में दवाओंव डेंगू केभी बेहतर इंतजामकरने के निर्देशदिए गए हैं।डेंगू एडीज इजिप्टीमच्छर के काटनेके कारण होताहै। इसमें तेजबुखार के साथशरीर पर चकत्तेपड़ जाते हैं।

सीएम जारीकर चुके हैंनिर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथने कहा हैकि बारिश सेमलेरिया, डेंगू, काला जारऔर चिकनगुनिया जैसीबीमारियों के फैलनेकी आशंका रहतीहै। इसको लेकरअतिरिक्त सतर्कता बरती जाए।प्रदेश में चलरहे संचारी रोगनियंत्रण अभियान को अंतरविभागीय समन्वय से धरातलपर प्रभावी ढंगसे लागू कियाजाए। संचारी रोगोंपर प्रभावी रोकथामके लिए सभीमेडिकल कालेजों, जिला अस्पतालोंमें डेंगू औरआइसोलेशन वार्ड बनाए जाएं।

1 view0 comments
bottom of page