google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

डिप्टी सीएम पर हमले में फिर सीएम ने संभाला मोर्चा, 5-5 प्वाइंट में जाने जुबानी तीर


लखनऊ, 20 सितंबर 2022 : उत्तर प्रदेश विधानमंडल केसत्र में समाजवादीपार्टी के अध्यक्षतथा नेता प्रतिपक्षअखिलेश यादव नेएक बार फिरसरकार पर हावीहोने का प्रयासकिया। इस बारउनके निशाने परडिप्टी सीएम ब्रजेशपाठक थे। पाठक परअखिलेश को हावीहोते देख मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ नेएक बार फिरमोर्चा संभाला और नेताप्रतिपक्ष को हरबात का तर्कके साथ जवाबदिया।

इससे पहलेबजट सत्र मेंअखिलेश यादव नेडिप्टी सीएम केशवप्रसाद मौर्य पर हावीहोने का प्रयासकिया था, तबभी सीएम योगीआदित्यनाथ ने मोर्चासंभाला था। समाजवादी पार्टी प्रमुखअखिलेश यादव नेराज्य की स्वास्थ्यसेवाओं पर सवालखड़े किए। उन्होंनेडिप्टी सीएम ब्रजेशपाठक का नामलिए बिना उनकोछापामार बोला। जिसके बादसीएम योगी आदित्यनाथने सपा प्रमुखपर जमकर पलटवारकिया।

मंगलवार को विधानमंडलके मानसून सत्रमें विधानसभा मेंअखिलेश यादव औरसीएम योगी आदित्यनाथके बीच जमकरजुबानी तीर चले।कोई भी किसीसे कम नहींथा। इनके बीचजुबानी तीर केपांच-पांच प्वाइंटपढ़ें।

अखिलेश यादव केहमले

  • यूपी मेंडाक्टरों ने इलाजसे हाथ खड़ेकर लिए हैं, अस्पताल में लापरवाहीसे लोगों कीजान जा रहीहै

  • कन्नौज में अस्पतालमें कुत्ते हीकुत्ते दिखे हैं, दवाईयां और मशीनेंनहीं है

  • झोला छापडाक्टर इलाज कररहे हैं, मरीजोंकी जान जारही है।

  • मरीज चारपाईपर अस्पताल जारहे हैं औरअस्पतालों में पानीभरा पानी भरजाता है

  • मंत्री अस्पतालों मेंजाते हैं औरकेवल छापा मारतेहैं, छापामार मंत्रीके छापों काक्या असर होरहा है

सीएम योगीआदित्यनाथ का जबरदस्तपलटवार

  • सपा सरकारके दौरान 2017 सेपहले सभी प्राथमिकस्वास्थ्य केन्द्र बंद करदिए गए थेऔर अस्पतालों मेंडाक्टर नहीं थे

  • जिला अस्पतालोंकी स्थिति भीदयनीय हो गईथी, ज्यादातर सीएचसीबंद होने केकारगार पर थे

  • सपा प्रमुखको बोलते-बोलतेबहुत सारी बातेंयाद आती हैंलेकिन सपने जबतार-तार होंगेतो उसका दुखहोता है

  • उनकी बातोंसे वो दुखझलक भी रहाथा, लेकिन हमेंजनता के फैसलोंको स्वीकार तोकरना ही पड़ेगा

  • नेता प्रतिपक्षदूसरों को केवलउपदेश देते हैंलेकिन कोरोना महामारीके दौरान पतानहीं वे कहांगए थे, हमलोगों ने तोकभी नहीं देखा

विधान भवन मेंमंगलवार को दूसरेपहले अखिलेश यादवने राज्य कीस्वास्थ्य व्यवस्थाओं पर सवालखड़े किए। जिसकेबाद सीएम योगीआदित्यनाथ ने खुदखड़े होकर जवाबदिया। अखिलेश यादवने जब हावीहोने का प्रयासकिया तो सीएमयोगी आदित्यनाथ नेप्रदेश में 2017 से पहलेकी स्वास्थ्य सेवाका हाल बतादिया।

0 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0