google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

डीएम की अध्यक्षता में जिला भूमि एवं जल संरक्षण समिति की बैठक सम्पन्न


पीलीभीत, 29 अक्टूबर 2022 : जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार की अध्यक्षता में भूमि संरक्षण अधिनियम 1963 के अंतर्गत जिला भूमि एवं जल संरक्षण समिति की बैठक गांधी सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने कृषि विभाग के भूमि संरक्षण अनुभाग के द्वारा वर्ष 2021-22 में कराए गए कार्यों की समीक्षा की गयी। वर्ष 2021-22 में भूमि संरक्षण अनुभाग के द्वारा तीन योजनाओं के अंतर्गत कार्य कराया गया यथा पंडित दीनदयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना, मनरेगा एवं खेत तालाब योजना की समीक्षा की गई। बैठक के दौरान अवगत कराया गया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना के अंतर्गत 12 परियोजनाओं पर कार्य वर्ष 2021-22 में कराया गया।

परियोजनाओं का नाम इस प्रकार है टिहरी बिलसंडा ब्लॉक, नौगवां उर्फ़ नवीनगर बिलसंडा ब्लॉक, महोफ मरोरी ब्लॉक, मनपुरा बरखेड़ा ब्लाक, निवार एठपुर द्वितीय अमरिया ब्लॉक, बहादुरगंज अमरिया ब्लॉक, रामबोझा तृतीय बरखेड़ा ब्लाक, धनकुना अमरिया ब्लॉक, खरगापुर द्वितीय बरखेड़ा ब्लाक, खरोसा द्वितीय मरोरी ब्लॉक, लाडपुर बीसलपुर ब्लॉक एवं जगदीशपुर बरखेड़ा ब्लाक। परियोजना के अंतर्गत किसानों की भूमि को अधिक उपजाऊ बनाने हेतु समतलीकरण, मेड़बंदी, पेरीफेरल बंड एवं कंटूर बंड आदि कार्यों का संपादन कराया गया।

मनरेगा योजना के अंतर्गत 11 स्थलों पर कार्य कराया गया। रम्पुरा, रडैता ऐतमाली, रोहनिया, करनापुर लायकराम, पैनिया बीसलपुर व तृतीय बरखेड़ा ब्लाक, बुहिता बरखेड़ा ब्लाक, टेढ़ा श्रीराम प्रथम बिसंडा ब्लाक, टेढ़ा श्रीराम दितीय बिलसंडा ब्लॉक, खमरिया दलेलगंज अमरिया ब्लॉक, रूरा रामनगर मरौरी ब्लॉक, कंजा नाथ ललौरीखेडा ब्लॉक। मनरेगा योजना के अंतर्गत कंटूर बंड पेरीफेरल बंड एवं एवं जल निकास नालों के जीर्णोद्धार का कार्य कराया गया। बैठक के दौरान अवगत कराया गया कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना अंतर्गत (पर ड्रॉप मोर क्रॉप अदर इंटरवेंशन घटक) खेत तालाब योजना के अंतर्गत वर्षा जल संचयन हेतु लघु आकार के तालाबों का निर्माण कराया गया। लघु आकार के तालाब की कुल लागत रू. 105000 होती है जिसमें सरकार के द्वारा 50 प्रतिशत अनुदान दिया जाता है इस प्रकार से किसान को रू. 52500 में एक तालाब की लागत आती है। इन तालाबों का उपयोग मछली पालन एवं वर्षा जल संचयन हेतु किया जाता है।

विभाग के द्वारा कुल 15 तालाबों का निर्माण वर्ष 2021-2022 में कराया जा चुका है। बैठक के दौरान भूमि संरक्षण अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि वर्ष 2022 -23 में भूमि संरक्षण विभाग के द्वारा 4 योजनाओं के अंतर्गत कार्य कराने के प्रस्ताव जिलाधिकारी के समक्ष प्रस्तुत किए गए। जिसमें पंडित दीनदयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना में कुल 12 स्थलों का चयन विभाग के द्वारा किया गया है। प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना अंतर्गत (पर ड्रॉप मोर क्रॉप आदर इंटरवेंशन) घटक वर्षा जल संचयन हेतु खेत तालाब योजना अंतर्गत कुल आठ स्थलों का चयन किया गया है। मनरेगा योजना के अंतर्गत कुल 12 स्थलों का चयन किया गया है जिसमें वर्ष 2022 23 में विभिन्न कार्य कराए जाएंगे।. वर्ष 2022-23 में कार्पस फंड में आरआईडीएफ नाबार्ड 2018 एवं आरआईडीएफ नाबार्ड 2019 के अंतर्गत पूर्व चयनित विभिन्न परियोजनाओं पर मरम्मत कार्य कराया जाएगा। मरम्मत कार्य के लिए विभाग के द्वारा कुल 20 स्थलों का चयन किया गया है।

बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने भूमि संरक्षण अधिकारी को निर्देशित किया गया कि विभाग कि द्वारा कार्य कराने के दौरान स्थानीय जनप्रतिनिधियों को सूचित अवश्य किया जाये। समस्त कार्य मानक के अनुरूप करायें जाये। कार्यों में किसी प्रकार की अनियमिता पाये जाने पर सम्बन्धित के विरूद्व आवश्यक कार्यवाही की जायेगी।

बैठक में विधायक बीसलपुर विवेक कुमार वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी, जिला भूमि संरक्षण अधिकारी, उप कृषि निदेशक, जिला कृषि अधिकारी, जिला उद्यान अधिकारी, अधिशासी अभियंता सिंचाई, सहायक अभियंता लघु सिंचाई, प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी वन प्रभाग, उपायुक्त श्रम रोजगार एवं स्थानीय कृषक बैठक में उपस्थित रहें।

15 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0