google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

बलिया में हीट स्‍ट्रोक से अब तक 70 की मौत


बलिया, 18 जून 2023 : बल‍िया में भीषण गर्मी जानलेवा बन चुकी है। हीट वेव के कारण लोगों की जान पर आफत बन पड़ रही है। जिले में हालात चिंताजनक बन चुके हैं। जिला अस्पताल में एक सप्ताह में लगभग 70 मरीजों की मौत हो चुकी है। इनमें अधिकांश बुजुर्ग मरीज शामिल हैं। आज इस मामले में ड‍िप्‍टी सीएम ब्रजेश पाठक ने बयान जारी करते हुए कहा क‍ि स्‍पेशल डॉक्‍टरों की टीम लखनऊ से बल‍िया भेजी गई है। प्रदेश के सभी ज‍िला अस्‍पतालों को न‍िर्देश द‍िए गए हैं क‍ि भर्ती होने वाले हर मरीज का डाटा तैयार करें। लापरवाही बरतने के मामले में सीएमएस को न‍िलंब‍ित क‍िया गया है। ड‍िप्‍टी सीएम ने कहा क‍ि हमारे पर सरकारी दवाओं की कोई कमी नहीं है।

दो दिन में 34 ने तोड़ा दम

इस बीच बैरिया के वन क्षेत्राधिकारी रामसुख यादव (57 वर्ष) हीट स्ट्रोक (तेज धूप लगने) के कारण अचानक बीमार पड़े और शुक्रवार की रात इलाज के दौरान सोनबरसा अस्पताल में उनकी मौत हो गई। वे 21 जून को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जयप्रकाश नगर में आगमन को देखते हुए पौधरोपण कराने के लिए गए थे। सोनबरसा अस्पताल के अधीक्षक डा. आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि हीट स्ट्रोक के चलते वन क्षेत्राधिकारी की तबीयत ज्यादा खराब हो गई थी। शुक्रवार को जिला अस्पताल में दो दिन में 34 मरीजों की मौत की जानकारी सामने आने पर हड़कंप मच गया। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अस्पताल में गुरुवार को 23 और शुक्रवार को 11 मरीजों की मौत हुई। वहीं शनिवार को भी आंकड़ा 10 के करीब रहा।

लू-तापघात के लक्षण

शरीर का तापमान बढ़ना और पसीना न आना।

सिरदर्द होना या सिर का भारीपन महसूस होना।

त्वचा का सूखा एवं लाल होना।

उल्टी होना, बेहोश होना।

मांसपेशियों में ऐंठन।

लू-तापघात का प्राथमिक उपचार

व्यक्ति को ठंडे एवं छायादार स्थान पर ले जाएं।

एंबुलेंस को फोन करें और नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाएं।

अगर व्यक्ति बेहोश न हो तो ठंडा पानी पिलाएं।

माथे पर गीले कपड़े का स्पंज रखें।

जितना हो सके कपड़े शरीर से निकाल दें।

पंखे से शरीर को हवा दें व पानी से स्प्रे करें।

व्यक्ति को पैर ऊपर रखकर सुला दें।

लू-तापघात से बचाव

चाय, काफी, शराब के सेवन से बचें।

अधिक परिश्रम के मध्य विश्राम अवश्य करें।

प्यास की इच्छा न होने पर भी पानी पीएं।

जरूरी न हो तो अधिक धूप में बाहर न जाएं।

ठंडक प्रदान करने वाले फल खाएं।

हल्के, सफेद रंग के और ढीले कपड़े पहनें।

अधिक गर्मी में व्यायाम न करें।

बच्चों व बुजुर्गों का विशेष ख्याल रखें।

शरीर अधिक गर्म लगने पर स्नान करें।


1 view0 comments

Comments


bottom of page