google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

भारत की कूटनीतिक तटस्थता, पीएम मोदी के सबसे अंत में समरकंद पहुंचने के क्या हैं मायने


नई दिल्ली, 15 सितंबर 2022 : शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की शीर्षस्तरीय सालानाबैठक में हिस्सालेने के लिएप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी काविशेष विमान गुरुवारको रात तकरीबननौ बजे उज्बेकिस्तानके ऐतिहासिक शहरसमरकंद के हवाईअड्डे पर उतरा।आठ पूर्णकालिक सदस्यऔर चार प्रेक्षकदेशों वाले इससंगठन की बैठकमें हिस्सा लेनेके लिए पहुंचनेवाले पीएम मोदीसबसे अंतिम शीर्षनेता थे।

केवल 24 घंटे रुकेंगेपीएम मोदी

देरी सेपहुंचने की वजहसे न तोवह आधिकारिक रात्रिभोज में हिस्साले पाए औरन ही दिनमें दूसरे देशोंके नेताओं केसाथ विशेष तौरपर आयोजित नावकी सवारी करपाए। मोदी वहांसिर्फ 24 घंटे रुकेंगेऔर मुख्य समारोहसमाप्त होने केकुछ ही घंटेबाद शुक्रवार कीरात वह स्वदेशके लिए रवानाहो जाएंगे। प्रधानमंत्रीमोदी का यहकार्यक्रम भारत सरकारकी कूटनीतिक तटस्थताकी नीति कोउजागर करता है।

इसलिए बच रहाभारत

एससीओ की इसबैठक को जिसतरह से रूसऔर चीन कीतरफ से अमेरिकाव पश्चिमी देशोंके खिलाफ एकमंच के तौरपर प्रचारित कियागया है उससेभारत उसके साथनहीं दिखना चाहताहै। गुरुवार कोरूस के राष्ट्रपतिब्लादिमीर पुतिन और चीनके राष्ट्रपति शीचिनफिंग के बीचहुई मुलाकात केबाद भी यहीसंकेत दिया गयाहै। भारत एससीओका हिस्सा अपनीशर्तों पर बनारहना चाहता है।

यूक्रेन पर भारततटस्थ

यूक्रेन पर रूसके हमले केबाद भारत नेलगातार यह दिखायाहै कि वहऊर्जा सुरक्षा सेजुड़े मुद्दों पररूस के साथकारोबार करता रहेगा।साथ ही उसनेयूक्रेन को भीमदद जारी रखीहै। अमेरिका वयूरोपीय देशों के साथभी लगातार संवादबना कर रखाहै। विदेश सचिवविनय क्वात्रा नेकहा कि पीएममोदी बहुत हीकम अवधि केलिए उज्बेकिस्तान जारहे हैं। शुक्रवारको एससीओ कीदो बैठकों मेंहिस्सा लेंगे।

द्विपक्षीय बैठकों परअसमंजस

पीएम मोदीकी द्विपक्षीय बैठकोंको लेकर भीभारत सरकार कीतरफ से सिर्फयह बताया गयाहै कि उनकीउज्बेकिस्तान के राष्ट्रपतिशौकत मिर्जीयोयेव केसाथ बैठक होगी।विदेश सचिव नेकहा है किअगर प्रधानमंत्री कीकिसी दूसरे नेताके साथ द्विपक्षीयबैठक होती हैतो उसे सहीसमय पर बतायाजाएगा।

इब्राहिम रईसी केसाथ मोदी कीबैठक तय

हालांकि, रूस केराष्ट्रपति कार्यालय ने बतायाहै कि पुतिनऔर मोदी केबीच मुलाकात तयहै। इसी तरहसे ईरान केराष्ट्रपति कार्यालय ने भीबताया है किराष्ट्रपति इब्राहिम रईसी केसाथ मोदी कीबैठक तय होचुकी है।

चिनफिंग के साथबैठक के आसारनहीं

चीन केराष्ट्रपति चिनफिंग के साथमोदी की मुलाकातको लेकर दोनोंदेशों की तरफसे कोई पुष्टिनहीं हुई है।पीएम मोदी केबेहद व्यस्त कार्यक्रमको देखते हुएइन दोनों नेताओंके बीच आधिकारिकतौर पर द्विपक्षीयमुलाकात की संभावनाकम ही है।हालांकि शुक्रवार को दिनभर चलने वालेकार्यक्रम में मोदीऔर चिनफिंग तीनबार आमने-सामनेहोंगे। पाकिस्तान के पीएमशाहबाज शरीफ भीइस बैठक मेंहिस्सा लेंगे और उनकीभी पीएम मोदीके साथ सिर्फदुआ-सलाम होनेकी संभावना है।

2 views0 comments
bottom of page