google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

कनिका कपूर का कानूनी काउंटडाउन शुरु



बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर कोरोना से जंग जीत चुकी हैं और अभी क्वारंटीन हैं। हालांकि, अभी उनकी मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। सोमवार को पुलिस टीम ने लखनऊ के महानगर स्थित शालीमार गैलेंट अपार्टमेंट में कनिका को नोटिस दिया। जांच अधिकारी जेपी सिंह का कहना है कि 30 अप्रैल को कनिका का बयान दर्ज किया जाएगा जिसके लिए कानूनी प्रक्रिया शुरू हो गई है। जेपी सिंह का कहना है कि कनिका जांच में सहयोग कर रही हैं।बता दें कि कनिका कपूर के खिलाफ सरोजनी नगर थाने में दूसरों की जान खतरे में डालने सहित आईपीसी की धारा 188,269 और 270 के तहत केस दर्ज किया गया है। कनिका अभी अपने घर पर अपने परिवार के साथ वक्त गुजार रही हैं। उन्होंने रविवार को सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिये अपना पक्ष रखा। जिसमें उन्होंने खुद को निर्दोष बताया।जेपी सिंह का कहना है कि कनिका पूरी तरह स्वस्थ हैं और जांच में सहयोग कर रही हैं। कनिका ने खुद ही नोटिस प्राप्त किया।


17 मार्च को कनिका में कोरोना के लक्षण मिले थे जिसके बाद 19 मार्च को उनका सैंपल जांच के लिए भेज दिया गया था। 20 मार्च को उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी जिसके बाद से उनका इलाज चलता रहा। उनकी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें घर भेज दिया गया। जहां उन्होंने खुद को 21 दिनों के लिए क्वारंटीन कर लिया। अब वह स्वस्थ हैं तो पुलिस ने अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है।


कनिका कपूर के खिलाफ सरोजनी नगर थाने में दूसरों की जान खतरें में डालने सहित आईपीसी की धारा 188,269 और 270 के तहत केस दर्ज किया गया है। उन पर आरोप है कि उन्होंने लंदन से आने के बाद खुद को क्वारंटीन नहीं किया और मुंबई से लेकर लखनऊ और फिर कानपुर में पार्टी करती रहीं। कोरोना संक्रमित होने से उनके साथ ही अन्य लोगों की भी जांच का खतरा उत्पन्न हो गया। हालांकि, उनकी पार्टी में शामिल होने वाले कई लोगों ने खुद को क्वारंटीन कर लिया था।


किसी व्यक्ति पर नकारात्मकता डालने से वास्तविकता नहीं बदलती


कनिका ने कहा- मैं यूके से मुंबई 10 मार्च को आई थी। अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर मेरी स्क्रीनिंग भी हुई थी। उस समय तक इस मामले पर कोई एडवाइजरी जारी नहीं हुई थी। एडवाइजरी 18 मार्च को जारी हुई थी। इसलिए मुझे क्वारंटीन में जाने की कोई जरूरत नहीं थी। मुझमें बीमारी का कोई लक्षण भी नहीं था, इसलिए भी मैंने खुद को क्वारंटीन नहीं किया। 11 मार्च को मैं अपने घर लखनऊ आई। घरेलू फ्लाइट में स्क्रीनिंग की कोई व्यवस्था नहीं थी। 14 और 15 मार्च को मैं दोस्तों और रिश्तेदारों की पार्टी और डिनर में शामिल हुई। इस दौरान मैंने खुद कोई पार्टी नहीं दी और मैं पूरी तरह से सामान्य थी।

17 और 18 मार्च को मुझे कोरोना के लक्षण महसूस हुए। 19 मार्च को मेरा टेस्ट हुआ और 20 को रिपोर्ट में मुझे पॉजिटिव बताया गया। इसके बाद मैं अस्पताल गई तथा तीन निगेटिव रिपोर्ट के बाद वहां से मुझे छुट्टी दी गई। तबसे मैं 21 दिन के क्वारंटीन के लिए घर पर ही हूं।

मैं विशेष रूप से डॉक्टर और नर्स को धन्यवाद देना चाहती हूं, जिन्होंने उस कड़े समय में मेरा ध्यान रखा। मुझे उम्मीद है कि इस मामले में सभी ईमानदारी और संवेदनशीलता बरतेंगे। वैसे कनिका कपूर को जब पीजीआई में भर्ती कराया गया था तो पीजीआई निदेशक की तरफ से बाकायदा प्रेस नोट आया था कि कनिका अपने स्टारडम से बाहर नहीं आ रही हैं और ना ही मेडिकल स्टाफ को सहयोग ।


टीम स्टेट टुडे

6 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0