google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

मंत्री से बोली महिला.... 30 हजार रिश्वत देने पर मिली पीएम आवास की किस्त


लखीमपुरखीरी, 2 सितंबर 2022 : दो दिवसीय भ्रमण पर खीरी पहुंचे प्रभारी मंत्री जितिन प्रसाद, राज्यमंत्री कौशल विकास कपिल देव अग्रवाल व संसदीय कार्य चिकित्सा शिक्षा राज्यमंत्री मयंकेश्वर शरण सिंह ने पलिया सुभाषनगर के मलिन बस्ती का निरीक्षण किया। प्रधानमंत्री आवासों की सत्यता जानने के लिए लाभार्थियों के दरवाजे पहुंचे।

मंत्री जितिन प्रसाद ने लाभार्थियों से बातचीत की। उनसे आवास मिलने में कोई समस्या की जानकारी हासिल की। मंत्री का इतना पूछना था कि लाभार्थी ब्रजलाल की बहू ने बेबाकी से आवास के भुगतान को लेकर बैंक पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया। महिला ने कहा कि आवास की दो किस्त आई थी।

इसको आवास बनाने में खर्च किया गया। तीसरी 50 हजार की किस्त आई तो ससुर ब्रजलाल की मौत हो गई। दो बेटों को पैसे मिलने थे। सभी कागज भी लगाए गए। जिसमें 20 हजार रुपये ही मिले। इस पर मंत्री जितिन प्रसाद ने डूडा अधिकारी को फटकार लगाई। उन्होंने पीड़ित महिला की शिकायत नोट कर संबंधित विभाग को जांच के निर्देशित किया।

इसके बाद मंत्री समूह काफिला सरस्वती शिशु विद्या मंदिर विद्यालय पहुंचा। स्कूल भ्रमण के बाद मंत्रियों का काफिला सीधे तहसील पहुंचा। इस दौरान जिलाध्यक्ष सुनिल सिंह, विधायक रोमी साहनी, योगेश वर्मा, डीएम महेंद्र बहादुर सिंह, एसपी संजीव सुमन, सीडीओ अनिल कुमार सिंह, एडीएम संजय सिंह, एसडीएम रेनू, अधिशासी अधिकारी महेंद्र चौधरी सहित अन्य अधिकारी व पुलिस बल मौजूद रहे।

‘प्रधानमंत्री के हृदय में वास करते हैं आदिवासी’

प्रभरी मंत्री जितिन प्रसाद, संसदीय कार्य, चिकित्सा शिक्षा राज्यमंत्री मयंकेश्वर शरण सिंह के साथ विधायक अरविंद गिरि थारु बाहुल्य क्षेत्र चंदनचौकी पहुंचे। मंत्री काफिला सबसे पहले चंदनचौकी के राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय बालिका इंटर कालेज चंदनचौकी का निरीक्षण किया। उसके बाद एकलव्य माडल आवासीय विद्यालय सौनहा जाकर शिक्षा की गुणवत्ता के लिए छात्रों से सवाल जवाब किए।

उसके बाद परियोजना कार्यालय पहुंच कर हरकरघा उद्योग की थारू महिलाओं का उत्पाद को देखा और पंडाल में बैठी महिलाओं से सीधा संवाद कर उनकी समस्याओं को सुना। मे ग्राम धुसकिया में आयोजित चौपाल में ग्रामीणों से समस्या पूछी। आगे बैठे लोगों समस्या बतानी चाही, लेकिन मंत्री जितिन प्रसाद ने कहा सबसे पीछे बैठे लोगों की सुनो बाद में आगे वाले बताएं।

बुजुर्ग अमर सिंह ने जर्जर सड़क की शिकायत की। गौरीफंटा से चंदनचौकी और बेलापरसुआ तक बीच मे बनकटी जंगल सौनहा और मसानखंभ के बीच अधूरी पड़ी है। बेलापरसुआ में जाने दिक्कत होती है। छिदिया प्रधान ने शिक्षा, नदी कटान के साथ बिजली की समस्या बताई। अंत में जितिन ने कहा ये इलाका भारत की सीमा पर है, लेकिन आदिवासी समाज के लोग प्रधानमंत्री मोदी के हृदय में वास करते हैं। जो कार्य अधूरे हैं, उनको पूरा कराने का प्रयास रहेगा। यहां के लोगों की अनदेखी नही होगी।

0 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0