google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

राज्यमंत्री ने अपने सामने कराई तौल तो कम मिला अनाज, मार्केटिंग इंस्पेक्टर को नोटिस


गोरखपुर, 28 अप्रैल 2022 : कोटेदारों को कम अनाज देने का खेल उत्‍तर प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री सतीश चंद्र शर्मा ने अपनी आंखों से देख लिया। सहजनवां के मंडी समिति स्थित खाद्य विभाग के गोदाम से कोटेदार को भेजे जा रहे अनाज को मंत्री ने अपने सामने उतरवाया तो डेढ़ बोरा अनाज कम मिला। तकरीबन 70 किलोग्राम अनाज कम मिलने पर राज्यमंत्री ने नाराजगी जताई। मंत्री ने अपने सामने तौल कराई तो भी अनाज कम मिला। इसके बाद सहजनवां के मार्केटिंग इंस्पेक्टर पवन कुमार सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

रास्‍ते से वाहन रुकवाकर की जांच

प्रदेश के खाद्य रसद व नागरिक आपूर्ति राज्यमंत्री सतीश चंद्र शर्मा लखनऊ से गोरखपुर मंडलीय समीक्षा बैठक करने आ रहे थे। भीटीरावत के पास एक वाहन पर अनाज जाता देख उन्होंने वाहन रुकवाया। चालक ने बताया कि वाहन पर रखा गया अनाज भीटीरावत के कोटेदार श्याम नारायण गुप्ता की दुकान पर जा रहा है। राज्यमंत्री ने वाहन गोदाम में ले चलने को कहा। सहजनवां में उन्होंने खाद्य विभाग के गोदाम और क्रय केंद्र का निरीक्षण किया। यहां जांच में डेढ़ बोरी अनाज कम मिला। गोदाम के निरीक्षण में कांटा न मिलने पर राज्यमंत्री ने नाराजगी जताई। इस पर अफसरों ने बताया कि इलेक्ट्रानिक कांटा को चार्ज कराया जा रहा है।

बोरे की तौल कराने पर कम मिला अनाज

छोटा कांटा मंगाकर बोरे की तौल कराई। उन्होंने गोदाम से खाद्यान्न उठान करने वाले 12 से ज्यादा कोटेदारों के अनाज की जांच के साथ प्रतिदिन कोटे की दुकान की जांच का निर्देश दिया। साथ ही कोटेदारों को कम्प्यूटराइज चालान पर्ची देने और पूरा विवरण रजिस्टर पर दर्ज करने के निर्देश दिए। उन्होंने क्रय केंद्र पर गेहूं खरीद देखी। छह किसानों को देर से भुगतान पर राज्यमंत्री ने अफसरों से सवाल किए तो अफसरों ने बताया कि तकनीकी कारणों से देर हुई है। जिला खाद्य विपणन अधिकारी राकेश मोहन पांडेय ने बताया कि तकरीबन 15-20 किलोग्राम तौल कम मिली है। मार्केटिंग इंस्पेक्टर को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

किसानों को समय से दें भुगतान

राज्यमंत्री सतीश चंद्र शर्मा ने सर्किट हाउस में पूरे मंडल के अफसरों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि किसानों को समय से अनाज का भुगतान हर हाल में मिलना चाहिए। क्रय केंद्रों पर बोरे की कमी नहीं होनी चाहिए। सरकारी योजनाओं का लाभ हर लाभार्थी को मिलना चाहिए। कोटेदारों को समय से पूरा अनाज मिले और वितरण पर अफसर लगातार नजर रखें। यदि कहीं से शिकायत मिलती है तो तत्काल जांच कर आरोपित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें। इस दौरान संभागीय खाद्य नियंत्रक व गोरखपुर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष प्रेमरंजन सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी रामेंद्र कुमार सिंह आदि मौजूद रहे।

9 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0