google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

ओडिशा में जिस स्टेशन पर 288 यात्रियों ने गंवाई जान, वहां नहीं रुकेगी कोई भी ट्रेन


भुवनेश्वर, 10 जून 2023 : बाहनगा रेल हादसे के जख्म अभी हरे हैं। बाहनगा स्टेशन पर 288 लोगों ने ट्रेन हादसे में जान गंवाई थी। अब, फैसला लिया गया है कि फिलहाल, यहां कोई भी ट्रेन नहीं रुकेगी।

दक्षिण-पूर्व रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) ने शनिवार को बताया कि अगले आदेश तक बाहानगा बाजार रेलवे स्टेशन पर कोई भी ट्रेन ठहराव नहीं करेगी। यह फैसला दो एक्सप्रेस ट्रेनों और एक मालगाड़ी के दुर्घटनाग्रस्त होने के मद्देनजर लिया गया है।

जानकारी के मुताबिक, ट्रेन हादसे के बाद से ही सीबीआइ की टीम ने बालेश्वर में डेरा डाला हुआ है। संभावना जताई जा रही है कि सीबीआइ टीम के हाथ कुछ अहम सुराग लग सकते हैं।

जांच एजेंसी बाहानगा बाजार रेल स्टेशन का लगातार दौरा कर रही है। ऐसे में सीबीआइ की जांच खत्म होने तक बाहानगा बाजार रेलवे स्टेशन पर किसी भी ट्रेन के ठहराव पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

दुर्घटनास्थल पर सीबीआइ कर रही जांच

सीबीआई की टीम रेल दुर्घाटना की जांच कर रही है। शुक्रवार को सीबीआइ के दो सदस्यीय टीम ने दुर्घटनास्थल को निरीक्षण किया है। इसके बाद विभिन्न जगहों से कुछ महत्वपूर्ण सुराग भी इकट्ठा किए गए थे। सीबीआइ की टीम शनिवार अपराह्न में डेढ़ बजे दुर्घटनास्थल पर पहुंची। इसके बाद यह टीम वहां से पैनल कक्ष में गई। यहां भी अधिकारियों ने काफी छानबीन की। जिसके बाद रिले रूम की भी जांच की गई। दो घंटे बाद यह टीम वापस लौटी।

स्टेशन में लगे कंप्यूटर के हार्ड डिस्क जब्त

सीबीआइ ने स्टेशन में मौजूद विभिन्न कम्प्यूटर के हार्ड डिस्क को भी जब्त किया है। इसके अलावा रिकॉर्ड किए गए कई महत्वपूर्ण दस्तावेज संग्रह किए।

रिले रूम, डाटा लॉकर सील

इसके बाद जांच एजेंसी ने बाहानगा स्टेशन के अन्दर मौजूद प्राइवेट नंबर एक्सचेंज बुक की जांच की। अंत में टीम ने रिले रूम, पैनल रूम और डाटा लॉकर को सील कर दिया।

0 views0 comments
bottom of page