google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

'अब सड़क पर न नमाज होती है, न हनुमान चालीसा


लखनऊ, 6 जुलाई 2023 : मुख्‍यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ ने कहा क‍ि जिस यूपी को लोग पहले एक प्रश्न के रूप में देखते थे। समस्या देने वाले प्रदेश के रूप में मानने लगे थे। बदली कानून-व्यवस्था से उस यूपी के बारे में लोगों की धारणा बदली है। मुख्यमंत्री ने कहा क‍ि इसमें यूपी पुलिस का बड़ा योगदान है। अब यूपी में संगठित अपराध समाप्त हो गया है, दंगे नहीं होते। आतंकी घटनाएं नहीं होती।

'यूपी में अब सड़क पर न नमाज होती है, न हनुमान चालीसा'

सीएम योगी ने कहा क‍ि धर्मस्थलों से लाउडस्पीकर स्वत: स्फूर्ति से हटाए गए। जो लोगों के लिए सपना है, वह यूपी के लिए हकीकत है। अब प्रदेश में यातायात बाधित कर सड़क पर उपासना नहीं होती। रामनवमी, ईद-बकरीद में सबने इसे देखा है। अब सड़क पर नमाज नहीं होती तो हनुमान चालीसा भी नहीं होती। सभी पर्व व त्योहार शांतिपूर्ण संपन्न हो रहे हैं।

व‍िपक्षी दलों पर क‍िया वार

सीएम ने विपक्षी दलों पर करार प्रहार भी किया। कहा कि पहले पर्व आने पर किसी भी धर्म के लोगों में भय रहता था। वर्ष 2017 से पहले पुलिसकर्मी ही सुरक्षित नहीं थे। लखनऊ के हजरतगंज क्षेत्र में डिप्टी एसपी को कार के बोनट पर टांग कर ले जाया गया था।

लिपिक संवर्ग के 1,148 नवचयनित अभ्यर्थियों को दिए गए नियुक्ति पत्र

सीएम याेगी ने गुरुवार को यूपी पुलिस में लिपिक संवर्ग में नवचयनित 1,148 अभ्यर्थियों के नियुक्ति पत्र वितरण समारोह में कहा कि अब यूपी पुलिस का हिस्सा बनना युवाओं के लिए गौरव की बात होती है। लोग मानते हैं कि यूपी पुलिस बहुत अच्छा काम कर रही है। कहा कि यूपी पुलिस को युग के अनुरूप आगे बढ़ने का प्रयास करना होगा। पहले इन्वेस्टर्स समिट में वर्ष 2018 में दो लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव आए थे। जबकि फरवरी, 2023 में हुए ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में 36 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव आए हैं।

यह परिवर्तन बताता है कि यूपी में निवेश के लिए उचित माहौल मिला है। सुरक्षा का महौल मिला है। इसे बनाए रखना हमारा दायित्व है। कहा कि महिला सुरक्षा व साइबर अपराध पर नियंत्रण के लिए और काम करना होगा। अब प्रदेश में कोई घटना होती है तो उसका अनावरण भी कुछ घंटों में हो रहा है। निर्णय लेने की क्षमता को भी और बढ़ाना होगा। इससे पूर्व योगी ने लिपिक संवर्ग के 35 सफल अभ्यर्थियों को अपने हाथों से नियुक्ति पत्र वितरित किए। कहा कि लिपिक संवर्ग में चयनित महिला अभ्यर्थियों की बड़ी भूमिका हो सकती है। उन्हें आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। शेष चयनित अभ्यर्थियों को रेंज व जिलों में आयोजित कार्यक्रमों में नियुक्ति पत्र वितरित किए गए।

लिपिक संवर्ग में 217 उपनिरीक्षक (गोपनीय), 587 सहायक उपनिरीक्षक (लिपिक) व 344 सहायक उपनिरीक्षक (लेखा) चयनित हुए हैं। लोकभवन में आयोजित समारोह को वित्त व संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना, उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, प्रमुख सचिव, गृह संजय प्रसाद, डीजीपी विजय कुमार व डीजी पुलिस भर्ती व प्रोन्नति बोर्ड रेणुका मिश्रा ने भी संबोधित किया।


0 views0 comments
bottom of page