google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

ओम प्रकाश राजभर का संकेत, सपा से गठबंधन टूटने के बाद अगला ठिकाना होगी बसपा


लखनऊ, 17 जुलाई 2022 : कम समय में ही उत्तर प्रदेश की राजनीति का चर्चित चेहरा बन चुके ओम प्रकाश राजभर जितने रंग बदल रहे हैं, उतने तो गिरगिट भी नहीं बदलता है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से नाराज चल रहे राजभर को समाजवादी पार्टी की तरफ से तलाक का इंतजार है। योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे ओम प्रकाश राजभर ने संकेत दे दिया है कि अगर समाजवादी पार्टी से उनकी पार्टी का गठबंधन टूटता है तो वह बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन कर सकते हैं।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने बयान दिया है कि समाजवादी पार्टी के साथ हमारा गठबंधन टूटने के बाद से हम बहुजन समाज पार्टी के साथ जा सकते हैं। बहुजन समाज पार्टी से अपना राजनीतिक सफर शुरू करने वाले राजभर ने तो साफ कहा है कि हम समाजवादी पार्टी के साथ अपनी तरफ से गठबंधन नहीं तोड़ेंगे। वह हमको तलाक दे दें तो हमको मंजूर है। माना जा रहा है कि भाजपा के साथ जाने को लेकर चल रही सुर्खियों को विराम देने के लिए ओम प्रकाश राजभर ने नया पैंतरा चला है। राष्ट्रपति पद के चुनाव में एनडीए की प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में वोट करने के फैसले पर राजभर ने कहा कि हम भारतीय जनता पार्टी या फिर एनडीए का नहीं, बल्कि द्रोपदी मुर्मू का समर्थन कर रहे हैं।

द्रौपदी मुर्मू एक तो महिला हैं और ऊपर से अनुसूचित जनजाति वर्ग से आती है। हम इसी कारण उनको अपना समर्थन दे रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी ने हमसे द्रौपदी मुर्मू के लिए समर्थन मांगा है, इसलिए फिलहाल तो हम उनके साथ हैं। उन्होंने कहा कि जहां तक मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर डिनर के लिए जाने का सवाल है तो मुझे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फोन करके बुलाया था, इसलिए मैं वहां पर गया। ओम प्रकाश राजभर तो बीते दिनों विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की मीटिंग में अखिलेश यादव की तरफ से निमंत्रण ना मिलने पर नाराज चल रहे हैं। वह इन दिनों लगातार अखिलेश यादव पर तीखे प्रहार कर रहे हैं।

2 views0 comments
bottom of page