google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

6 साल में दोगुने से अधिक हुई यूपी में प्रति व्यक्ति आय-सीएम


लखनऊ, 22 फरवरी 2023 : यूपी की योगी आदित्‍यनाथ सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल का आज दूसरा बजट पेश किया। सीएम योगी ने कहा आज 6.90 लाख करोड़ से अधिक का बजट प्रस्तुत हुआ है। वित्तीय वर्ष 2016-17 में जो बजट प्रस्तुत हुआ था वह ₹3.40 लाख करोड़ का था। पिछले 6 वर्ष में दोगुने से अधिक की वृद्धि प्रदेश के बजट में हुई है।

6 वर्षों में प्रदेश के प्रति व्यक्ति की आय दोगुने से अधिक हुई

पिछले बजट में किसानों को बिजली बिल में 50 प्रतिशत छूट दी थी, आने वाले दिनों में 100 प्रतिशत की छूट देंगे। विगत 6 वर्षों में प्रदेश के प्रति व्यक्ति की आय दोगुने से अधिक हुई है। प्रदेश की GDP में दोगुने से अधिक बढ़ोतरी हुई है।

प्रदेश में इस वर्ष पांच नए राज्य विश्वविद्याल खुलेंगे, कुशीनगर में कृषि विश्वविद्यालय बनेगा- सीएम योगी

आगरा, वाराणसी में साइंस सिटी और नक्षत्र शाला के लिए बजट में प्रावधान किया गया है। राज्य सड़क निधि से सड़कों के अनुरक्षण हेतु 3,000 करोड़ की व्यवस्था की गई है। प्रदेश में 20 लाख युवाओं को टैबलेट/लैपटॉप वितरण किया गया। प्रदेश में इस वर्ष पांच नए राज्य विश्वविद्याल खुलेंगे, कुशीनगर में कृषि विश्वविद्यालय बनेगा।

पीएम मोदी के मार्गदर्शन से सबका साथ सबका विकास- सीएम

सीएम योगी ने बजट के बाद प्रेस वार्ता में कहा कि देश की सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य यूपी में पिछले 6 वर्षों के दौरान 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास' की भावना का प्रतिनिधित्व करते हुए प्रदेश के समग्र विकास में जो प्रयास प्रारंभ हुए हैं, इसके पीछे प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की प्रेरणा व मार्गदर्शन है।

वित्‍त मंत्री सुरेश खन्‍ना बोले- यह 'नए उत्तर प्रदेश' का विकासोन्मुखी बजट

वित्‍त मंत्री सुरेश खन्‍ना ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से आज विधान सभा में वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए ₹6,90,242.43 करोड़ का बजट पेश किया गया है। जनआकांक्षाओं के अनुरूप इस बजट में ₹32,721.96 करोड़ की नई योजनाएं सम्मिलित हैं। यह 'नए उत्तर प्रदेश' का विकासोन्मुखी बजट है!

6 लाख 90 हजार 242 करोड 43 लाख रुपये का बजट

प्रस्तुत बजट का आकार 06 लाख 90 हजार 242 करोड 43 लाख रुपये है। वहीं बजट में 32 हजार 721 करोड़ 96 लाख रुपये (32,721.96 करोड़ रूपये) की नई योजनाएं सम्मिलित की गई हैं।

कुल प्राप्तियों में 5 लाख 70 हजार 865 करोड़ 66 लाख रुपये (5,70,865.66 करोड़ रुपये) की राजस्व प्राप्तियां तथा 01 लाख 12 हजार 427 करोड़ 08 लाख रुपये (1,12,427, 108 करोड़ रुपये) की पूंजीगत प्राप्तियां सम्मिलित हैं।

राजस्व प्राप्तियों में कर राजस्व का अंश 04 लाख 45 हजार 871 करोड़ 59 लाख रुपये (4,45,871.59 करोड़ रुपये) है।

इसमें स्वयं का कर राजस्व 02 लाख 62 हजार 634 करोड़ रुपये (2,62,634 करोड़ रुपये) तथा केन्द्रीय करों में राज्य का अंश 01 लाख 83 हजार 237 करोड़ 59 लाख रुपये (1,83,237.59 करोड़ रुपये) सम्मिलित है।

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा

वर्ष 2017-18 पहला बजट: किसानों को समर्पित था।

वर्ष 2018-19 दूसरा बजट: इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं औद्योगिक विकास को समर्पित था।

वर्ष 2019-20 तीसरा बजट: महिला सशक्तिकरण को समर्पित था

वर्ष 2020-21 चौथा बजट: युवाशक्ति, रोजगार व इंफ्रास्ट्रक्चर विकास को समर्पित था।

वर्ष 2021-22 पांचवां बजट: स्वावलंबन से सशक्तीकरण हेतु समर्पित था

वर्ष 2022-23 छठा बजट: अंत्योदय से आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश की संकल्पना को समर्पित था

वर्ष 2023-24 सातवां बजट: आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश की नींव को प्रस्तुत करने वाला बजट है।

6 views0 comments

Comments


bottom of page