google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

आत्मनिर्भर भारत में आपका हिस्से का काम बता दिया है प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले से



देश 74वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। कोरोना संकट के चलते हर बार की तरह आम लोगों की शिरकत तो कम दिख रही है लेकिन राष्ट्रभक्ति में कहीं कोई कमी नहीं है। लगातार सातवीं बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फहराया और देश को संबोधित किया। करीब नब्बे मिनट के संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने एक बार फिर आत्मनिर्भर भारत अभियान पर जोर दिया। इसके साथ ही पीएम मोदी ने देश की इकोनॉमी से जुड़े कई अहम ऐलान भी किए। कोरोनाकाल में मनाए गए 74वें स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री ने जो बड़ी बातें कहीं वो इस तरह हैं-

आत्मनिर्भर भारत का मतलब सिर्फ आयात कम करना ही नहीं, हमारी क्षमता, रचनात्मकता और स्किल्स को बढ़ाना भी है। पीएम ने मौजूदा दौर में भारत में निर्मित हो रहे मॉस्क और वेटिंलेटर्स का जिक्र किया।

अब बुनियादी ढांचा क्षेत्र में अलग-थलग होकर काम करने के युग को समाप्त करने का समय आ गया है। इसके लिये पूरे देश को मल्टी मॉडल संपर्क ढांचागत सुविधा से जोड़ने की एक बहुत बड़ी योजना तैयार की गई है।

पीएम ने कहा कि ये जरूरत राष्ट्रीय बुनियादी ढांचा पाइपलाइन परियोजना (एनआईपी) से पूरी होगी। इस पर देश 100 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। अलग-अलग क्षेत्रों के लगभग सात हजार परियोजनाओं को चिह्नित भी किया जा चुका है।

पीएम मोदी ने भारत को आर्थिक नीतियों में सुधार और बुनियादी ढांचे के विकास के साथ ग्लोबल सप्लाई चेन में मैन्युफैक्चरिंग के एक प्रमुख केंद्र के रूप में प्रस्तुत करने का संकल्प किया।

कृषि का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि देश के किसानों को आधुनिक ढांचागत सुविधा देने के लिए कुछ दिन पहले ही एक लाख करोड़ रुपये का कृषि बुनियादी ढांचा कोष बनाया गया है। पीएम मोदी ने कहा कि किसानों के लिए उनके उत्पाद बेचने के मामले में सीमित दायरे को समाप्त किया गया है। अब किसान दुनिया के किसी भी हिस्से में अपना सामान बेच सकता है।

पीएम मोदी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के समय देश के चार महानगरों को जोड़ने वाली स्वर्णिम चतुर्भुज सड़क परियोजना पर काम हुआ. हमें उससे आगे जाना है। सड़क, बंदरगाह, रेल, हवाई यातायात सभी को आपस में जोड़ना है। मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी की तरफ बढ़ना है। पूरे ढांचागत क्षेत्र को नया आयाम देना है. समुद्री तट के हिस्से में सड़क निर्माण करना है।

पीएम ने कहा कि आने वाले एक हजार दिन में देश के हर गांव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा जाएगा। साल 2014 से पहले देश की सिर्फ 5 दर्जन पंचायतें ऑप्टिकल फाइबर से जुड़ी थीं। बीते पांच साल में देश में डेढ़ लाख ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा गया है।

पीएम मोदी ने कहा कि आज दुनिया की बहुत बड़ी-बड़ी कंपनियां भारत का रुख कर रही हैं। मेक इन इंडिया’ के साथ-साथ ‘मेक फॉर वर्ल्ड’ के मंत्र को लेकर आगे बढ़ना है।

पीएम मोदी ने कहा कि सरकार के सुधारों के परिणाम दिख रहे हैं और बीते वर्ष, भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में रिकॉर्ड 18 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।

लाल किले की प्राचीर से पीएम मोदी ने नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन, भारत के हेल्थ सेक्टर में नई क्रांति लेकर आएगा. पीएम मोदी ने कहा कि आपके हर टेस्ट, हर बीमारी, आपको किस डॉक्टर ने कौन सी दवा दी, कब दी, आपकी रिपोर्ट्स क्या थीं, ये सारी जानकारी इसी एक हेल्थ आईडी में समाहित होगी।


प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में बीते कुछ समय के दौरान गरीब, महिला और मध्यम वर्ग से जुड़े फैसलों का भी जिक्र किया।


प्रधानमंत्री मोदी ने बिना नाम लिए चीन पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि विस्तारवाद की सोच ने विस्तार के बहुत प्रयास किए। पीएम मोदी ने कहा कि विस्तारवाद की सोच ने सिर्फ कुछ देशों को गुलाम बनाकर ही नहीं छोड़ा, बात वही पर खत्म नहीं हुई। भीषण युद्धों और भयानकता के बीच भी भारत ने आजादी की जंग में कमी और नमी नहीं आने दी।


लाल किले की प्राचीर से पीएम उद्बोधन की हाइलाइट्स
आजादी का पर्व नए संकल्पों के लिए उर्जा का अवसर
विस्तारवाद की सोच ने विस्तार के बहुत प्रयास किए
विस्तारवाद की सोच ने सिर्फ कुछ देशों को गुलाम बनाकर ही नहीं छोड़ा, बात वहीं पर खत्म नहीं हुई
भीषण युद्धों और भयानकता के बीच भी भारत ने आजादी की जंग में कमी और नमी नहीं आने दी
भारत जैसे देश के लिए आत्मनिर्भर बनना अनिवार्य
कब तक कच्चा माल दुनिया में भेजते रहेंगे
चुनौतियां हैं तो देश के पास समाधान की शक्ति भी है
FDI ने देश में अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए
हमें मेक इन इंडिया के साथ-साथ मेक फॉर वर्ल्ड मंत्र के साथ आगे बढ़ना है
आधुनिक भारत के निर्माण में शिक्षा का अहम रोल
जड़ों से जुड़े ग्लोबल सिटीजन पैदा करेगी नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति
कुछ महीने पहले तक N-95 मास्क, PPE किट, वेंटिलेटर ये सब हम विदेशों से मंगाते थे। आज इन सभी में भारत, न सिर्फ अपनी जरूरतें खुद पूरी कर रहा है।
पीएम मोदी ने नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन का ऐलान किया
भारत में कोरोना की तीन वैक्सीन पर काम चल रहा। वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलने का इंतजार है
भारत की संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरा देश एक. चुनौती देने वालों को उसी की भाषा में जवाब दिया। लद्दाख में दुनिया ने देखा कि हम क्या कर सकते हैं

टीम स्टेट टुडे



{{count, number}} view{{count, number}} comment
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0