google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

शफीकुर्रहमान ने फिर उगली आग, बोले-BJP और RSS के इशारे पर ही मुसलमानों पर जुल्म


संभल, 21 अप्रैल 2022 : सम्भल से समाजवादी पार्टी के सांसद डा. शफीकुर्रहमान बर्क गुरुवार को आरएसएस और भाजपा पर हमलावर हुए। उन्होंने कहा कि भाजपा और आरएसएस के इशारे पर ही मुसलमानों पर जुल्म किए जा रहे हैं। बिना नोटिस दिए ही बुलडोजर चलाया जा रहा है। सम्भल में बिजली चेकिंग के नाम पर मुसलमानों का उत्पीड़न हो रहा है। शहर के एक धर्म स्थल पर अगर किसी ने कुछ नया करने का प्रयास किया तो हजारों मुसलमान अपना खून बहा देंगे।

अपने आवास पर गुरुवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में सांसद ने शुक्रवार को सपा के पांच सदस्यों के साथ दिल्ली के जहांगीरपुरी जाने का ऐलान भी किया। उन्होंने कहा कि दिल्ली के जहांगीरपुरी में बुलडोजर से लोगों को निशाना बनाकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश को दरकिनार कर असंवैधानिक रूप से बिना नोटिस दिए मस्जिद के गेट को तोड़ दिया गया और गरीबों की दुकानों व कारोबार को तहस नहस कर दिया। मैं इसकी कड़े शब्दों में निंदा करता हूं। रमजान माह में बुलडोजर का प्रयोग करके अल्पसंख्यक वर्ग में दहशत पैदा करने के लिए उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश व दिल्ली में साम्प्रदायिक ताकतों को बढ़ावा देने का काम किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कुछ साम्प्रदायिक ताकतें देश में धार्मिक शोभायात्रा निकालकर माहौल बिगाड़ने का प्रयास करके आपसी भाईचारा समाप्त करना चाहती है। जहांगीरपुरी में हनुमान जन्मोत्सव पर तीसरी शोभायात्रा बिना अनुमति के निकालकर भाजपा सरकार व आरएसएस के इशारों पर हाथों में तमंचा लेकर मुसलमानों के साथ जुल्म व ज्यादती की। इसके बाद भी पुलिस मुसलमानों के खिलाफ ही कार्रवाई कर रही है। उन्होंने कहा कि सपा के पांच सदस्यों के प्रतिनिधिमंडल के साथ में भी शुक्रवार को दिल्ली के जहांगीरपुरी में जाकर पीड़ित परिवारों से बात करूंगा।

इस मुद्दे को प्रमुखता के साथ संसद में भी उठाऊंगा। उन्होंने कहा कि मुसलमानों के खिलाफ भाजपा का जुल्म निरंतर बढ़ रहा है उन्हें झूठे हुए फर्जी मुकदमे में फंसाया जा रहा है और संपत्ति जब्त की जा रही है। मेरठ के दो भाइयों को असम में ले जाकर पुलिस ने उनका फर्जी एनकाउंटर कर दिया। लगातार फर्जी एनकाउंटर कर रही है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उत्तर प्रदेश में बिजली चेकिंग के नाम पर एक विशेष वर्ग का उत्पीड़न किया जा रहा है।

विशेष वर्ग को डराने के लिए बिजली विभाग के अधिकारी पुलिस और पीएसी के जवानों के साथ आते हैं। अगर उन्हें चेकिंग ही करनी है तो वह पुलिस और पीएसी के जवानों को साथ लेकर क्यों आ रहे हैं। इस कार्रवाई के माध्यम से यह दर्शाया जा रहा है कि मुसलमान बिजली चेकिंग का विरोध करता है।

बिजली चेकिंग मुसलमानों के घरों पर ही की जा रही है। हिंदू समाज के लोगों के घरों पर बिजली चेकिंग नहीं की जाती। उन्होंने कहा कि शहर के एक धार्मिक स्थल के साथ कुछ लोग छेड़छाड़ करने का प्रयास कर रहे हैं। प्रशासन कान खोल कर सुन ले अगर किसी ने ऐसा करा तो हजारों मुसलमान अपना खून बहा देंगे। उन्होंने अलविदा जुमा पर बिजली और सफाई व्यवस्था बेहतर रखने की बात कही।
3 views0 comments

Comments


bottom of page