google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

यूपी में जल संरक्षण का बड़ा अभियान प्रारंभ, सीएम योगी बोले- परंपरागत पद्धति से बचाएंगे जल


लखनऊ, 17 जुलाई 2022 : पर्यावरण संरक्षण के प्रति बेहद संवेदनशील मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जल सरंक्षण को लेकर उत्तर प्रदेश में बड़ा अभियान प्रारंभ किया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक हफ्ते के भूजल सप्ताह के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए रविवार को अपने सरकारी आवास से डिजिटल भूजल रथों को रवाना किया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने भूजल सप्ताह के अवसर पर अटल भूजल योजना के तहत डिजिटल भूजल रथ के फ्लैग ऑफ कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश में भूजल सप्ताह के आयोजन के पीछे अपनी पुरातन सभ्यता को जीवित करने का अभियान प्रारंभ करना है। उन्होंने कहा कि हमारे देश के हर प्रांत में जल संरक्षण की परंपरागत पद्धतियां थी। हमारा प्रयास है कि उन्हें पुर्नजीवित करते हुए, इसके लिए अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करें। उन्होंने कहा कि देश में कैच द रेन को पीएम नरेन्द्र मोदी ने प्रारंभ किया था। इसके साथ ही वर्षा के जल संरक्षण के लिए हम पीएम मोदी के निर्देश पर अमृत सरोवर योजना प्रारंभ कर चुके हैं। इसके भी दीर्घकालिक लाभ मिलेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश के अंदर हमने डिजिटल भूजल रथ को दस जनपद के 26 विकासखंडों के 550 ग्राम पंचायतों तक पहुंचाने का एक कार्यक्रम आज से आगे बढ़ाया है। डिजिटल रथ के माध्यम से इस अभियान को गति प्रदान की जा रही है। भूजल सप्ताह के अवसर पर अटल भूजल योजना के तहत डिजिटल भूजल रथ के फ्लैग ऑफ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में 16 से 22 जुलाई तक भूजल सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। इसके माध्यम से हम जल संरक्षण की पद्धति को पुनर्जीवित करते हुए लोगों को जाग्रत करें। यह जागरूकता वैन दस जिलों में जाएगी। इनमें झांसी, महोबा, हमीरपुर, बांदा, चित्रकूट, ललितपुर, मेरठ, शामली, मुजफ्फरनगर व बागपत को शामिल किया गया है। इन दस जिलों में जल संरक्षण तथा जल जागरूकता को आगे बढ़ाने का काम हो रहा है।

3 views0 comments

Comments


bottom of page