google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

छत्तीसगढ़ में बीजेपी की कमान अब विष्णु देव साय के हाथ, कर्मठ और जुझारु नेता हैं साय



पूर्व केंद्रीय मंत्री विष्णु देव साय को छत्तीसगढ़ की जिम्मेदारी दी गई है। केंद्रीय नेतृत्व ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की घोषणा कर दी है। प्रदेश अध्यक्ष बदले जाने की चर्चा विधानसभा चुनाव के बाद से ही चल रही थी। साय मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में मंत्री भी रहे हैं। 2019 में वह चुनावी मैदान में नहीं उतरे थे।

विष्णु देव साय के नाम पर मुहर लगने के बाद पार्टी महासचिव अरुण सिंह ने उनके नाम की घोषणा की है। साय संघ के भी करीबी हैं। इससे पहले भी वह छत्तीसगढ़ बीजेपी के 2 बार प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं। उनकी निष्ठा को देखते हुए पार्टी ने तीसरी बार विधानसभा चुनाव तक के लिए जिम्मेदारी सौंपी है। छत्तीसगढ़ में साय की छवि एक बेदाग नेता के रूप में है।


Advt.

आलाकमान के गुड बुक में हैं साय


विष्णु देव साय 2 बार विधायक और 20 साल तक सांसद रहे हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में जब कुछ सांसदों के टिकट काटने की बात आई तो साय ने सबसे पहले अपना नाम आगे कर दिया। रायगढ़ लोकसभा उन्होंने चुनाव नहीं लड़ा। इसका केंद्रीय नेतृत्व पर असर अच्छा पड़ा। साय पूर्व सीएम रमन सिंह के भी करीबी हैं। इससे पहले विष्णु देव साय 2006 से 2013 तक छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में श्रम रोजगार, खान एवं इस्पात राज्य मंत्री थे।


Advt.

रमन सिंह ने दी बधाई


विष्णु देव साय की नियुक्ति पर पूर्व सीएम रमन सिंह ने बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री विष्णु देव साय जी को छत्तीसगढ़ बीजेपी के अध्यक्ष पद का दायित्व प्राप्त होने पर हार्दिक शुभकामनाएं। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आपके मार्गदर्शन में समस्त कार्यकर्तागण बीजेपी की विचारधारा को जन-जन तक पहुंचाने में सफल होंगे।

उसेंडी थे अध्यक्ष


विधानसभा चुनावों में हार के बाद पूर्व मंत्री विक्रम उसेंड़ी के हाथ में छत्तीसगढ़ बीजेपी की कमान थी। उसेंड़ी के नेतृत्व में पार्टी ने लोकसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन किया थआ। लेकिन शहरी निकाय और पंचायत चुनावों में बीजेपी कोई करिश्मा नहीं कर पाई। साथ ही उसेंड़ी पार्टी की कार्यकारिणी भी गठित नहीं कर पाए थे।


टीम स्टेट टुडे


Advt.

Advt.

7 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0