google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

अखिलेश का योगी सरकार पर हमला, बोले- कस्टोडियल डेथ में यूपी नंबर वन


लखनऊ, 30 अगस्त 2022 : एनसीआरबी ने साल 2021 के लिए राज्यवार क्राइम के आंकड़े जारी किए हैं। एनसीआरबी के आंकड़ों को लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर हमला बोला है। अख‍िलेश ने कहा कि कस्टोडियल डेथ में उत्‍तर प्रदेश नंबर वन है।

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने श्रीकांत त्‍यागी के मामले में योगी आदित्‍यनाथ सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि प्रदेश सरकार के मंत्री यूपी पुलिस को बदनाम कर रहे हैं। मंत्री कह रहे हैं कि हम पुलिस पर शर्मिंदा है। अख‍िलेश ने कहा देखिए कितनी बहादुर पुलिस है। उसकी पत्‍नी और उसके बच्‍चों के खिलाफ अन्‍याय। ये केवल अभी दिखाई दे रहा है जो त्‍यागी समाज धरना कर रहा है।

अखिलेश ने कहा कि पूरे उत्‍तर प्रदेश में पांच-छह साल से यही हो रहा है। किसी पर झूठा मुकदमा लगा दो अगर वो भाग गया तो उसके परिवार के साथ जो चाहो वो करो। अखिलेश ने कहा कि नोएडा कमिश्‍नर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का खास है। जो नोएडा में पूरी लूट करा रहा है। इतना ही नहीं अखिलेश ने चुटकी लेते हुए कहा कि श्रीकांत त्‍यागी को पकड़ने के दौरान क्‍या कह रहे थे...क्‍या भाषा थी..मास्‍क हटा दो। जैसे घर में कोई नई बहू आई हो और मुंह दिखाई हुआ हो।

उन्‍होंने कहा कि पुलिस को ऐसा व्‍यवहार सबके साथ रखना चाहिए। आप एक जैसा व्‍यवहार क्‍यों नहीं रखते हैं सबके साथ। हर अपराधी के साथ हो तुम्‍हारा। अखिलेश ने कहा कि ये सब आन रिकार्ड है। सभी चीजें डाक्‍यूमेंटेड है। फिर अखिलेश बोले अब ज्‍यादा न बुलवाओ आप लोग सब जानते हो। पत्रकारों से बोले हमे हमारे मुद्दे से मत भटकाओ। आप भी उसी में शामिल हो।

क्‍या कहते हैं 2021 के एनसीआरबी के क्राइम के आंकड़े

बता दें कि एनसीआरबी ने साल 2021 के जो आंकड़े जारी किए हैं उनमें 2019 की तुलना में महिला तथा बच्चों के खिलाफ अपराध में 2021 में एक-दो या तीन नहीं, बल्कि छह से 11 फीसदी की कमी आई है। एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक, 2019 में बच्चों के खिलाफ 18943 मामले दर्ज किए गए थे, जबकि 2021 में यह संख्या घटकर 16838 हो गई।

2019 में महिलाओं के खिलाफ 59853 मामले दर्ज थे जो कि 2021 में घटकर 56083 हो गए। एनसीआरबी के डेटा की मानें तो साइबर क्राइम के मामले में भी 22.6 फीसदी की कमी दर्ज की गई है। 2019 में साइबर क्राइम के 11416 मामले दर्ज थे जो 2021 में घटकर 8829 हो गए। 2021 में देश में सांप्रदायिक हिंसा के 378 मामले दर्ज हुए। जिनमें से उत्तर प्रदेश में सिर्फ एक ही मामला दर्ज हुआ।
2 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0