google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

अखिलेश ने दिनेश खटीक के इस्तीरफा देने पर योगी सरकार पर कसा तंज


लखनऊ, 20 जुलाई 2022 : योगी सरकार में जलशक्ति राज्यमंत्री दिनेश खटीक के इस्‍तीफा देने के बाद उत्‍तर प्रदेश के राजनीतिक गलि‍यारों में हलचल मच गई है। वहीं समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने दिनेश खटीक के इस्‍तीफा देने पर योगी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि कभी-कभी बुलडोजर उल्टा भी चलता है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव भाजपा सरकार पर अक्‍सर हमलावर रहते हैं। आज जब जलशक्ति राज्यमंत्री दिनेश खटीक के इस्‍तीफा देने का पत्र इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ तो योगी सरकार की चुटकी लेते हुए उन्‍होंने ट्वीट किया। अखि‍लेश यादव ने कहा कि, 'जहां मंत्री होने का सम्मान तो नहीं परंतु दलित होने का अपमान मिले… ऐसी भेदभावपूर्ण भाजपा सरकार से त्यागपत्र देना ही अपने समाज का मान रखने के लिए यथोचित उपाय है। कभी-कभी बुलडोजर उल्टा भी चलता है।'

बता दें कि जलशक्ति राज्यमंत्री दिनेश खटीक ने गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर मंत्री पद से इस्तीफा दिया है। उन्‍होंने कहा कि मैं ‍दलित और पिछड़ा वर्ग को आगे बढ़ाने के लिए सरकार से जुड़ा था। पर इस सरकार में उन्‍हीं की उपेक्षा हो रही है। दलितों और पिछड़ों का अपमान हो रहा है। दलित समाज का राज्‍य मंत्री होने के कारण मेरे किसी भी आदेश पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। इसलिए मैं अपने पद से इस्‍तीफा दे रहा हूं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में तबादलों में जमकर हुई गड़बड़ियों को लेकर कुछ विभागों में खलबली मची है और इस बीच जलशक्ति विभाग में अंदरखाने मची खींचतान की बात भी सामने आ रही थी। योगी सरकार के जलशक्ति राज्यमंत्री दिनेश खटीक द्वारा इस्तीफा दिए जाने की चर्चा थी। बताया गया है कि वह विभागीय अफसरों द्वारा उपेक्षा किए जाने से नाराज थे। वरिष्ठ मंत्री के साथ अधिकारों के टकराव की बात भी कही जा रही है।मेरठ की हस्तिनापुर सीट से लगातार दूसरी बार विधायक चुने गए दिनेश खटीक को योगी सरकार 1.0 की तरह ही इस सरकार में भी राज्यमंत्री बनाया गया था। उन्हें कैबिनेट मंत्री स्वतंत्र देव सिंह के साथ जलशक्ति विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। मंगलवार शाम को इंटरनेट मीडिया और चैनलों पर दिनेश खटीक द्वारा त्याग-पत्र सौंपे जाने की खबर सुर्खियों में थी।

सूत्रों के अनुसार, वह अधिकारियों द्वारा बात न सुने जाने से नाराज चल रहे थे। साथियों पर भी गंभीर आरोप लगाए थे। इस संबंध में मंत्री को फोन किया गया, लेकिन मोबाइल स्विच आफ था। हालांकि, दोपहर में जब सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी मंत्रियों के साथ बैठक की तो उसमें भी खटीक नहीं दिखे थे। पता चला था कि सोमवार को राजधानी के किसान भवन में ग्रामीण जलापूर्ति विभाग के अधिकारियों के साथ जलशक्ति मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने बैठक की थी। उसमें राज्यमंत्री खटीक पहुंचे तो थे, लेकिन बैठक बीच में ही छोड़कर चले गए थे।
1 view0 comments

コメント


bottom of page