google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

घूसखोरी के आरोप में सहायक लेखाकार को भेजा जेल


लखनऊ, 29 अप्रैल 2023 : पेंशन के लिए 10 हजार रुपये घूस लेने वाले सहायक लेखाकर आशीष कुमार रावत को शुक्रवार को जेल भेज दिया गया। सतर्कता अधिष्ठान की अभिसूचना इकाई ने गुरुवार दोपहर आशीष को पारिवारिक पेंशन की फाइल के निस्तारण के लिए घूस लेते हुए रंगेहाथ पकड़ा था। अब टीम पीड़ित के बयान के आधार पर मामले में सुनवाई न करने वाले और दो साल से टरकाने वाले अन्य कर्मचारियों के खिलाफ भी कार्रवाई करेगी।

अब गिरफ्तार करने वाली टीम आशीष के खिलाफ लगे अन्य आरोपों की जांच कर रही है। पुलिस अधीक्षक सतर्कता डा. अरविंद चतुर्वेदी ने बताया कि पशुधन विभाग से सेवानिवृत्त कर्मचारी को वर्ष 2019 से ट्रेजरी से पेंशन मिल रही थी। 2021 में कर्मचारी की मौत हो गई। इसके बाद पारिवारिक पेंशन उसकी पत्नी को मिलनी थी।

पारिवारिक पेंशन के लिए 10 हजार रुपये घूस लेने का मामला

इसके लिए सहायक लेखाकार आशीष कुमार रावत ने 10 हजार रुपये पेंशन मांगी थी। जब महिला के बेटे की शिकायत पर सतर्कता अधिष्ठान की टीम लगा दी गई। महिला के बेटे ने जैसे ही आशीष को घूस के रुपये दिए तभी टीम ने रंगेहाथ उसे गिरफ्तार कर लिया था। कार्रवाई के बाद दोपहर ट्रेजरी विभाग में सन्नाटा रहा। जो भी लोग पेंशन के लिए उनका तत्काल काम किया गया।

ट्रेजरी सीट पर बैठे अन्य कर्मचारियों पर भी होगी कार्रवाई

पेंशन के लिए महिला का बेटा जवाहर भवन में ट्रेजरी विभाग के करीब दो साल से चक्कर काट रहा था। घूस के लिए उसे एक सीट से दूसरी सीट पर दौड़ाया जा रहा था। कोई 10 माह की एक लाख रुपये पेंशन बनाने के लिए 50 हजार, कोई 30 हजार रुपये मांग रहा था। इस बीच उसकी मुलाकात आशीष से हुई। आशीष ने भी रुपये मांगे थे। उसके बाद 10 हजार रुपये पर बात तय हुई थी। एसपी अरविंद चतुर्वेदी ने बताया कि महिला के बेटे के बयान दर्ज किए जाएंगे। बयानों के आधार पर अन्य दोषी कर्मचारियों पर भी कार्रवाई की जाएगी

0 views0 comments

Comments


bottom of page