google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

आजम से मुलाकात करने पहुंचे कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम ने भेंट की भगवद गीता


सीतापुर, 25 अप्रैल 2022 : प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के बेहद खास माने जाने वाले कांग्रेस के नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने सोमवार को सीतापुर जेल में बंद समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता विधायक आजम खां से भेंट की। आचार्य प्रमोद कृष्णम ने आजम खां से करीब डेढ़ घंटा तक मुलाकात की और उनको भगवत गीता भेंट की। अखिलेश यादव के दूत समाजवादी पार्टी के विधायक रविदास मेहरोत्रा से रविवार को भेंट करने से इन्कार करने वाले आजम खां के रिश्ते अब समाजवादी पार्टी से ठीक नहीं लग रहे हैं। आजम खां पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की अनदेखी करने से नाराज हैं। इसके साथ ही उनके समर्थक नेता तथा कार्यकर्ताओं ने भी अखिलेश यादव के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है।

इटावा के जसवंतनगर से समाजवादी पार्टी के विधायक शिवपाल सिंह यादव के बेहद खास माने जाने वाले कांग्रेस के नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने सोमवार को दिन में सीतापुर जेल में बंद सपा के वरिष्ठ नेता आजम खां से भेंट की। इनके बीच करीब डेढ़ घंटा तक वार्ता हुई। भेंट के बाद बाहर निकले प्रमोद कृष्णम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में संत की सरकार में आजम खां पर जुल्म ठीक नहीं है। उत्तर प्रदेश के सबसे वरिष्ठ विधायक आजम खां पर जुल्म अन्याय है। उन्होंने कहा कि मैंने आजम खां साहब को श्रीमद भगवद गीता भेंट की है। उन्‍होंने हमें खजूर खिलाए। उम्मीद है कि वह जल्दी ही जेल से बाहर आ जाएंगे।

प्रमोद कृष्णम ने कहा कि आजम खां की तबीयत ठीक नहीं है। उनसे मुलाकात हुई और मैंने उन्हें गीता श्री भगवद गीता की। आजम खां ने उसको स्वीकार किया। यह तो सत्य है कि उन पर जुल्म हुआ है। वह बड़े नेता हैं और उनके ऊपर बकरी, मुर्गी, किताब व शराब चोरी के मुकदमे दायर कर जेल में बंद करना बहुत बड़ा जुल्म है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री एक योगी तथा संत हैं। संत का हृदय विराट होता है। संत के राज में किसी एक व्यक्ति पर जुल्म होना अपने आप में एक अन्याय है। उन्होंने कहा कि हमको भरोसा है कि कोर्ट के फैसले के बाद आजम खां जल्द ही जेल से बाहर आ जाएंगे।

भाजपा से लड़ने में सक्षम नहीं समाजवादी पार्टी : आजम खां के अलावा राजनीति पर चर्चा में आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा से लड़ने में समाजवादी पार्टी नहीं है। समाजवादी के सबसे वरिष्ठ नेता आजम खां पर दो वर्ष से जुल्म हो रहा है और समाजवादी पार्टी और उसके बड़े नेता खामोश है। उन्होंने कहा कि आजम खां पर हो रहे जुल्म का असर आने वाले दिनों में प्रदेश ही नहीं, बल्कि हिंदुस्तान की सियासत पर देखने को मिलेगा। आजम खां के मामले में समाजवादी पार्टी लड़ने से डर रही है। समाजवादी पार्टी को इस पर बहुत गंभीरता से विचार करना चाहिए कि आजम खां जैसे कद्दावर नेता पर जुल्म हो रहा हैं। अब तो समाजवादी पार्टी को उनका साथ देना चाहिए।

कांग्रेस के नेता दोपहर में जेल परिसर में दाखिल हुए। उनके साथ कांग्रेस से सदर विधानसभा उम्मीदवार रही समीना सफीक भी जेल आई। आजम खां ने प्रमोद कृष्णन से अकेले ही मुलाकात करने की रजामंदी दी। इसके बाद कांग्रेसी नेता जेल के अंदर चले गए। शिवपाल सिंह यादव के बाद कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णन की आजम खां से भेंट के कई मायने निकाले जा रहे हैं। आजम खां ने रविवार को समाजवादी पार्टी के विधायक रविदास मेहरोत्रा ने भेंट करने से इनकार कर दिया था। रविदास मेहरोत्रा को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपना दूत बनाकर भेजा था।

कुछ दिन पहले प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने सपा विधायक आजम खां से मुलाकात की थी। शिवपाल करीब डेढ घंटे आजम खां के साथ रहे। यह मुलाकात उस समय हुई, जब आजम खां के खेमे में अखिलेश यादव को लेकर नाराजगी की बातें सामने आ रही है।

17 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0