google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

सीएम योगी सेट कर रहे हैं बिहार में चुनाव का एजेंडा – एक नारे से दौड़ने लगता है करंट



योगी आदित्यनाथ भले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हों लेकिन बिहार का एजेंडा वही सेट कर रहे हैं। भगवाधारी योगी मंच पर पहुंचते ही जय श्री राम का उद्घोष करते हैं तो हजारों की भीड़ में करंट दौड़ जाता है। नीतीश की अगुवाई में बिहार जहां तक पहुंचा है वहां तक पहुंचने में भी क्या क्या पापड़ बेलने पड़े हैं वो तो नीतीश ही जानते होंगे लेकिन बिहार की जनता ने पिछले विधानसभा चुनाव में ये जरुर बता दिया था कि बिहार के बिहारी का क्या मतलब होता है। मतलब सिर्फ मतलब होता है।


फिलहाल यूपी के फायर ब्रांड सीएम योगी का जलवा बिहार में जलजला पैदा कर रहा है। हिंदुत्व के मुद्दे को धार देने के साथ ही योगी पाकिस्तान से लेकर आतंकवाद और राम मंदिर जैसे मुद्दों के जरिए बीजेपी के पक्ष में माहौल बनाने की रणनीति अपना रहे हैं।

बीजेपी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के बाद सीए योगी तीसरे सबसे कद्दावर नेता बनकर उभरे हैं। यही वजह है कि पार्टी सीएम योगी की उत्तर प्रदेश से सटे हुए बिहार के इलाकों वाली सीटों पर ज्यादा से ज्यादा रैलियां कर बीजेपी के पक्ष में माहौल बनाने में जुटी है। सीएम योगी ने मंगलवार को कैमूर और रोहतास जिले विधानसभा सीटों पर प्रचार किया तो बुधवार को जमुई में बीजेपी प्रत्याशी श्रेयसी सिंह के पक्ष में सभा को संबोधित किया।

राम मंदिर का वादा पूरा


सीएम योगी ने अपने भाषण की शुरुआत जय श्री राम के साथ करते हुए कहा कि अयोध्या से भगवान राम का संदेश लेकर नवरात्रि में आया हूं। जमुई में सीएम योगी ने कहा कि 2019 के चुनाव में जब मैं बिहार आया था तो लोग पूछते थे कि मंदिर कब बनेगा। हम हमेशा कहते थे रामलला हम आएंगे मंदिर वहीं बनाएंगे। राम मंदिर में बाधक कांग्रेस, राजद और लेफ्ट थे। देश की जनता का आशीर्वाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिला और उन्होंने 5 अगस्त को मंदिर का भव्य शिलान्यास किया। हमने बिहार की जनता से वादा किया था कि भगवान राम का मंदिर बनाएंगे, कर दिया न पूरा, अब तो कोई ये नहीं कह सकता कि बीजेपी ने अपना वादा पूरा नहीं किया।

आतंकवाद और पाकिस्तान पस्त


पाकिस्तान और आतंकवाद का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कश्मीर में आतंकवादी अब हमारे जवानों पर हमला नहीं करेंगे, क्योंकि उन्हें पता है कि हमला किया तो राम नाम सत्य है। योगी ने कहा कि कांग्रेस के नेता पाकिस्तान की तारीफ करते हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री भी जानते हैं कि भारत के खिलाफ अगर कुछ भी करेंगे तो भारत की सेना घुसकर मारेगी। सीएम योगी ने कहा कि विकास से बाधित जनता को अपराध और आतंकवाद की तरफ धकेलने वाली सरकार नहीं चाहिए।

धारा 370 का फैसला और कांग्रेस पर हमला


योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लोग कहते थे कि धारा 370 को हटाने से खून की नदियां बह जाएंगी। हमने इस भेदभावकारी प्रावधान को हटाकर कश्मीर को शेष भारत के जैसा ही बना दिया और सबकुछ शांति से हो गया। कुछ लोगों को जरूर कश्मीर से धारा 370 हटाने पर बहुत पीड़ा हुई। कांग्रेस के राहुल गांधी और ओवैसी को इतनी पीड़ा हुई थी वे बार-बार इसका विरोध करते रहे। भारत तेरे टुकड़े हुए का नारा अब जेएनयू में नहीं उठाया जा सकता, देश में एकमात्र नारा 'एक भारत श्रेष्ठ भारत' है।

नक्सलवाद के बहाने विपक्ष पर निशाना


सीएम योगी अपनी रैलियों में मोदी सरकार के 6 साल की उपलब्धियों का जिक्र कर रहे हैं। सीएम योगी ने कहा कि हम लोग विकास की बात करते हैं वो जाति की बात करते हैं। हम देश की बात करते हैं वो परिवार की बात करते हैं। हम लोग सबका साथ सबका विकास की बात करते हैं तो वो लोग कहते हैं कि देश के संसाधनों पर एक विशेष समुदाय का अधिकार है।

योगी ने कहा, एक तरफ विकास की योजनाओं को लेकर कार्य करने वाली सरकार है दूसरी तरफ जाति के नाम पर, क्षेत्र के नाम पर, भाषा के नाम पर लड़ाने वाली और नरसंहार करने वाली सरकारें हैं। उनकी मानसिकता देश को विघटन की ओर ले जाने की मानसिकता है और भाजपा की मानसिकता एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना साकार करने की है। जिसके कारण आतंकवाद, नक्सलवाद और अराजकता फैली थी क्या उसे मौका देना है, यह जनता को तय करना है।

मोदी सरकार की उपलब्धियां


पीएम मोदी ने गरीबों को मकान देते हुए किसी की जाति या धर्म नहीं देखा, बिजली कनेक्शन दिए, आयुष्मान भारत योजना का लाभ दिया, रसोई गैस के फ्री कनेक्शन दिए गए। योगी ने कहा कि यह काम राजद और कांग्रेस के नेतृत्व की सरकार ने क्यों नहीं किया, कांग्रेस को ज्यादा नेतृत्व करने का मौका मिला। कांग्रेस के एजेंडे में गरीब किसान, नौजवान, महिलाएं, एजेंडे में नहीं थे। यहां केवल एक परिवार देश में शासन करे यही एजेंडा था।

इसमें दोराय नहीं है कि उत्तर प्रदेश का पूर्वांचल ग्रेटर बिहार कहा जा सकता है। अगर योगी का जादू बिहार में चला तो 2022 में पूर्वांचल की सवा सौ से ज्यादा सीटों पर बीजेपी बड़ा दांव लगा सकती है। लेकिन बिहार के नतीजों से उत्तर प्रदेश की पहेली हल होगी ये सोचना गलत है। फिलहाल इस बात पर यूपी की जनता इतरा सकती है कि सीएम योगी का जलवा देश के लगभग हर चुनाव में उनकी भूमिका सुनिश्चित कर देता है।

टीम स्टेट टुडे


27 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0