google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

कानपुर और बुलंदशहर जैसे शहरों में मिलेगा बंपर रोजगार ,यूपी में Food Processing करेंगे लोगों की रोजी रोटी का प्रबंध



जीबीसी 4.0 के माध्यम से धरातल पर उतरने जा रहे उद्यम बड़ी संख्या में प्रदान करेंगे रोजगार के अवसर


कानपुर नगर में प्राइवेट इंडस्ट्रियल पार्क के जरिए 2.5 लाख लोगों को मिल सकेगी नौकरी


बुलंदशहर में डिजिटल डॉक्टर क्लिनिक की स्थापना के साथ ही 70 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार


रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश से गौतमबुद्ध नगर में एम4एम इंडिया 14 हजार रोजगार के अवसर प्रदान करेगा


लखनऊ, 28 फरवरी। ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी (जीबीसी 4.0) के माध्यम से प्रदेश में 10 लाख करोड़ का निवेश धरातल पर उतारने वाली योगी सरकार इसके जरिए 34 लाख रोजगार भी सृजित करने जा रही है। युवाओं को ये रोजगार के अवसर पूरे प्रदेश यानी हर क्षेत्र, हर मंडल और हर जनपद में उपलब्ध होंगे। दिलचस्प बात ये है कि इन निवेश के माध्यम से कानपुर नगर और बुलंदशहर जैसे टियर 2/3 शहर भी बड़े पैमाने पर रोजगार के साधन उपलब्ध कराने जा रहे हैं। प्राप्त आंकड़ों के अनुसार कानपुर नगर में लगने जा रहे प्राइवेट इंडस्ट्रियल पार्क से ही सिर्फ 2.5 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा। वहीं, बुलंदशहर में ओब्दु ग्रुप के द्वारा डिजिटल डॉक्टर क्लिनिक में किए जा रहे निवेश से भी 70 हजार लोग रोजगार से लाभान्वित होंगे। इसी तरह, कई अन्य जिलों में भी बड़े प्रोजेक्ट्स के जरिए व्यापक पैमाने पर रोजगार सृजित होने जा रहे हैं।


कानपुर में मिलेंगे बड़े पैमाने पर मिलेंगे रोजगार


योगी सरकार ने 19 फरवरी को राजधानी लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में 10 लाख करोड़ से अधिक की 14 हजार से ज्यादा परियोजनाओं का शुभारंभ किया। इसमें कानपुर नगर में प्राइवेट इंडस्ट्रियल पार्क का भूमि पूजन भी सम्मिलित था। मेगा लेदर क्लस्टर डेवलपमेंट (यूपी) लि. के माध्यम से इस परियोजना की शुरुआत की जा रही है, जिसमें 5850 करोड़ रुपए निवेश किए जा रहे हैं। प्राइवेट इंडस्ट्रियल पार्क परियोजना पूर्ण होने के बाद कानपुर नगर में इसके माध्यम से 2.5 लाख लोगों को रोजगार उपलब्ध हो सकेंगे। रोजगार के लिहाज से यह आंकड़ा जीबीसी 4.0 में सर्वाधिक है। उल्लेखनीय है कि कानपुर नगर में कुल 408 कंपनियां विभिन्न परियोजनाओं में 25,339 करोड़ रुपए का निवेश कर रही हैं, जिससे लाखों रोजगार धरातल पर उतरने जा रहे हैं।


बुलंदशहर में ओब्दु ग्रुप युवाओं को देगा नौकरियां


इसी तरह, ओब्दु ग्रुप अपनी सहायक कंपनी ओब्दु डिजिटल हेल्थ लि. के माध्यम से प्रदेश के कई शहरों में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस आधारित विलेज हेल्थ सेंटर की स्थापना कर रहा है। यह विलेज हेल्थ सेंटर डिजिटल डॉक्टर क्लिनिक की तरह काम करेंगे, जहां सुदूर गांवों में मरीजों की स्वास्थ्य देखभाल के लिए टेलीमेडिसिन के साथ कर्मचारी की उपस्थिति में आने वाले मरीजों को तमाम तरह की हेल्थ फैसिलिटीज उपलब्ध कराई जाएंगी। इसके माध्यम से अकेले बुलंदशहर में 3350 करोड़ रुपए का निवेश किया जा रहा है, जिससे 70 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार प्राप्त होगा। वहीं, यह परियोजना बुलंदशहर के बाद लखनऊ, प्रयागराज, फतेहपुर, गोण्डा, बहराइच, कन्नौज, कानपुर, सीतापुर, हरदोई, रायबरेली, मिर्जापुर, गाजीपुर, वाराणसी, शाहजहांपुर, बांदा, हमीरपुर, प्रतापगढ़, भदोई, कौशाम्बी, चित्रकूट और गोरखपुर जैसे जिलों में भी धरातल पर उतारी जाएगी। इस पर ग्रुप द्वारा लगभग 10 हजार करोड़ रुपए का निवेश किया जा रहा है तो प्रदेश भर में 1.90 लाख लोगों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार भी प्रदान किए जाएंगे।


गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद में रियल एस्टेट सेक्टर में मिलेंगी हजारों नौकरियां


रियल एस्टेट सेक्टर के माध्यम से भी बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार के साधन मिलेंगे। निवेश के लिहाज से सबसे फेवरिट रहे गौतमबुद्ध नगर में एम4एम इंडिया प्रा. लि. द्वारा 7500 करोड़ के निवेश से रीयल एस्टेट एंड कॉमर्शियल प्रोजेक्ट की स्थापना की जा रही है जिससे 14 हजार रोजगार प्रदान किए जा रहे हैं। इसी तरह, प्रतीक रिलेटर्स इंडिया प्रा. लि. गाजियाबाद में 2600 करोड़ की निवेश राशि से मिक्स्ड यूज रियल एस्टेट प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है, जो क्षेत्र में 5 हजार से अधिक रोजगार उत्पन्न करेगा। इसी प्रकार, चित्रा रियलकॉन प्रा. लि.गाजियाबाद में 500 करोड़ रुपए के निवेश से रियल एस्टेट एंड कॉमर्शियल प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है। इससे 5000 रोजगार उपलब्ध कराए जाएंगे।


ये उद्यम भी देंगे बड़ी संख्या में रोजगार


- गौतमबुद्धनगर में एयर इंडिया सैट्स एयरपोर्ट सर्विसेज प्रा. लि. 4 हजार करोड़ की लागत से जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर एयर कॉर्गो टर्मिनल स्थापित कर रहा है जो 5 हजार लोगों को रोजगार के साधन उपलब्ध कराने जा रहा है।


- मथुरा में केशव पब्लिकेशन प्रा. लि. 1250 करोड़ रुपए से स्टेशनरी गुड्स, इलेक्ट्रिक आइटम्स समेत प्लास्टिक प्रोडक्ट्स मैन्युफैक्चरिंग एवं पब्लिकेशंस यूनिट शुरू कर रही है। इससे 10 हजार लोगों को नौकरियां प्रदान की जाएंगी।


- डिजाइनो प्रा. लि. मुरादाबाद में 800 करोड़ से हैंडीक्रॉफ्ट एवं टॉयज मैन्युफैक्चरिंग और एक्सपोर्ट यूनिट बना रहा है, जो 10 हजार लोगों के लिए रोजगार के साधन उपलब्ध कराएगी।


- इसी तरह, टोरेंट पावर लि. सोनभद्र में 13200 करोड़ रुपए से 24 मेगावॉट पीएसपी प्रोजेक्ट स्थापित कर रहा है, जो क्षेत्र में करीब 5 हजार (4800) रोजगार प्रदान करेगा।




 


यूपी में फूड प्रोडक्ट्स करेंगे लोगों की रोजी रोटी का प्रबंध


फूड प्रॉसेसिंग सेक्टर में 60 हजार करोड़ के निवेश से मिलेंगे हजारों नौकरियों के अवसर


प्रदेश में हो रहे टॉप-5 इन्वेस्टमेंट से ही 3 हजार से अधिक रोजगार मिलने की संभावना


बिजनौर, मुजफ्फरनगर, संडीला, बरेली और बागपत समेत कई जिलों में सृजित होंगी नौकरियां


लखनऊ, 28 फरवरी। भारतीय लजीज व्यंजनों के शौकीन होते हैं और एक बहुत बड़ी राशि वो हर महीने इस पर खर्च करते हैं। यही खान पान उत्तर प्रदेश में लोगों की रोजी रोटी का माध्यम बनने जा रहा है। ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी 4.0 के तहत उत्तर प्रदेश में फूड प्रॉसेसिंग सेक्टर में 60 हजार करोड़ रुपए से अधिक का निवेश धरातल पर उतारा गया है, जिसके तहत सिर्फ बड़े प्रोजेक्ट्स से ही प्रदेश में 3 हजार से अधिक रोजगार के अवसर मिलेंगे। ये नौकरियां बिजनौर, मुजफ्फरनगर, संडीला, बरेली और बागपत जैसे जिलों में सृजित होने जा रही है। यही नहीं, तमाम अन्य बड़ी कंपनियां भी प्रदेश के अलग-अलग जिलों में फूड प्रॉसेसिंग में निवेश कर रही हैं जो हजारों रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएंगी।


बेवरेजेज मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स देंगी नौकरियां


कोका-कोला के लिए भारत का सबसे बड़ा बॉटलर एसएलएमजी यूपी में एक और शुगर सिरप, जूस

मैन्युफैक्चरिंग, पल्प एक्सट्रैक्शन और बॉटलिंग यूनिट स्थापित कर रहा है। यह प्रोजेक्ट 509 करोड़ रुपए का है और बिजनौर में लगभग 275 नौकरियां सृजित करेगा। वहीं, बेवरेज मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री में काम करने वाले प्रसिद्ध रिलायंस ग्रुप का एक उपसमूह भारतीय बेवरेजेज प्रा. लि. 600 करोड़ रुपए का निवेश कर रहा है और मुजफ्फरनगर में इसके माध्यम से 500 नौकरियां उत्पन्न हो रही हैं। यह प्रोजेक्ट भारतीय बेवरेजेज प्रा. लि. और रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड के ज्वॉइंट वेंचर में मुजफ्फरनगर के पास पुरकाजी में बेवरेज मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी विकसित करने से संबंधित है।


स्नैक्स, डिस्टिलरी और रोटी प्रोडक्ट्स भी उपलब्ध कराएंगे रोजगार


इसी तरह, बालाजी वेफर्स उत्तर प्रदेश में 500 करोड़ रुपए का निवेश कर रहा है। इसके माध्यम से वह हरदोई के औद्योगिक क्षेत्र संडीला में आलू वेफर्स और भारतीय परंपरागत स्नैक्स के प्रोडक्शन के लिए एक इंटीग्रेटेड फूड प्रॉसेसिंग यूनिट की स्थापित कर रहा है, जिसके माध्यम से क्षेत्र में 1500 नौकरियां सृजित होंगी। वहीं, धामपुर बायो ऑर्गेनिक्स 350 करोड़ रुपए के निवेश के साथ, एक नया डिस्टिलरी प्रोजेक्ट स्थापित कर रहा है। इस प्लांट से बरेली में 100 नौकरियों का सृजन होगा। इसी तरह, ग्रुपो बिम्बो, कंज्यूमर्स को हाई क्वालिटी, सुविधाजनक रोटी प्रोडक्ट्स प्रदान करने के लिए अपनी सहायक कंपनी रेडी रोटी इंडिया प्रा. लि. के माध्यम से एक इंटीग्रेटेड मैन्युफैक्चरिंग यूनिट स्थापित कर रहा है। कंपनी बागपत में स्थित प्लांट के लिए 200 करोड़ रुपए का निवेश कर रही है, जिससे 600 से अधिक नौकरियां पैदा होंगी।


ये इंडस्ट्रीज भी हजारों अवसर उपलब्ध कराएंगी


इसके अतिरिक्त प्रदेश में कई अन्य समूह भी निवेश कर रहे हैं। इनमें धर्मपाल सत्यपाल लि., बीकानेरवाला फूड्स प्रा लि., हैप्पीलो इंटरनेशनल प्रा. लि., हल्दीराम स्नैक्स मैन्युफैक्चरिंग प्रा. लि., सस्टीन लि., फेयर एक्सपर्ट्स (इंडिया) प्रा. लि., फॉर्च्यून राइस लि., बृंदावन एग्रो इंडस्ट्रीज प्रा. लि., एसपीआरएल फूड्स लि., वीआरएस फूड्स लि. (पारस डेयरी), अमृत बोटियर्स प्रा. लि., एबीआईएस एक्सपोर्ट्स (इंडिया) प्रा. लि., जैक वेंचर प्रा. लि., शिवश्रित फूड्स प्रा. लि., वीकेसी नट्स प्रा. लि., बलरामपुर चीनी मिल्स लि., त्रिवेणी इंजीनियरिंग एंड इंडस्ट्रीज लि., डीसीएम श्रीराम लि., वेव शुगर मिल (बिजनौर), टिकौला शुगर मिल्स लि., एनजेडी सॉफ्टेक प्रा. लि., कामधेनु कैटल फीड्स प्रा. लि., अदानी एग्री लॉजिस्टिक, बलरामपुर चीनी मिल्स लि. और डीसीएम श्रीराम लि.शामिल हैं।

1 Comment


"OptimaEquipments.com: Your Destination for High-Quality MRI and CT Scanners - Advancing Medical Imaging Technology"

Introduction

In the ever-evolving world of healthcare, medical imaging technology plays a pivotal role in diagnosing and treating various medical conditions. Among the most crucial equipment used in modern medical facilities are MRI (Magnetic Resonance Imaging) and CT (Computed Tomography) scanners. These state-of-the-art machines have revolutionized medical diagnostics and significantly improved patient care. If you're in the medical field and seeking high-quality medical imaging equipment,

https://optimaequipments.com/

 

look no further than OptimaEquipments.com. In this blog, we'll explore the features and benefits of buying MRI and CT scanners from OptimaEquipments.com.

1. A Trusted Name in Medical Imaging Equipment

OptimaEquipments.com has earned a reputation as a trusted and…


Like
bottom of page