google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

बीजेपी ने इस्लाम को निर्विरोध पहुंचाया राज्यसभा



सपा नेता अमर सिंह के निधन से रिक्त हुई उत्तर प्रदेश की राज्यसभा सीट पर बीजेपी नेता सैयद जफर इस्लाम निर्विरोध निर्वाचित हो गए हैं। बीजेपी यूपी महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला ने अपना नामांकन वापस ले लिया है, जिसके बाद जफर इस्लाम को निर्विरोध चुना लिया गया है। बीजेपी के जफर इस्लाम सातवें मुस्लिम नेता हैं, जो संसद पहुंचे हैं। जफर इस्लाम का कार्यकाल नंवबर 2022 तक के लिए है।

बीजेपी ने जफर इस्लाम को अपना प्रत्याशी घोषित किया था, जिन्होंने 29 अगस्त को राज्यसभा का पर्चा दाखिल किया था। जफर इस्लाम स्वास्थ्य कारणों से अपना नामांकन दाखिल करने लखनऊ नहीं पहुंच सके। उनके प्रतिनिधि के रूप में सूबे के संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने नामांकन पत्र दाखिल किया था। यूपी की एक सीट पर तीन लोगों ने नामांकन पत्र दाखिल किया था, जिनमें बीजेपी की ओर से जफर इस्लाम के अलावा गोविंद नारायण शुक्ला और निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर महेश शर्मा शामिल थे। लेकिन महेश शर्मा का निर्वाचन निरस्त हो गया था जबकि गोविंद नारायण शुक्ला ने शुक्रवार को अपना नाम वापस ले लिया है।


जफर इस्लाम बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और पार्टी के उदारवादी मुस्लिम चेहरा हैं. बीजेपी हाईकमान की तरफ से जफर इस्लाम को प्रत्याशी बनाया गया है। माना जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस से बीजेपी में शामिल कराने के इनाम के तौर पर उन्हें प्रत्याशी बनाया गया, क्योंकि उन्होंने बहुत ही खामोशी के साथ मध्य प्रदेश में ऑपरेशन लोट्स को अंजाम दिया था।

राजनीति में आने से पहले जफर इस्लाम एक विदेशी बैंक के लिए काम करते थे। सात साल पहले वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रभावित होकर बीजेपी में शामिल हुए थे। बाद में पार्टी द्वारा उन्हें अपना राष्ट्रीय प्रवक्ता पद का प्रभार सौंपा गया।

बीजेपी के संसद पहुंचने वाले जफर इस्लाम सातवें मुस्लिम सांसद बन गए हैं। जफर इस्लाम से पहले मुख्तार अब्बास नकवी (लोकसभा-राज्यसभा), शहनवाज हुसैन (लोकसभा), सिकंदर बख्त (राज्यसभा), आरिफ बेग (लोकसभा), एमजे अकबर (राज्यसभा) और नजमा हेपतुल्ला (राज्यसभा) भाजपा के मुस्लिम सांसद रह चुके हैं।


टीम स्टेट टुडे



0 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0