google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

योगी सरकार के एक फैसले ने बदला मथुरा का माहौल– मांस मदिरा नहीं हर तरफ दिखेगा सिर्फ दूध,दही और माखन



भारतवर्ष राम, कृष्ण और शिव की धरती है। देश के तीनों आराध्यों का केंद्र उत्तर प्रदेश है। भोलेनाथ की नगरी काशी का कायाकल्प जारी है। अयोध्या में भी श्रीरामजन्मस्थान पर भव्य मंदिर निर्माण हो रहा है। अब मथुरा को लेकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला किया है।


धार्मिक पर्यटन स्थल को केंद्र में रखकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने मथुरा में भगवान श्रीकृष्ण के जन्मस्थल का दस वर्ग किलोमीटर क्षेत्र को तीर्थ स्थल घोषित किया है।


श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मथुरा आए थे। उन्होंने श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर ठाकुरजी के दर्शन किए। इस दौरान उन्होंने संतों की इच्छा के अनुरूप मथुरा में मांस और मदिरा की बिक्री पर रोक लगाने का एलान किया था। उन्होंने कहा था कि इससे प्रभावित लोग दुग्ध का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर मथुरा दौरे पर लोगों से किया गया वादा आज पूरा कर दिया है।


मुख्यमंत्री ने कहा था कि जो लोग अब तक हिंदू त्योहार को नजरअंदाज करते थे। मंदिर जाने से कतराते थे, वो भी अब कहने लगे हैं कि राम हमारे भी हैं और कृष्ण भी हमारे हैं। उन्होंने कहा कि मथुरा की सांस्कृतिक और आध्यात्मिक महिमा को पुनर्जीवित करने के लिए शराब और मांस के व्यापार में लगे लोग दूध बेचना शुरू कर सकते हैं।


गणेश चतुर्थी के अवसर पर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस निर्णय के बाद भगवान कृष्ण की जन्मस्थली के 10 किलोमीटर के दायरे में आने वाले नगर निगम के 22 वार्डों अब तीर्थस्थल होंगे। इस क्षेत्र में मांस-मदिरा की बिक्री प्रतिबंधित होगी। सीएम के निर्देश पर उत्तर प्रदेश शासन ने भगवान श्रीकृष्ण के जन्मस्थान ब्रज में मांस व मदिरा की बिक्री पर भी पाबंदी लगा दी है।



इन 22 वार्डों का क्षेत्र अब हुआ तीर्थ क्षेत्र


1- घटीबहालराय 2- गोविन्दनगर 3- मंदीरामदास 4- चौबियापाड़ा 5- द्वारिकापुरी 6- नवनीत नगर 7- वनखंडी 8 -भरतपुर गैट 9- अर्जुनपुरा 10- हनुमान टीला 11- जगन्नाथपुरी 12- गऊघाट 13- मनोहरपुरा 14 वैरागपुरा 15- राधानगर 16 – बदरीनगरा 17- महाविद्याकालोनी 18- कृष्णानगर प्रथम 19- कृष्णानगर द्वितीय 20- कोयलागली 21- डैम्पीयरनगर 22- जयसिंह पुरा।


मथुरा जिले के 70 में से 29 वार्ड में पाबंदी प्रभावी


श्रीकृष्ण जन्मभूमि क्षेत्र तथा उसके पास के इलाकों में पहली बार शराब तथा मांस की बिक्री पर प्रतिबंध लगाया गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ के इस निर्देश के बाद अब मथुरा-वृंदावन नगर निगम क्षेत्र के 22 वार्ड में पाबंदी लगेगी। इसमें से वृंदावन के सात क्षेत्र में पहले से ही पाबंदी चल रही है। मथुरा जिले के 70 में से कुल 29 वार्ड में शराब तथा मांस की बिक्री अब से नहीं होगी। आज की घोषणा के बाद 22 वार्ड में पाबंदी की व्यवस्था लागू होगी। उनमें एक वार्ड 50 फीसद प्रभावित है। तीन वार्ड 75 से 80 फीसद प्रभावित हो रहे हैं।


सात वार्ड में 2017 से ही पाबंदी


मथुरा-वृंदावन नगर निगम क्षेत्र में कुल 70 वार्ड हैं। इनमें से 41 वार्ड में सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद शराब तथा मांस की बिक्री पर पाबंदी लगेगी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने जब 2017 में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, उसी समय मथुरा-वृंदावन नगर निगम में सात तीन क्षेत्रों में शराब तथा मांस की बिक्री पर पाबंदी लगाई थी। इनमें वृंदावन के सात वार्ड, बरसाना, गोवर्धन, राधाकुंड, नंदगांव, गोकुल, बरसाना तथा बलदेव में शराब तथा मांस की बिक्री पर प्रतिबंध लगाया गया था।


योगी सरकार के फैसले पर ब्रज के संतों और लोगों ने खुशी जताई है।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन

39 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0