google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

गलत नीतियों के कारण केंद्र और यूपी से बाहर कांग्रेस


गाजियाबाद, 3 फरवरी 2022 : बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती बृहस्पतिवार को गाजियाबाद पहुंची। कविनगर रामलीला मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि बसपा यूपी में अपने दम पर चुनाव लड़ रही है। पार्टी 2007 की तरह अकेले दम पर सरकार बनाएगी। मायातवी ने कहा कि अच्छे दिन अवश्यक आंएगे और उन्होंने टिकट आवंटन में समूचे समाज को टिकट देने की बात कही।

मायावती ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि गलत नीतियों के कारण कांग्रेस केंद्र और यूपी की सत्ता से बाहर हुई है। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि सपा, भाजपा और कांग्रेस को नहीं बसपा को वोट देने की अहमियत समझें। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी शुरू से जातिवादी और दलित विरोधी रही है। बाबा साहब को भारत रत्न नहीं दिया।

इतना ही नहीं कांग्रेस ने तो कांशीराम के देहांत पर एक दिन का राजकीय अवकाश भी घोषित नहीं किया। उन्होंने बीपी सिंह सरकार की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने बाबा साहब को भारत रत्न से सम्मानित किया, जिसके वह असली हकदार थे। हालांकि अपने संबोधन में भाजपा का एक-दो बार ही नाम लिया और अपना मुख्य फोकस कांग्रेस का रखा। कांग्रेस दलितों और आदिवासियों के वोट के लिए सदैव झूठे वादे किए हैं। कांग्रेस को सत्ता में रहते हुए किसी की याद नहीं आती है।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि यूपी में सपा और भाजपा के समय भी जनता दुखी रही है। सपा सरकार में गुंडों और माफियाओं का राज रहा है। उन्होंने दंगों का जिक्र करते हुए सपा सरकार पर तीखा हमला किया। जब सपा सत्ता में थी तो दलित व पिछड़ों के साथ सौतेला व्यवहार किया गया।

सपा के समय में संत और महापुरुषों का अपमान हुआ है। सपा ने कोर्ट के निर्णय की आड़ में अनुसूचित वर्ग के अधिकारियों का शोषण किया है। शुल्क प्रतिपूत्ति भी रोकी और कांशीराम विवि का नाम बदला। इसके साथ ही भूमि खरीद का नियम भी बदल दिया। लखनऊ में भीमराव पार्क का नाम बदला है। अखिलेश की नीतियां दलित विरोधी रही हैं और सपा सरकार ने कमजोर वर्ग की जमीन को हथियाने का काम किया है। वहीं, भाजपा धर्म के नाम पर नफरत फैला रही है।

5 views0 comments