google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

यूपी में लॉकडाउन 17 मई तक बढ़ा, लखनऊ में फिर बढ़े कोरोना केस- जानिए वजह और क्या खुला क्या रहेगा बंद



रिपोर्ट - आदेश शुक्ला


उत्तर प्रदेश में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए आंशिक कोरोना कर्फ्यू या लॉकडाउन का जो प्रारुप योगी सरकार ने तैयार किया है उससे कुछ राहत तो मिली है। संक्रमण की रफ्तार ना सिर्फ धीमी पड़ी है बल्कि कोरोना से जीतने वालों की तादात भी बढ़ी है।


29 अप्रैल को शनिवार-रविवार की साप्ताहिक बंदी से शुरुआत हुई, फिर इसे चार मई, छह मई और फिर दस मई यानी सोमवार तक बढ़ाया गया। अब योगी सरकार ने फिर से कोरोना कर्फ्यू 17 मई सुबह सात बजे तक बढ़ा दिया है।


पंचायत चुनाव के बाद गांवों में तेजी से फैल रहे संक्रमण और 14 मई को ईद के त्यौहार को देखते हुए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ कोई भी खतरा मोल न लेते हुए लॉकडाउन को एक हफ्ते के लिए फिर बढ़ा दिया है। इस दौरान पहले की तरह ही सभी पाबंदियां लागू रहेंगी। आवश्यक सेवाओं को छूट मिलती रहेगी। बेवजह घूमने वालों पर सख्ती बरती जाएगी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोरोना कर्फ्यू का मकसद तभी कामयाब होगा जब प्रोटोकॉल का पूरी सख्ती से कराया जाएगा।


यूपी के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने जानकारी दी कि कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में आंशिक कोरोना कर्फ्यू प्रभावी हो रहा है। आमजन खुद ही आवागमन कम कर रहे हैं। इस दौरान स्वास्थ्य संबंधी कार्यों के लिए पूरी छूट रहेगी। औद्योगिक गतिविधियां, ई-कॉमर्स से संबंधित काम यथावत चलते रहेंगे। राशन वितरण और टीकाकरण सुचारु रहेगा। कंटेनमेंट जोन में केवल डोर स्टेप डिलीवरी व्यवस्था से आपूर्ति होगी।


क्यों बिगड़ रहे हैं बार बार लखनऊ के हालात


लॉकडाउन और आंशिक कर्फ्यू के बीच लखनऊ में बढ़ रहे मामलों ने एक बार फिर से शहर में कोरोना को लेकर हो रही सख्ती पर सवाल खड़ा करना शुरू कर दिया है। शहर के अलग-अलग स्थानों पर बनी मंडियों और मार्केट में शाम ढलते-ढलते भीड़ जमना शुरू हो जाती है, ऐसे में संक्रमण फैलने का खतरा और अधिक बढ़ जाता है। रोजाना पुलिस की नजरों से दूर सज रही मार्केट और उसमें लगी लोगों की भीड़ से जुड़ी तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होती हैं। शनिवार को भी दंडहिया चौराहे से लेकर कैसरबाग चौराहे तक कई दुकानें खुली हुई नजर आई, जिनपर दर्जनों लोग बिना मास्क के भीड़ लगाए हुए नजर आए।


राजधानी में दुबारा से तूल पकड़ रहे मामलों पर लखनऊ के संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) पीयूष मोर्डिया ने कहा कि लखनऊ की स्थितियों को देखते हुए लगातार पुलिस टीम की ओर से चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। लोगों को लॉकडाउन और कर्फ्यू का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया जा रहा है। इसके साथ ही लोग जरूरी सामान खरीदने के लिए बाहर निकल रहे हैं और उस बीच कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं किया जा रहा है तो उनपर भी कार्रवाई की जा रही है। इतना ही नहीं, जिन दुकानों पर लोग सामान खरीदने आ रहे हैं और मास्क का प्रयोग नहीं कर रहे हैं तो ऐसी स्थिति में शिकायत मिलने पर उस ग्राहक के साथ दुकानदार पर भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।


वैसे आपको बता दें कि सबसे ज्यादा लापरवाही लखनऊ में ही हो रही है। ऐसा लगता है जैसे साजिश के तहत लोग घरों से निकल रहे हैं और संक्रमण ले कर लौट रहे हैं। अभी भी लखनऊ के हालात बेहतर नहीं है।


कोरोना कर्फ्यू में ई-पास से मिलेगी छूट


कोरोना कर्फ्यू के दौरान आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति के लिए शासन ने ई-पास जारी करने की व्यवस्था बनाई है। इस संबंध में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी की ओर से शासनादेश जारी किया गया है। इसमें कहा गया है कि औद्योगिक गतिविधियों, मेडिकल-आवश्यक सेवाओं तथा वस्तुओं की आपूर्ति, आवश्यक वस्तुओं के परिवहन, मेडिकल, स्वास्थ्य तथा औद्योगिक इकाइयों में उपस्थिति, उद्योग संबंधी कार्य, ई-कॉमर्स ऑपरेशन, आपात चिकित्सा स्थिति वाले व्यक्ति, दूरसंचार सेवाएं, डाक सेवा, प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया और इंटरनेट मीडिया से जुड़े व्यक्तियों को ई-पास जारी किए जाएंगे।


कहां कितने कर्मचारियों में चलेगा काम


कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने सरकारी कार्यालयों में एक समय में 33 फीसद तक ही कर्मियों के रहने की व्यवस्था लागू की है। इसके साथ ही अस्वस्थ होने वाले कर्मियों को घर से काम करने की सुविधा दे दी गई है। 50 प्रतिशत कार्मिक दफ्तर में उपस्थित रहेंगे लेकिन एक समय में उनकी उपस्थिति 33 प्रतिशत तक होगी। बाकी 50 प्रतिशत कार्मिक घर से ही काम करेंगे। नई व्यवस्था के तहत अस्वस्थ हुए कार्मिक भी घर से काम कर सकेंगे। इससे पहले शासन ने शारीरिक रूप से दिव्यांग कार्मिकों और गर्भवती महिला कर्मचारियों को घर से काम करने की मंजूरी दी थी।


सीएम योगी का गांवो की तरफ विशेष जोर


कोरोना वायरस की दूसरी लहर रोकने के लिए सरकार ने गांवों का भी रुख किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पांच मई से शुरू हो चुके अभियान के तहत प्रदेश में 60 हजार निगरानी समितियां गांवों में स्क्रीनिंग करा रहीं। 12 हजार समितियां शहरों में लगाई गई हैं। कोरोना के लक्षण मिलने पर लोगों को दवा दी जा रही, जरूरत पर एंटीजन जांच और भर्ती कराया जाएगा। सभी अस्पतालों में बेड बढ़ाए जा रहे। प्रत्येक जिले में आक्सीजन प्लांट लग रहा है, ताकि कोई कमी न होने पाए।


कैसा चल रहा है वैक्सीनेशन


प्रदेश में अब तक 18 से 44 साल के एक लाख से अधिक व इससे ज्यादा उम्र के एक करोड़ 35 लाख लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। वैक्सीन की बर्बादी रोकने के लिए अब प्रत्येक का आनलाइन पंजीकरण किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को एक प्रेसवार्ता में कहा कि राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति धीरे धीरे सुधर रही है। उन्होंने कहा कि हर स्तर पर संसाधन बढ़ाए जा रहे हैं, वाराणसी में डीआरडीओ ने अस्पताल बनाया। उन्होंने जनता से कोरोना नियमों का पालन करने की अपील की और कहा कि बेवजह घर से कतई न निकलें। मुख्यमंत्री ने कहा कि 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण सोमवार से राज्य के 11 और जिलों में शुरू हो जाएगा, सात जिलों में पहले ही काम शुरू हो चुका है।


जानिए क्या रहेगा खुला और क्या बंद


  • लॉकडाउन 17 मई सोमवार सुबह तक के लिए बढ़ाया गया

  • इस दौरान सिर्फ जरूरी सेवाएं जैसे मेडिकल, किराना आदि छोड़कर सभी दुकानें व सेवाएं स्थगित रहेंगी।

  • पहली बार मास्क न लगाने पर एक हजार रुपये जुर्माना और दूसरी बार भी यही गलती की तो 10 हजार रुपये का जुर्माना देना होगा।

  • आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को जारी किए जाएंगे पास।

  • मॉल, जिम, स्पा और ऑडिटोरियम रहेंगे बंद। रेस्त्रां खुले रहेंगे, लेकिन केवल होम डिलीवरी की अनुमति।

  • दूसरे राज्यों से आने जाने पर रोक नहीं।

  • यूपी में शादी समारोह में आयोजन के दौरान सिर्फ 50 लोगों को शामिल होने की अनुमति। अंतिम संस्कार में सिर्फ 20 लोग शामिल हो सकेंगे।

  • साप्ताहिक बंदी के अलावा पहले से चल रहा रात्रि कर्फ्यू भी यूपी में जारी रहेगा।

  • अगले आदेश तक सभी स्कूल बंद रहेंगे, बोर्ड परीक्षाएं भी रद्द।

  • सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, अकादमिक, सांस्कृतिक, धार्मिक उत्सव से संबंधित और अन्य भीड़ तथा सभाएं आयोजित नहीं की जाएगी।


आपसे अपील है कि घर में रहें सुरक्षित रहें। ये वक्त भी गुजर जाएगा।


टीम स्टेट टुडे



विज्ञापन
विज्ञापन

82 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0