google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

पीपीई किट धुल कर दोबारा बेच रहे हैं मौत के सौदागर – सावधान रहना ये समाज के वायरस हैं



कोरोना वायरस आज है, भविष्य में इसका खात्मा तय है। अगर ना भी खत्म हुआ तो अचूक दवाईयां, कारगर वैक्सीन और सधा हुआ इलाज इसके जानलेवा स्वरुप को खत्म करेगा या कम करेगा। परंतु ऐसे लोगों का क्या होगा जिन्होंने इस आपदाकाल में ना सिर्फ कालाबाजारी, मुनाफाखोरी की बल्कि नकली दवाईयां और इंजेक्शन तक बेचे।


समाज के ऐसे ही दुश्मन अब इस्तेमाल की हुई पीपीई किट पानी से धुल कर पैक कर फिर से बेच रहे हैं । मामला मध्यप्रदेश का है। जहां लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ हो रहा है।


सतना में इस्तेमाल की गई पीपीई किट बेचने का सनसनीखेज मामला सामने आया है । बड़खेरा के इंडो वाटर बायो वेस्ट डिस्पोजल प्लांट में इस्तेमाल पीपीई किट को धोकर फिर से नई पैकिंग करके बाजार में बेचने के लिए तैयार किया जा रहा है। इस करतूत की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुईं।


फिलहाल पूरे मामले की जांच का जिम्मा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को सौंपा गया है। जानकारी के मुताबिक बड़खेरा के बायो वेस्ट डिस्पोजल प्लांट में इस्तेमाल की गई पीपीई ड्रेस को धोकर कर उसे पैक कर दिया जाता था और बाजार में बेचने के लिए भेज दिया जाता था।



न्यूज एजेंसी एनएनआई ने इस कारनामें का वीडियो जारी किया है। प्लांट में कुछ लोग किट को गर्म पानी में धोकर एक जगह रख रहे हैं और उसे बाजार में फिर से बेचने के लिए बंडल बना रहे हैं। सभी जानते हैं कि इस तरह से कोरोना संक्रमण फैलने तय है।


क्या कहती हैं कोविड गाइडलाइंस


कोविड गाइडलाइन के अनुसार इस्तेमाल किए गए पीपीई किट, मास्क को मेडिकल नियमों के तहत नष्ट किया जाता है। किसी भी प्रकार की सीरिंज, पीपीई किट एवं अन्य प्रयोग में लाई गई वस्तुओं, डिस्पोज़बेल मेडिकल इक्युपमेंट्स का फिर से इस्तेमाल पूरी तरह गैरकानूनी और प्रतिबंधित है।


आप सतर्क रहिएगा। समाज हम सबसे बनता है। अगर आप अपने आसपास किसी तरह की अवैध गतिविधि देखते हैं जो इस संक्रमण काल में समाज के लिए घातक हैं तो तत्काल पुलिस को या अन्य जिम्मेदार व्यक्ति, संस्था या सरकार को तुरंत बताएं।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन


10 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0