google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

दिल्ली में नाइट कर्फ्यू, महाराष्ट्र में कड़े प्रतिबंध, फिर फूटा कोरोना बम



दिल्ली में पांच हजार से ज्यादा तो अकेले मुंबई में दस हजार से ज्यादा कोरोना के मामले सिर्फ बीते चौबीस घंटे में सामने आए हैं। स्थिति गंभीर और खतरनाक हो चली है। ऐसे में सख्त प्रतिबंधों की कवायद भी एक बार फिर शुरू हो गई है।


महाराष्ट्र और दिल्ली जैसे राज्यों में जहां सख्त प्रतिबंध लागू कर दिए गए हैं वहीं कई अन्य राज्य भी अपने यहां स्थिति सामान्य बनाए रखने के लिए सख्ती का सहारा ले रहे हैं।


दिल्ली में नाइट कर्फ्यू


दिल्ली में तेजी से कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अरविंद केजरीवाल की सरकार ने ये फैसला लिया है कि छह अप्रैल से लेकर 30 अप्रैल तक दिल्ली में रात्रि कर्फ्यू लगाया जाएगा। सरकार की ओर से जारी दिशानिर्देशों के अनुसार रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक यह कर्फ्यू रहेगा। इसके अलावा राशन, किराना, फल सब्जी, दूध, दवा से जुड़े दुकानदारों को ई-पास के जरिए ही आने-जाने की छूट दी गई है। गर्भवती महिलाओं और मरीजों को इस नाइट कर्फ्यू से छूट मिलेगी।


महाराष्ट्र में सख्त प्रतिबंध वीकेंड पर लॉकडाउन


महामारी से देश में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में कैबिनेट ने संपूर्ण लॉकडाउन तो नहीं लागू किया है, लेकिन पांबदियां काफी सख्त कर दी हैं। सोमवार से जारी इन प्रतिबंधों के तहत होटल, रेस्तरां और बार बंद कर दिए गए हैं। यहां पर बैठकर खाना नहीं खाया जाएगा हालांकि, पैकिंग सुविधा जारी है। राज्य में केवल आवश्यक सेवाओं में लगे लोगों को ही रात में निकलने की अनुमति है। बड़ी फिल्मों की शूटिंग पर भी रोक लगा दी गई है। इसके साथ ही थियेटर और पार्क भी बंद हैं।


पंजाब में सख्ती


पंजाब में कोरोना वायरस का यूके स्ट्रेन मिलने के बाद संक्रमण के मामलों और मौतों में निरंतर इजाफा हो रहा है। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को कोविड के कारण लगाए प्रतिबंधों को 10 अप्रैल तक बढ़ाने के आदेश दिए हैं। स्वास्थ्य विभाग को टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाने को कहा है। नाभा ओपन जेल में 40 महिलाओं के पॉजिटिव पाए जाने के कारण मुख्यमंत्री ने जेलों में विशेष टीकाकरण मुहिम शुरू करने के आदेश दिए हैं।


चंडीगढ़ प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने सोमवार को निर्देश जारी किया हैं कि शहर के सभी स्कूल, कॉलेज व अन्य शिक्षण संस्थान 10 अप्रैल तक बंद रहेंगे।


राजस्थान में बाहर से आने वालों की जांच


राजस्थान सरकार ने बाहरी राज्यों से आने वाले सभी लोगों के लिए आरटी-पीसीआर जांच अनिवार्य कर दी है। नए दिशानिर्देशों के अनुसार राज्य में अब रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ्यू लागू रहेगा। सभी जिम, मल्टीप्लेक्स और स्विमिंग पूल बंद रहेंगे। कर्फ्यू की अवधि के दौरान रेस्टोरेंट या कैफे में बैठ कर खाने पर पाबंदी लगा दी गई है, लेकिन पैक करवाकर ले जाने की अनुमति रहेगी। इसके अलावा स्कूलों में पहली से नौवीं तक की कक्षाओं का संचालन भी रोक दिया गया है।


बिहार में बढ़ेगा जांच का दायरा


बिहार सरकार ने भी कोरोना रोकथाम के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। इसके अनुसार कोरोना जांच की संख्या बढ़ाने की और प्रखंड स्तर पर क्वारंटीन केंद्रों की व्यवस्था करने को कहा गया है। इसके साथ ही सभी स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चे के कर्मियों की जांच कराने का निर्देश दिया गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ये दिशानिर्देश जारी करते हुए जनता से सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहनने और बीमारी से बचने के लिए शारीरिक दूरी के नियम का पालन करने की अपील की।


यूपी में जारी हुए नए नियम


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सार्वजनिक कार्यक्रम में 100 से अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर रोक लगाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सोमवार को कहा कि कोविड-19 के नए स्ट्रेन की संक्रमण दर काफी अधिक है इसलिए पूरी सजगता बरतना जरूरी है। अत: यह सुनिश्चित किया जाए कि सार्वजनिक कार्यक्रमों में 100 से अधिक लोग एकत्र न हों। प्रदेश में कोविड-19 की टेस्टिंग का कार्य पूरी क्षमता से संचालित किया जाए। संदिग्ध केस में अनिवार्य रूप से आरटीपीसीआर टेस्ट किया जाए।


आक्सीजन की कमी


महाराष्ट्र में रोज मिल रहे हजारों की तादाद में नए कोरोना मरीजों से अस्पताल भरे पड़े हैं। राज्य के हॉटस्पॉट बन चुके शहरों खासकर मुंबई, पुणे, नासिक, नागपुर आदि के अस्पतालों में बेड लगभग फुल हो गए हैं। आईसीयू व वार्ड भरने के बाद गलियारों में बिस्तर लगाकर मरीजों की जान बचाने के उपाय किए जा रहे हैं। ऑक्सीजन की भी कमी होने लगी है।


पीएम और राज्यों के सीएम की होगी बैठक


प्रधानमंत्री मोदी के साथ राज्यों के मुख्यमंत्रियों की प्रस्तावित बैठक में केन्द्र राज्यों को कोविड-19 का संक्रमण रोकने के लिए जरूरी कदम उठाने के लिए अधिक अधिकार दे सकता है। इसमें राज्यों को लॉकडाउन या सेमी लॉकडाउन, रात्रि कर्फ्यू, सीमाएं सील करने, कंटेनमेंट और बफर जोन आदि तय करने का अधिकार राज्यों को दिया जा सकता है।


स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कारण


कोरोना के मामलों में अचानक हुई तेज बढ़ोतरी के पिछले दिनों हुईं भव्य शादियां, स्थानीय निकाय चुनाव, किसानों का आंदोलन जैसी कई वजह हो सकती हैं। इस बीच केंद्र सरकार ने कोविड पर नियंत्रण और रोकथाम उपायों के लिए महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और पंजाब में 50 उच्च स्तरीय स्वास्थ्य टीमों को रवाना किया है। महाराष्ट्र के 30 जिलों, छत्तीसगढ़ के 11 और पंजाब के नौ जिलों में इन केंद्रीय टीमों की तैनाती होगी।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन

17 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0