भारत में फूटा कोरोना बम, एक दिन में एक लाख से ज्यादा संक्रमित



अगर आप कोरोना को हल्के में ले रहे थे तो गलतफहमी थी। भारत में कोरोना बम फटा है। राज्य सरकारें हों या केंद्र सरकार हर दिन स्थिति पहले से बदतर हो रही है।


नए मामलों की संख्या


पूरे देश में बीते चौबीस घंटे में 145384 नए मामले सामने आए हैं। ये आंकड़े शनिवार सुबह 8 बजे के हैं। आप अंदाजा लगाइये कि पूरे दिन में क्या स्थिति बनी होगी क्योंकि नए आंकड़े रविवार सुबह मिलेंगे। सिर्फ इतना ही नहीं अगर इन डेढ़ लाख लोगों के संपर्क में एक एक व्यक्ति भी आया हुआ मान लें तो अगले चौबीस घंटों का अनुमान आप लगा सकते हैं।


बीते चौबीस घंटो में भारत में कोरोना से 794 लोगों की जान भी गई है।


भारत में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 1.32 करोड़ को पार कर गया है। हांलाकि इनमें से 1.19 करोड़ से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं और 1,68,436 लोगों की मौत भी हुई है।


गिर गया रिकवरी रेट


कोरोना संक्रमण से ठीक होने वाले का औसत भी गिर गया है। रिकवरी रेट की ताजा रेटिंग 90.80 फीसद जबकि मृत्युदर 1.28 फीसद है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक सक्रिय मामले 10,46,631 हो गए हैं, जो कुल संक्रमितों का 7.93 फीसद है।


बीते तीन दिनों से लगातार एक लाख से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं जबकि पिछले पांच दिनों में चार दिन एक लाख से ज्यादा संक्रमित पाए गए हैं। साढ़े दस लाख के करीब सक्रिय मामलों में 72 फीसदी सिर्फ पांच राज्यों से हैं।


मध्‍य प्रदेश सरकार ने बढ़ाया लॉकडाउन


मध्‍य प्रदेश की शिवराज सरकार ने इंदौर समेत कई शहरों में लॉकडाउन को 19 अप्रैल तक बढ़ाया गया है। बालाघाट, नरसिंहपुर और सिवनी जिलों में 12 अप्रैल की रात से 22 अप्रैल की सुबह तक लॉकडाउन लगाया गया है। सीएम शिवराज सिंह का अनुमान है कि जिस तेजी से कोरोना एमपी में कहर ढा रहा है उससे महीने के आखिर तक सक्रिय मरीजों की संख्या एक लाख तक पहुंच सकती है।


दिल्ली में स्थिति भयावह


दिल्ली के एम्स में करीब सौ डाक्टर कोरोना संक्रमित हो गए हैं। जबकि सर गंगाराम अस्‍पताल के 37 डॉक्टर संक्रमित हो गए हैं। दिल्ली में फिलहला सभी सरकारी और निजी स्कूलों को अगले आदेश तक बंद हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लॉकडाउन को विकल्प मानने से इंकार करते हुए कुछ और प्रतिबंध लगाने की बात कही है।


देवभूमि उत्तराखंड में कोरोना कहर


उत्तराखंड में शनिवार को 24 घंटे के भीतर 1233 नए संक्रमित मिले हैं। जबकि तीन कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। वहीं, एक्टिव केस की संख्या 6241 पहुंच गई है। प्रदेश में अब तक 107479 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 97644 मरीज ठीक हो चुके हैं।

उत्तराखंड में अब तक 1752 कोरोना संक्रमित मरीजों की उपचार के दौरान मौत हो चुकी है। देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर में सबसे ज्यादा मामले मिल रहे हैं। इस बीच उत्तराखंड सरकार ने हरियाणा से आने वाली रोडवेज की बसों के राज्‍य में प्रवेश करने पर रोक लगा दी है। देहरादून और उत्तराखंड की तरफ हरियाणा से जाने वाली बसें केवल सीमा तक जाएंगी और वहीं से वापसी करेंगी।


महाराष्‍ट्र वीकेंड लॉकडाउन से पूर्ण लॉकडाउन की ओर


महाराष्ट्र के नागपुर में बीते 24 घंटे में यहां कोरोना के 5131 नए मामले सामने आए हैं जबकि 65 लोगों की मौत दर्ज की गई है। सूबे में हर दिन 50 हजार से ज्यादा नए मामले हर दिन सामने आ रहे हैं। उद्धव सरकार की मुश्किलें बढ़ीं तो सर्वदलीय बैठक बुलाई गई। कोरोना के खिलाफ सख्त कदम यानी पूर्ण लॉकडाउन लगाने पर चर्चा की गई। चर्चा के दौरान देवेंद्र फडणवीस पूरी तरह लॉकडाउन के सख्त खिलाफ दिखे। उन्होंने लॉकडाउन के अलावा अन्य कोशिशों से कोरोना पर काबू पाने की वकालत की।


फिलहाल महाराष्ट्र में वीकेंड लॉकडाउन लगाया गया है। शनिवार को मुंबई, पुणे, औरंगाबाद तथा नागपुर समेत राज्य के अधिकतर हिस्सों में सड़कें और बाजार सुने पड़े नजर आए। राज्‍य में वीकेंड लॉकडाउन एवं अन्य पाबंदियां 30 अप्रैल तक जारी रहेंगी।


इसके अलावा उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात और पंजाब की हालत भी बेहद खराब है। गुजरात में गांधीनगर निकाय चुनाव स्थगित कर दिया गया है। छत्तीसगढ़, पंजाब, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के कई जिलों में नाइट कर्फ्यू और सख्त पाबंदिया जारी हैं।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन