google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

काशी के शिल्पकार ने सोने, चांदी और हीरे से बनाई श्रीराम मंदिर की अनुकृति, भोग के लिए आगरा से आए 56 किस्म के पेठे, दो धागों से बने रामवस्त्र



 - 108 दिनों की कारीगरी से गुलाबी मीनाकारी के नेशनल अवॉर्डी हस्तशिल्पी ने बनाई मंदिर की अनुकृति

 

- शिल्पकार का दावा गुलाबी मीनाकारी से पहली बार बनाई गई है श्री राम मंदिर की रेप्लिका

 

- पीएम मोदी और सीएम योगी मेहमानों को देते हैं गुलाबी मीनाकारी से बने उपहार

 

- जीआई और ओडीओपी में शामिल है गुलाबी मीनाकारी, आज पूरी दुनिया में होती है इसकी डिमांड

 

वाराणसी, 16 जनवरी। भगवान श्रीराम की आस्था के सागर में पूरा देश सराबोर हो चुका है। हर कोई भगवान राम के काम में गिलहरी प्रयास करना चाह रहा है। किसी न किसी रूप में हर कोई श्रीराम मंदिर से अपने को जोड़ने का यत्न कर रहा है। ऐसे में गुलाबी मीनाकारी के राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित हस्तशिल्पी वाराणसी के कुंज बिहारी ने सोने, चांदी और डायमंड से 108 दिनों की मेहनत से श्री राम मंदिर की रेप्लिका बनाई है। जीआई और ओडीओपी उत्पादों में शुमार गुलाबी मीनाकारी की चमक पूरी दुनिया में है।

 

मंदिर की रेप्लिका में रामलला की सोने की मूर्ति भी मौजूद


वाराणसी के गाय घाट निवासी नेशनल अवॉर्डी शिल्पकार कुंज बिहारी का दावा है कि पहली बार गुलाबी मीनाकारी से श्रीराम मंदिर की अनुकृति बनाई गई है। इसको बनाने में 108 दिन का समय लगा है। गुलाबी मीनाकारी में सोने और चांदी का प्रयोग किया जाता है। राम मंदिर की अनुकृति लगभग 2.5 किलो की है जो 12 इंच ऊंची, 8 इंच चौड़ी और 12 इंच लम्बी है। इसमें सोना, करीब डेढ़ किलो चांदी और अनकट डायमंड शिखर पर लगाया गया है। प्रभु राम के मंदिर की अनुकृति 108 पार्ट्स से निर्मित किया गया है। मंदिर की रेप्लिका में रामलला की सोने की मूर्ति भी है।

 



श्रीराम मंदिर को समर्पित करना चाहते हैं अनुकृति


उन्होंने बताया कि इस अनुकृति को बनाने में श्री राम की कृपा रही है। पहली बार गुलाबी मीनाकारी से श्री राम मंदिर बनाने की जब कोशिश की जा रही थी, तब वह पहले तो आकार ही नहीं ले पा रही थी, मगर जब प्रभु श्रीराम का नाम लेकर तथा उनके भजन सुनते हुए काम शुरू किया गया तो देखते ही देखते गुलाबी मीनाकारी से मंदिर ने अपना स्वरूप ले लिया। उन्होंने बताया कि मोदी व योगी के प्रयासों से आज गुलाबी मीनाकारी को अंतरराष्ट्रीय पहचान मिल गई है। इसलिए इस नायब हुनर को मोदी और योगी के माध्यम से श्री राम मंदिर को समर्पित करना चाहते हैं।

 



विश्व के नेताओं को उपहार में दिये गये हैं गुलाबी मीनाकारी से बने उपहार


बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काशी के शिल्पियों के हुनर का बेजोड़ नमूना ग़ुलाबी मीनाकारी के उत्पाद उपहार में देते रहते हैं। प्रधानमंत्री मोदी अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरीस,ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मॉरिसन, जापान के प्रधानमंत्री और फ्रांस के मैनुअल माइक्रोन की पत्नी को भी जीआई प्रोडक्ट के अनोखे तोहफ़े दे चुके हैं। मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी की गुलाबी मीनाकारी को योगी आदित्यनाथ के प्रयासों से पंख लग गया है। अब ये उत्पाद लोकल टू ग्लोबल हो गया है। गुलाबी मीनाकारी की चमक विदेशों में चमकने लगी है।



 

रामोत्सव 2024 - भोग के लिए आगरा से आए 56 किस्म के पेठे

 



प्रसिद्ध पंछी पेठे की ओर से भेजा गया 560 किलो पेठा

 

- मुख्यमंत्री योगी की जनसहभागिता की अपील पर समाज का प्रत्येक तबका अपने सामर्थ्य के अनुसार अर्पित कर रहा भेंट

 

अयोध्या, 16जनवरी: अपने मूल स्थान पर प्रतिष्ठित होने जा रहे रामलला के लिए अनेक अमूल्य उपहार आ रहे हैं। इसी क्रम में आगरा के प्रसिद्ध पंछी पेठे की ओर से छप्पन अलग अलग स्वाद में श्री रामलला के भोग के लिए 56किस्म का 560 किलो पेठा पहुंचाया गया है।



मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जनसहभागिता की अपील पर समाज का प्रत्येक तबका अपने सामर्थ्य के अनुसार जुटा है। पेठे के अलावा अन्य स्थानों से रत्न जड़ित पोशाक, चांदी की थाल,पूजा सामग्री आदि भी मंदिर ट्रस्ट को मिली है। आगरा व्यापार मंडल की ओर से लाया गया पंछी पेठा कारसेवकपुरम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख रामलाल जी, विश्व हिन्दू परिषद के राजेन्द्र सिंह पंकज आदि की उपस्थिति में स्वीकारा गया।



 

रामोत्सव 2024 - अयोध्या में इस्कॉन ने खोला भोजनालय व अस्पताल

 



- अस्पताल में अभी तीन चिकित्सक और दस स्टाफ, रानोपाली में स्थापित हुआ भोजनालय

 

अयोध्या, 16जनवरी:  पूरी दुनिया में कृष्ण भक्ति की अलख जगाने वाली संस्था इस्कॉन ने प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दृष्टिगत अस्पताल और भोजनालय की स्थापना की है। इस्कॉन के बैनर तले विदेशी कलाकारों की टोली तुलसी उद्यान में रंगारंग कार्यक्रम भी प्रस्तुत करेगी। एनआरआई अभिषेक अग्रवाल दुबई से इसी कारण अयोध्या में हैं। भक्ति वेदांत अस्पताल वृंदावन के जन संपर्क अधिकारी सुरपति दास एवं अग्रवाल बताते हैं कि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट से समन्वय करके रानोपाली में भोजनालय और राम घाट चौराहे पर कार्यशाला के सामने अस्पताल स्थापित किया गया है। अस्पताल में अभी तीन चिकित्सक और दस अन्य स्टाफ है। इसमें अभी चिकित्सकों की संख्या बढ़ाई जाएगी। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस आयोजन में जनसहभागिता की अपील की थी।



 



माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी मंगलवार को अपने सरकारी आवास पट दो धागे- श्रीराम के लिए, 12 लाख से अधिक भक्तों की आस्था व जनसहयोग से तैयार श्रीरामलला के वस्त्रों के अर्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए।

Comments


bottom of page