google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

Indy Alliance is a group of conspirators, spreading propaganda against the government: Dr. Dinesh Sharma



इंडी गठबंधन षडयंत्रकारियों का समूह , कर रहा है सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार : डा दिनेश शर्मा


विपक्ष सत्ता पर काबिज होने का देख रहा है सपना


विपक्ष के रवैये के चलते लोकसभा अध्यक्ष के चुनाव के लिए नहीं बनी सहमति


कांग्रेस दूसरे दलों के सहारे कर रही है राजनीति


आपातकाल के समय जनता ने देखा था कांग्रेस सरकार का भयानक चेहरा



दिल्ली /लखनऊ। राज्यसभा सांसद व यूपी के पूर्व उपमुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने इंडी गठबंधन को षडयंकारियों का समूह बताते हुए कहा कि सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार करना इनका एकमात्र उद्देश्य है। वे येन केन प्रकारेण सत्ता पर काबिज होने का सपना देखते रहे हैं। लोकसभा अध्यक्ष के चुनाव के लिए सहमति नहीं बनने के लिए विपक्ष को जिम्मेदार बताते हुए उन्होंने कहा कि एनडीए की ओर से रक्षा मंत्री ने सहमति बनाकर लोकतंत्रिक परम्पराओं को बनाए रखने का प्रयास किया था पर विपक्ष की मंशा ठीक नहीं थी इसलिए उसने प्रत्याशी उतारा दिया है। अब दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।



पत्रकारों से बात करते हुए डा शर्मा ने कहा कि लोकसभा चुनाव में मोदी मैजिक ने देश भर में काम किया है। यह सही है कि कुछ सीटों का नुकसान हुआ है पर इसके बावजूद चार राज्यों सहित देश में एनडीए की सरकार बनी है। अरुणाचल,सिक्कम, उडीसा और आन्ध्र में जिस प्रकार से एनडीए की सरकार बनी है उससे यह साफ हो गया है कि भाजपा पूरे देश की पार्टी बन चुकी है। भाजपा को काडर आधारित दल बताते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में तीसरी बार एनडीए की सरकार बनी है।


सांसद ने कहा कि कांग्रेस बैसाखी वाली पार्टी है जिसका अपना कोई अस्तित्व नहीं है और दूसरे दलों पर आश्रित होकर राजनीति कर रही है। चुनाव में 100 का आंकडा पार नहीं करने वाली कांग्रेस जीत का जश्र मना रही है। हाल यह है कि विपक्ष के सभी दल ने मिलकर जितनी सीट जीती है भाजपा ने अकेले उससे कही अधिक सीटों पर जीत दर्ज की है। विपक्ष आज भी जनता के बीच में भ्रम फैला रहा है।


उन्होंने नोएडा भाजपा कार्यालय सभागार में एकत्रित जन समूह को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए कहा कि आज 25 जून है जिसे देश के लोकतंत्र के इतिहास में काला दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन देश में आपातकाल लगा था और जनता को कांग्रेस की तत्कालीन सरकार का लोकतंत्र एवं संविधान विरोधी सबसे भयानक चेहरा देखने को मिला था । तब देश की जनता ने कांग्रेस सरकार का जनता पर अत्याचार का तांडव देखा था। आज संविधान को बदलने का आरोप लगाने वाली कांग्रेस की तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल लगाने के एक दिन बाद अपने मंत्रिमंडल को उस निर्णय की सूचना दी थी। ऐसा करके उन्होंने संविधान की धज्जियां उडा दी थी। देश के राष्ट्रपति पर दबाव डालकर एक दिन बाद इस निर्णय पर हस्ताक्षर कराए गए थे।आपातकाल लगाकर डेढ लाख लोगों को जेल में डाला गया था। मीडिया पर भी प्रतिबंध लगाया गया था। कांग्रेस की सरकारों ने 50 से अधिक बार संविधान को बदला है । 92 बार संवैधानिक तरीके से चीन की सरकारों को बर्खास्त किया है।


लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश के परिणाम पर उन्होंने कहा कि इस बार भी भाजपा को सपा से आठ प्रतिशत मत अधिक मिला है पर सीट कम रह गईं। ये परिणाम बेहतर हो सकते थे। पार्टी कमियों की समीक्षा कर रही है। आपातकाल विरोधी दिवस के अवसर पर नोएडा भाजपा कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में क्षेत्रीय सांसद श्री महेश शर्मा पूर्व राज्यसभा सांसद कांता कर्दम महानगर अध्यक्ष मनोज गुप्ता एवं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता गोपाल कृष्ण अग्रवाल सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।



39 views0 comments

Σχόλια


bottom of page