google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

आत्मघाती हमले की थी साजिश, सुरक्षाबलों ने ऐसे बनाई रणनीति और टाल दिया “पुलवामा-2”

Updated: May 29, 2020



श्रीनगर के पुलवामा में पुलिस, सेना और सीआरपीएफ की मदद से एक बड़ा आतंकी हमला होने से टल गया। सुरक्षाबलों ने आईईडी से लदी सैंट्रो कार को समय रहते ही ट्रैक किया और उसे डिफ्यूज कर दिया। हालांकि कार ड्राइवर आतंकी मौके से फरार हो गया जिसकी तलाश की जा रही है। कश्मीर पुलिस आईजी विजय कुमार ने बताया कि इस साजिश के पीछे मुख्य रूप से जैश-ए-मोहम्मद का हाथ था जिसमें हिजबुल मुजाहिदीन भी उसे मदद कर रहा था।

आईजी विजय कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंसिंग में बताया, 'हमें पिछले एक हफ्ते से इनपुट मिल रहे थे कि जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मिलकर आत्मघाती हमले की फिराक में हैं। इसमें ये कार बम का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके बाद ही सारी एजेंसियां चौकन्ना थीं। कल दिन में हमारी जानकारी पुख्ता हो गई। इसके बाद शाम को पुलवामा पुलिस ने सीआरपीएफ, सेना ने कार को ट्रैक करके कई जगह नाका लगाया।

Advt

अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गया आतंकी


आईजी ने बताया, 'नाका पार्टी ने वॉर्निंग फायर किया जिसके बाद आतंकियों ने गाड़ी घुमाकर भागने की कोशिश की। इसके बाद उन्हें दूसरी वार्निंग दी गई जिसमें आतंकी अंधेरे में चकमा देकर फरार हो गया और कार वहीं छूट गई। हमारी पार्टी ने दूर से देखा और सुबह होने का इंतजार किया। सुबह सेना के साथ बम डिफ्युजल की टीम वहां पहुंची और बम का पता लगाया। इसके बाद वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी करके बम को सुरक्षित तरीके से डिफ्यूज किया गया। इस तरह बहुत बड़ा हादसा होने से टाल दिया गया।


Advt.

जंग-ए-बद्र के दिन ही होना था हमला

आईजी ने बताया, 'हमारे पास इनपुट्स थे कि जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी इस कार्रवाई को करने वाला था। और यह जंग-ए-बद्र के दिन ही करना था। लेकिन सेना ने निगरानी बढ़ा दी और बहुत सारी एहतियात बरती गई। सेना के ऑपरेशन के चलते वह नहीं कर पाया। आदिल डार जो हिजबुल मुजाहिदी का आतंकी है, जैश के साथ भी रहता है। जैश का फौजी भाई जो पाकिस्तानी कमांडर है, तीनों ने मिलकर इसको अंजाम देने वाले थे।


40 से 45 किलो तक था विस्फोटक


शुरुआती इनपुट थे कि कार में 25 किलो तक विस्फोटक हो सकता है लेकिन जिस हिसाब से विस्फोट होने के बाद मलबा 50 मीटर तक ऊपर उठा था जिससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि 40 और 45 किलो तक आईईडी होगा।


Advt.

सुरक्षाबलों ने टाला बड़ा आतंकी हमला


पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों पर कार में आईईडी भरकर हमले की बड़ी साजिश को नाकाम किया गया था। सुरक्षाबलों ने पुलवामा के आइनगुंड इलाके में एक सैंट्रो कार में ले जा रही आईईडी को बरामद किया था। जिस वाहन में यह आईईडी मिली है, उसपर लगी नंबर प्लेट पर कठुआ का नंबर लिखा हुआ था। कार में विस्फोटक इतनी भारी मात्रा में लदा था कि सुरक्षाबलों को उसे उड़ाना पड़ा।

डोभाल ने मोदी को दी जानकारी


जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आईईडी के जरिए जवानों पर हमला करने की आतंकियों की साजिश सुरक्षाबलों ने नाकाम कर दी है। पुलवामा की घटना के बारे में पीएम नरेंद्र मोदी को जानकारी दी गई है। यह जानकारी एनएसए अजित डोभाल ने पीएम मोदी तक पहुंचाई।

Advt.

कार पर जेके-08 1426 नंबर की प्लेट लगी है, जो कि कठुआ का नंबर है। जम्मू संभाग का कठुआ इलाका सीमांत क्षेत्र है और यहां के हीरानगर इलाके को पाकिस्तानी घुसपैठ के लिहाज से बेहद संवेदनशील माना जाता है। ऐसे में इस कार में विस्फोटकों के मिलने के पीछे किसी पाकिस्तानी साजिश का शक भी जताया जा रहा है।


टीम स्टेट टुडे

6 views0 comments