google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

ज्ञानपावी मस्जिद के सर्वे पर अखिलेश की प्रतिक्रिया, बोले-जानबूझकर किया गया घटनाक्रम


लखनऊ, 17 मई 2022 : वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे की तीन दिन की कार्यवाही समाप्त होने के बाद आज समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव की इस पर पहली बार प्रतिक्रिया सामने आई है। अखिलेश यादव ने इसको जानबूझकर किया गया भाजपा का घटनाक्रम बताया है।

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे को भारतीय जनता पार्टी का प्रोपोगेंडा बताया है। उन्होंने कहा कि जनता का ध्यान भटकाने के लिए भारतीय जनता पार्टी थोड़े-थोड़े समय के अंतराल पर इस तरह के घटनाक्रम जानबूझकर करती है। इस तरह के घटनाक्रमों में या तो भारतीय जनता पार्टी खुद बेहद सक्रिय भूमिका में रहती है या तो भाजपा के अदृश्य मित्र होते हैं। विकास की झूठी बात करने वाली भाजपा की जमीनी हकीकत सामने आने लगी है।

अखिलेश यादव ने कहा कि देश तथा प्रदेश में भाजपा बुनियादी सवालों का जवाब नहीं देना चाहती। उन्होंने कहा कि बीते कई महीने से हर चीज महंगी होती चली जा रही है। ईंधन और खाद्य सुविधाएं महंगी हो रही हैं। भाजपा के पास बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी पर उनके पास जवाब नहीं है। देश के गरीब, किसान तथा नौजवान काफी परेशान हैं। लम्बे समय से सेना में भर्ती रोक दी गई है। भाजपा के शासन में ना तो किसान खुश है और ना ही जवान के चेहरे पर हंसी है।

भाजपा इस ओर ध्यान ना देकर जनता का ध्यान भटकाने में माहिर है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने आजमगढ़ में कहा कि वाराणसी का ज्ञानवापी मस्जिद का मामला हो या फिर धर्म के जुड़े अन्य प्रकरण, भाजपा जनता का ध्यान भटकाने में लगी रहती है। भाजपा तो कभी-कभी परदे के पीछे से भी काफी सक्रिय हो जाती है। किसी भी राज्य में चुनाव तक भाजपा कई तरह के ऐसे मामलों के कैलेंडर तैयार रखती है। भाजपा के पास समाज में नफरत के बीज बोने वाला कार्यक्रम हमेशा से ही तैयार रहता है।
33 views0 comments

Comentarios


bottom of page