google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

जानिए क्यों प्रसपा नेताओं ने बनाई चुनाव से दूरी, कुछ तो शिवपाल की मजबूरी...


लखनऊ, 8 फरवरी 2022 : लखनऊ जिले की सभी नौ विधानसभा सीटों पर टिकट कटने से नाराज अपनों की नाराजगी का सामना कर रही समाजवादी पार्टी को अब शिवपाल सिंह यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया का सहयोग भी नहीं मिल रहा है। प्रसपा लोहिया के दो पदाधिकारियों ने जहां सपा के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है। वहीं शेष अन्य सात सीटों पर अब प्रसपा लोहिया के पदाधिकारियों ने चुनाव से दूरी बना ली है।

प्रसपा लोहिया के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व मंत्री शारदा प्रताप शुक्ल ने जहां पहले सरोजनीनगर से निर्दलीय ही नामांकन कर दिया। वहीं पिछले दिनों उन्होंने भाजपा की सदस्यता भी ले ली। लखनऊ कैंट से प्रसपा लोहिया से घोषित इंजीनियर अजय कुमार ने पाला बदलकर आम आदमी पार्टी की सदस्यता ले ली। अब इंजीनियर अजय कुमार आम आदमी पार्टी के लखनऊ कैंट के उम्मीदवार हैं। लखनऊ उत्तर से प्रसपा लोहिया के प्रदेश महासचिव अजय त्रिपाठी मुन्ना तैयारी कर रहे थे। यहां से सपा ने छात्रनेता पूर्व शुक्ला को उतारा है। ऐसे में अजय त्रिपाठी मुन्ना ने भी सपा के जनसंपर्क की दूरी बना ली है।

उन्होंने अपने व्यापार मंडल में सक्रियता बढ़ा दी है। बख्शी का तालाब से टिकट मांग रहे प्रसपा लोहिया के जिलाध्यक्ष रंजीत यादव भी सपा की सूची जारी होने के बाद से गायब चल रहे हैं। सूची जारी होने से पहले रंजीत यादव ने गोसाईंगंज में प्रसपा लोहिया की सपा के पक्ष में साइकिल यात्रा का आयोजन किया था। इसी तरह लखनऊ पश्चिम, लखनऊ मध्य, लखनऊ पूर्व , मलिहाबाद, मोहनलालगंज में भी प्रसपा लोहिया की कमेटी सपा के साथ चुनाव मैदान में नहीं उतरी है। प्रसपा लोहिया के इंदिरानगर स्थित महानगर कार्यालय में संगठन को लेकर भी बैठकें हो रही हैं। सपा प्रत्याशियाें के समर्थन में चुनाव प्रचार करने से महानगर के पदाधिकारी भी बच रहे हैं।

11 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0