google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

ललितपुर कांड को लेकर यूपी में सियासत गर्म, अखिलेश, शिवपाल और प्रियंका ने उठाए सवाल


लखनऊ, 4 मई 2022 : उत्तर प्रदेश के ललितपुरमें सामूहिक दुष्‍कर्म कीशिकार किशोरी सेथाने में दुष्कर्मकी घटना परसियासत भी गरमानेलगी है। विपक्षइस मद्दे कोजोरशोर से उठातेहुए योगी सरकारकी घेराबंदी मेंजुट गया है।समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्षअखिलेश यादव पीड़ि‍ता औरउसके परिवार सेमिलने के लिएरवाना हो गएहैं, जबकि उनकेचाचा और प्रगतिशीलसमाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष शिवपालसिंह यादव नेभी सरकार परगंभीर सवाल खड़ेकिए हैं। कांग्रेसमहासचिव प्रियंका गांधी वाड्राने भी कहाहै कि 'बुलडोजर' के शोर मेंकानून-व्यवस्था केअसल सुधारों कोकैसे दबाया जारहा है।

ललितपुर के पालीथाने में सामूहिकदुष्‍कर्म पीड़ि‍ता केसाथ दुष्कर्म कीघटना ने वर्दीको दागदार करनेके साथ पुलिसकी कार्यप्रणाली परभी सवाल खड़ेकिए हैं। अबतक पीड़िता कीमौसी सहित तीनआरोपियों को गिरफ्तारकिया जा चुकाहै जबकि निलंबितकिया जा चुकाआरोपी थानेदार तिलकधारीसरोज अब तकफरार है। पुलिसकी तीन टीमेंसरोज और अन्‍य आरोपियोंकी तलाश मेंजुटी हैं।

इस बीचउत्तर प्रदेश मेंइस मुद्दे परसियासत शुरू होगई। बुधवार कोपीड़िता से मिलनेके लिए रवानाहोने से पहलेसपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्षअखिलेश यादव नेएक ट्वीट मेंलिखा कि 'न्‍याय कोही लोगों केदरवाजे तक नहींपहुंचना होता है…कभी-कभीन्याय की पुकारके लिए भीलोगों के दरवाजेतक जाना होताहै।'

प्रसपा के अध्‍यक्ष शिवपालसिंह यादव नेभी इस मुद्देपर सरकार कीघेराबंदी की है।उन्‍होंने ट्वीटमें लिखा-'ललितपुरमें एक 13 सालकी बच्ची केसाथ सामूहिक दुष्‍कर्म औरफिर शिकायत लेकरजाने पर थानेदारद्वारा दुष्‍कर्मकी घटना पुलिसव्यवस्था की निष्ठुरताव नृशंसता कीबानगी भर है।न जाने कितनीनिरीह बेटियां ऐसीहोंगी जिनके अपमानकी करुण कथानौकरशाही व पुलिसव्यवस्था की परिधिसे बाहर हीन आ पातीहोंगी।'

शिवपाल सिंह यादवने एक अन्‍य ट्वीटमें लिखा- 'निसंदेहउत्तर प्रदेश बेटियोंके लिए इतनाअसुरक्षित और असंवेदनशीलकभी नहीं था! प्रदेश सरकार को थानोंमें महिलाओं कीतैनाती बढ़ाने और थानोंको महिलाओं केलिए सुरक्षित बनानेके लिए गंभीरतासे प्रयास करनाहोगा। साथ हीहमारी यह भीमांग है किदोषियों के खिलाफसख्त कार्रवाई होनीचाहिए।'

कांग्रेस महासचिव प्रियंकागांधी वाड्रा नेनाबालिग से दुष्कर्मको शर्मनाक बतातेहुए कानून-व्‍यवस्‍थाके मोर्चे परयोगी सरकार कोघेरा है। उन्‍होंने भी ट्वीटकर कहा कि ' ललितपुर में एक 13 साल की बच्चीके साथ सामूहिकदुष्‍कर्म औरफिर शिकायत लेकरजाने पर थानेदारद्वारा दुष्‍कर्मकी घटना दिखातीहै कि 'बुलडोजर' के शोर मेंकानून व्यवस्था केअसल सुधारों कोकैसे दबाया जारहा है।'

प्रियंका ने अपनेट्वीट में आगेलिखा कि 'अगरमहिलाओं के लिएथाने ही सुरक्षितनहीं होंगे तोवो शिकायत लेकरजाएंगी कहां?' उन्‍होंनेसवाल उठाया कि 'क्या उत्तर प्रदेशसरकार ने थानोंमें महिलाओं कीतैनाती बढ़ाने, थानों कोमहिलाओं के लिएसुरक्षित बनाने के लिएगंभीरता से सोचाहै?'

प्रियंका गांधी वाड्राने यह भीयाद दिलाया किकांग्रेस पार्टी ने अपनेमहिला घोषणा पत्रमें महिला सुरक्षाके लिए कईमहत्वपूर्ण बिंदु रखे थे।प्रियंका ने लिखा 'आज ललितपुर है...ऐसी घटनाओंको रोकने केलिए महिला सुरक्षाऔर महिला हितैषीकानून व्यवस्था केलिए गंभीर कदमउठाने ही होंगे।'
11 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0