google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

लोकसभा उपचुनाव में सपा के लिए गढ़ बचाना चुनौती, दोनों सीटों पर भाजपा से कड़ा मुकाबला


लखनऊ, 10 जून 2022 : समाजवादी पार्टी के सामने लोकसभा की दो सीटों आजमगढ़ और रामपुर के उपचुनाव में अपना गढ़ बचाना चुनौती है। आजमगढ़ सीट सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव व रामपुर सीट आजम खां के इस्तीफे के बाद खाली हुई है। दोनों ही सीटों पर भाजपा और सपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिलेगा। आजमगढ़ में बसपा के मजबूती से चुनाव लड़ने के कारण सपा की मुश्किलें बढ़ गईं हैं। ऐसे में आजमगढ़ में मुलायम सिंह यादव परिवार और रामपुर में आजम खां की प्रतिष्ठा दांव पर है।

आजमगढ़ में भाजपा ने भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ को फिर टिकट दिया है तो बसपा ने शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली के रूप में मुस्लिम उम्मीदवार को मैदान में उतारा है। इस सीट पर यादव व मुस्लिम दोनों ही बिरादरी सपा के आधार वोट माने जाते हैं। इसलिए माना जा रहा है कि दोनों ही प्रत्याशी सपा के आधार मतों में सेंधमारी करेंगे। सपा ने यहां धर्मेंद्र यादव को प्रत्याशी बनाया है।

आजमगढ़ लोकसभा क्षेत्र में यादव 22 प्रतिशत, मुस्लिम 18 प्रतिशत, दलित 20 प्रतिशत व गैर यादव ओबीसी मतदाता करीब 18 प्रतिशत हैं। इस लोकसभा सीट में आजमगढ़, मुबारकपुर, सगड़ी, गोपालपुर व मेहनगर विधानसभा क्षेत्र आते हैं जिनमें सपा का कब्जा है। वर्ष 2019 के चुनाव के वक्त सपा-बसपा का गठबंधन था, जिसमें अखिलेश यादव को 6.21 लाख और भाजपा के दिनेश लाल यादव को 3.61 लाख मत मिले थे। स्थिति साफ है कि वर्ष 2019 में यादव, मुस्लिम के साथ दलित वोट भी सपा के साथ था।

इस बार बसपा ने शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली को मैदान में उतार कर मुस्लिम-दलित गठजोड़ का दांव खेला है। दो बार के विधायक गुड्डू जमाली की क्षेत्र में साख भी अच्छी है। इन परिस्थितियों में सपा के सामने यादव व मुस्लिम वोट बैंक को अपने पाले में बनाए रखना चुनौती है। बसपा के चुनाव मैदान में डटने से दलित मतदाताओं के वोट सहेजना भी सपा के लिए आसान नहीं है।

वहीं, रामपुर लोकसभा सीट पर आजम खां के दो करीबियों के बीच सीधा मुकाबला है। इस सीट पर सपा ने आजम खां के नजदीकी व नगर अध्यक्ष आसिम रजा को मैदान में उतारा है तो भाजपा ने घनश्याम लोधी को टिकट दिया है। सपा से नाता तोड़कर भाजपा में जाने वाले घनश्याम भी कभी आजम के बेहद करीबी थे। रामपुर लोकसभा सीट में स्वार, चमरव्वा, बिलासपुर, रामपुर और मिलक विधानसभा सीटें हैं। वर्ष 2019 में आजम खां को करीब 5.59 लाख और भाजपा की जयाप्रदा को 4.49 लाख मत मिले थे। भाजपा ने घनश्याम लोधी को मैदान में उतार कर सपा की मुश्किलें बढ़ा दी हैं।

1 view0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0