google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

'मन की बात' में बोले पीएम मोदी- 30 लाख करोड़ के एक्सपोर्ट के लक्ष्य को किया हासिल


नई दिल्ली, 27 मार्च 2022 : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 'मन की बात' कार्यक्रम को संबोधित कर रहे हैं। पांच राज्यों में चुनाव संपन्न होने के बाद पीएम मोदी कार्यक्रम को संबोधित कर रहे हैं। 'मन की बात' में पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा कि भारत ने 30 लाख करोड़ के निर्यात का लक्ष्य हासिल कर लिया है। यह भारत की क्षमताओं और क्षमता को दर्शाता है। इसका मतलब है कि दुनिया में भारतीय सामानों की मांग बढ़ रही है।

'7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाएंगे'

पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम के दौरान कहा कि हम 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाएंगे। आज पूरे विश्व में हेल्थ को लेकर भारतीय चिंतन चाहे वो योग हो या आयुर्वेद इसके प्रति रुझान बढ़ता जा रहा है। पिछले ही सप्ताह कतर में एक योग कार्यक्रम में 114 देशों के नागरिकों ने हिस्सा लेकर एक नया विश्व रिकार्ड बनाया है। आयुष उद्योग का बाजार लगातार बड़ा हो रहा है। छह साल पहले आयुर्वेद से जुड़ी दवाइयों का बाजार 22 हजार करोड़ रुपये के आसपास का था। आज आयुष विनिर्माण उद्योग एक लाख चालीस हजार करोड़ रुपये के आसपास पहुंच गया है।

'हर जिले में कम से कम 75 अमृत सरोवर बनाए जा सकते हैं'

पीएम मोदी ने कहा कि जैसे आजादी के अमृत महोत्सव में हमारे देश के हर जिले में कम से कम 75 अमृत सरोवर बनाए जा सकते हैं। कुछ पुराने सरोवरों को सुधारा जा सकता है, कुछ नए सरोवर बनाए जा सकते हैं। मुझे विशवास है कि आप इस दिशा में कुछ ना कुछ प्रयास जरूर करेंगे।

माधवपुर मेले का पीएम मोदी ने किया जिक्र

पीएम मोदी ने पूर्वोत्तर में लगने वाले माधवपुर मेला का जिक्र किया। पीएम मोदी ने कहा कि माधवपुर मेला कहां लगता है? क्यों लगता है? कैसे ये भारत की विविधता से जुड़ा है? ये जानना 'मन की बात' के श्रोताओं को बहुत रोचक लगेगा। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह तक भारत के पूरब और पश्चिम की संस्कृतियों का ये मेल, ये माधवपुर मेला, एक भारत- श्रेष्ठ भारत की बहुत सुन्दर मिसाल बना रहा है। पीएम मोदी ने कहा, मेरा आपसे आग्रह है, आप भी इस मेले के बारे में पढ़ें और जानें।

पीएममोदी ने जलसंरक्षण पर दियाजोर

पीएममोदी ने जलसंरक्षण पर जोरदिया। उन्होंने कहाकि मैं तोउस राज्य सेआता हूं, जहांपानी की हमेशाबहुत कमी रहीहै। गुजरात मेंइन को वावकहते हैं। गुजरातजैसे राज्य मेंवाव की बड़ीभूमिका रही है।इन कुओं याबावड़ियों के संरक्षणके लिए ‘जलमंदिर योजना’ नेबहुत बड़ी भूमिकानिभाई है। पूरेगुजरात में अनेकोंबावड़ियों को पुनर्जीवितकिया गया। इससेइन इलाकों मेंवाटर लेवेल कोबढ़ाने में भीकाफी मदद मिली।ऐसे ही अभियानआप भी स्थानीयस्तर पर चलासकते हैं। हमारेदेश में जलसंरक्षण, जल स्रोतोंकी सुरक्षा, सदियोंसे समाज केस्वभाव का हिस्सारहा है। मुझेखुशी है किदेश में बहुतसे लोगों नेको जिंदगी कामकसद ही बनादिया है।

पीएममोदी ने कियाआगामी पर्व काजिक्र

पीएममोदी ने अप्रैलमें आने वालेपर्व का भीजिक्र किया। पीएमने कहा किसंयम और तपभी हमारे लिएपर्व ही है, इसलिए नवरात्र हमेशासे हम सभीके लिए बहुतविशेष रहा है।कुछ ही दिनबाद ही नवरात्रहै। नवरात्र मेंहम व्रत-उपवास, शक्ति की साधनाकरते हैं, शक्तिकी पूजा करतेहैं, यानी हमारीपरम्पराएं हमें उल्लासभी सिखाती हैंऔर संयम भी।हम सबको साथलेकर अपने पर्वमनाएं, भारत कीविविधता को सशक्तकरें, सबकी यहीकामना है।

आजभारत 30 लाख करोड़तक पहुंचा- पीएममोदी

पीएममोदी ने कहाकि एक समयमें भारत सेएक्सपोर्ट का आंकड़ाकभी 100 बिलियन, कभी डेढ़सौ बिलियन तकहुआ करता था, आज भारत 30 लाखकरोड़ तक पहुंचगया है। इसकामतलब ये हैकि दुनिया भरमें भारत मेंबनी चीजों कीमांग बढ़ रहीहै, दूसरा मतलबये है किभारत की सप्लाईचेन दिनों-दिनऔर मजबूत होरही है औरइसका एक बहुतबड़ा संदेश भीहै। पीएम मोदीने कहा पहलेयह माना जाताथा कि केवलबड़े लोग हीसरकार को उत्पादबेच सकते हैं, लेकिन सरकारी ई-मार्केटप्लेस पोर्टल ने इसेबदल दिया है।यह एक नएभारत की भावनाको दर्शाता है।

महात्माफुले और बाबासाहेबसे जुड़ी जगहोंपर जाएं लोग- पीएम

अप्रैलके महीने मेंहम दो महानविभूतियों की जयंतीभी मनाएंगे। इनदोनों ने हीभारतीय समाज परअपना गहरा प्रभावछोड़ा है। येमहान विभूतियां हैं- महात्मा फुले औरबाबा साहब अम्बेडकर।साथियो, महात्मा फुले कीइस चर्चा मेंसावित्रीबाई फुले जीका भी उल्लेखउतना ही जरूरीहै। पीएम मोदीने कार्यक्रम केदौरान कहा किमैं ‘मन कीबात’ के श्रोताओंसे आग्रह करूंगाकि वे महात्माफुले, सावित्रीबाई फुलेऔर बाबासाहेब अम्बेडकरसे जुड़ी जगहोंके दर्शन करनेजरुर जाएं। आपकोवहां बहुत कुछसीखने को मिलेगा।

भारतकी संस्कृति हमारीबहुत बड़ी ताकतहै- पीएम मोदी

पीएममोदी ने मनकी बात मेंकहा कि पूरबसे पश्चिम तक, उत्तर से दक्षिणतक भारत कोयही विविधता, एककरके रखती हैंऔर एक भारत-श्रेष्ठ भारत बनातीहैं। इसमें भीहमारे ऐतिहासिक स्थलोंऔर पौराणिक कथाओं, दोनों का बहुतयोगदान है। भारतकी संस्कृति, हमारीभाषाओं, हमारी बोलियां, हमारेरहन-सहन, खान-पान काविस्तार, ये सारीविविधताएं हमारी बहुत बड़ीताकत है। मेरेप्यारे देशवासियो ‘मन कीबात’ उसकी एकखूबसूरती ये भीहै कि मुझेआपके सन्देश बहुतसी भाषाओं, बहुतसी बोलियों मेंमिलते हैं।

दुकानदारोंने अपना सामानसरकार को सीधेबेचा- पीएम मोदी

प्रधानमंत्रीनरेन्द्र मोदी नेकहा कि पिछलेएक साल में GeM पोर्टल के जरिएसरकार ने 1 लाखकरोड़ रुपये सेज्यादा की चीज़ेखरीदी हैं। देशके कोन-कोनेसे करीब-करीबसवा लाख लघुउद्यमियों, छोटे दुकानदारोंने अपना सामानसरकार को सीधेबेचा है।

पीएममोदी ने कियाबाबा शिवानंद काजिक्र

पीएममोदी ने कार्यक्रममें बाबा शिवानंदका जिक्र किया।पीएम मोदी नेकहा कि हालही में संपन्नहुए पद्म पुरस्कारोंमें आपने बाबाशिवानंद को देखाही होगा। 126 सालके बुजुर्ग कीफुर्ती देखकर मेरी तरहहर कोई हैरानहो गया होगाऔर मैंने देखापलक झपकते हीवो नंदी मुद्रामें प्रणाम करनेलगे। मैंने भीबाबा शिवानंद जीको झुककर प्रणामकिया। आपको बतादें कि मनकी बात प्रधानमंत्रीका मासिक रेडियोसंबोधन है, जोहर महीने केआखिरी रविवार कोसुबह 11 बजे प्रसारितहोता है। मनकी बात कापहला एपिसोड 3 अक्टूबर 2014 को प्रसारित किया गयाथा।

9 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0