google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

सृजन फाउंडेशन ने आयोजित किया ऑनलाइन माहवारी स्वच्छता अभियान



मेंस्ट्रुअल हेल्थ अवेयरनेस डे (5 फरवरी) के उपलक्ष्य में सृजन फाउंडेशन के माहवारी स्वच्छता अभियान 'हिम्मत' के अंतर्गत 1 फरवरी से 5 फरवरी तक पीरियड्स अवेयरनेस कैंपेन चलाई जा रही है जिसमें ऑनलाइन एक्टिविटीज कराई जा रही हैं।


इसी श्रृंखला में आज पहले दिन महिलाओं ने लाल साड़ी पहनकर हाथ में चार्ट पेपर पर पीरियड्स से संबंधित कुटेशन लिखे। लाल साड़ी पहनकर उन्होंने अपने माहवारी पर गर्व होने को प्रदर्शित किया।


स्नेह बिंदल ने लिखा- औरत की शान है माहवारी,

ममता की पहचान है माहवारी।

ईश्वर का वरदान है माहवारी,

नारी होने का गर्व है माहवारी।



शशिप्रभा सिंह-

हम दाग छुपाएंगे अगर, तो सृष्टि कौन रचेगा।

लाल होने से घबराएंगे, तो सृष्टि कौन रचेगा।



नीरजा द्विवेदी-

माहवारी है, तभी तो सृष्टि सारी है।



रश्मि पांडेय ने मर्दों को चुनौती देते हुए लिखा-

वो भारी ब्लीडिंग और दर्द को हंसते हुए बिताती है, उसके बाद भी तुमको लगता है कि दुनिया जीतने के लिए उसको तुम्हारी जरूरत है।



स्वाति जैन-

यह लाल ही लाल को पैदा करता है, यह रंग ही बेरंग जिंदगी में रंग भरता है।



ज्योती किरन रतन-

मासिक धर्म, शर्म नही है।

सर्व धर्म वंशवृद्धी का धर्म है।

हटाओ शर्म, अपनाओ हिम्मत।

यह है नारी का धर्म।



जया सिंह-

मासिक चक्र से न रहो अंजान,

करो स्त्री शक्ति पर अभिमान।



संध्या बाठला- मैं अपने पीरियड्स की वजह से गौरवान्वित माँ हूँ, इसलिए मुझे ब्लीडिंग होने पर गर्व है।

शालिनी सिंह ने गर्व से कहा Say 'Yes' to Periods.



टीम स्टेट टुडे


advt.
advt.

62 views0 comments

Comentários


bottom of page