google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

मंत्री दिनेश प्रताप सिंह ने सीएम को भेजा पत्र, अफसरों पर उठाए सवाल


लखनऊ, 13 सितंबर 2022 : योगी आदित्यनाथ सरकार मेंराज्यमंत्री दिनेश खटीक केकैबिनेट मंत्री के कार्यबंटवारा ना करनेकी शिकायत केबाद अब मंत्रीदिनेश प्रताप सिंहने विभाग मेंभ्रष्टाचार को लेकरसीएम योगी आदित्यनाथको पत्र लिखाहै। विधान परिषदसदस्य दिनेश प्रतापसिंह रायबरेली सेलोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेसकी सोनिया गांधीके खिलाफ भाजपासे प्रत्याशी थे।

दिनेश प्रताप सिंह, राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार उद्यान, कृषि विपणन, कृषिविदेश व्यापार तथाकृषि निर्यात विभागने सीएम योगीआदित्यनाथ को तीनपेज का पत्रभेजा है। उन्होंनेमंडी परिषद मेंभ्रष्टाचार के साथही अपने मंत्रालयमें सभी विकासकार्यों में भ्रष्टाचारकी जानकारी दीहै। इतना हीनहीं मंडी परिषदके अफसरों परभी सवाल उठाएहैं। उनका आरोपहै कि अफसरोंने गोदाम केसीसीटीवी कैमरा खराब करनेके साथ हीनिर्माण कार्यों में भीकाफी घपला कियाहै।

मंत्री दिनेश प्रतापने पत्र मेंअधिकारियों पर भष्ट्राचारका आरोप लगायाहै। उन्होंने मुख्यमंत्रीको लिखा कीआपकी व्यस्तता काफायदा उठाकर अफसरपैसा बनाने मेंलगे है। उन्होंनेकहा कि मैंनेमंडी समितियों केकामकाज के बारेमें प्रतिक्रिया देनेकी नियमित कवायदके रूप मेंमुख्यमंत्री को पत्रलिखा है।

बैठक कीवीडियो रिकॉर्डिंग भी कराई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथमंडी परिषद बोर्डके अध्यक्ष हैं।उन्होंने ही दिनेशप्रताप सिंह कोमंत्री के रूपमें मासिक बोर्डबैठक की अध्यक्षताकरने के लिएअधिकृत किया है।मंत्री दिनेश प्रताप नेविभिन्न क्षेत्रों से मंडियोंमें हो रहीवित्तीय अनियमितताओं और भ्रष्टाचारके बारे मेंमिल रही शिकायतोंके बाद 16 अगस्तको बोर्ड कीबैठक बुलाई थी।इस बैठक मेंठेकेदारों और अधिकारियोंको बुलाया औरइस ही बैठककी वीडियो रिकॉर्डिंगका आदेश दिया।

बैठक केबीस दिन बादमुख्यमंत्री को लिखापत्र

मंत्री ने बैठकके करीब 20 दिनबाद मंत्री नेपांच सितंबर कोमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथको पत्र लिखकरसरकारी मंडियों में होरही वित्तीय औरप्रशासनिक अनियमितताओं की जानकारीदी। मंत्री नेअपने पत्र मेंकहा है किट्रक और ट्रैक्टरोंमें बिक्री केलिए लाए गएसामानों को तौलनेऔर रिकार्ड करनेके लिए मंडियोंमें लगाए गईतुलाचौकी अक्सर काम हीनहीं करती है।रिष्ठ अधिकारियों कीमिलीभगत से तुलाचौकीके पास एकवैकल्पिक रास्ता बनाया गया।अधिकांश वाहन मंडियोंके अंदर जानेके लिए उसीरास्ते का प्रयोगकरते हैं।

मंडी केसीसीटीवी कैमरे हैं खराब

मंत्री ने पत्रमें यह भीकहा कि मालके आगमन औरप्रस्थान को रिकार्डकरने के लिएमंडियों में लगाएगए सीसीटीवी कैमरोंको या तोखराब कर दियागया है यामंडी शुल्क सेबचने के लिएजानबूझकर डायवर्ट किया गयाहै। प्रतिबंध केबाद भी मंडीसमितियों ने व्यापारियोंसे चेक मेंभुगतान स्वीकार किया है, जो बाद मेंबाउंस हो गया।अधिकारियोंने इसको लेकरकोई अनुवर्ती कार्रवाईनहीं की। बड़ीमात्रा में बकायाराशि की वसूलीनहीं हुई है।

विधान मंडल केमानसून सत्र सेपहले वायरल मंत्रीदिनेश प्रताप सिंहके इस पत्रको लेकर विपक्षीदलों को भीसरकार को घेरनेका मौका मिलगया है।

0 views0 comments

コメント


bottom of page