google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

9 जून को शपथ - "मैं NDA को ही चुनुंगा" , तीसरी बार नेता चुने जाने के बाद मोदी ने क्यों कहा - एक तरफ जनता के सपने तो दूसरी तरफ NDA



नरेंद्र मोदी ने लगातार तीसरी बार केंद्र में सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है। पुरानी संसद के सेंट्रल हॉल में एनडीए संसदीय दल की बैठक हुई, जिसमें उन्हें संसदीय दल का नेता चुन लिया गया। इस फैसले के बाद पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कई मुद्दों को उठाया। उन्होंने विपक्षी इंडिया गठबंधन पर अटैक तो किया ही साथ में ईवीएम का जिक्र कर विरोधियों पर तंज पर भी कसा। उन्होंने एनडीए की विशेषता बताते हुए कहा कि जहां कम, वहां हम। कैसे अलग-अलग राज्यों में एनडीए ने कार्य किया। पवन कल्याण के प्रदर्शन पर भी उन्होंने रिएक्ट करते हुए कहा कि पवन नहीं ये आंधी है। पीएम मोदी ने एनडीए को नेचुरल अलायंस बताया। उन्होंने कहा कि ना हारे थे ना हारे हैं। पार्टी के खराब प्रदर्शन के नरैटिव पर भी रिएक्ट किया।


जहां कम-वहां हम...


लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने से पहले पीएम मोदी ने बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, 'हिंदुस्तान के इतने महान लोकतंत्र की ताकत देखिए कि एनडीए को आज देश के 22 राज्यों में लोगों ने सरकार बनाकर उनको सेवा करने का मौका दिया है। हमारा ये अलायंस सच्चे अर्थ में भारत की आत्मा है। जहां कम, वहां हम... एनडीए सरकार ने देश को गुड गवर्नेंस दिया है और एक प्रकार से एनडीए कहते ही गुड गवर्नेंस का पर्यायवाची बन जाता है। हम सबके केंद्र बिंदु में गरीब कल्याण और गुड गवर्नेंस सर्वोपरि रहा है। आप किसी भी बालक से पूछिए कि लोकसभा चुनाव के पहले किसकी सरकार थी तो वह कहेगा कि एनडीए और लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद भी NDA की सरकार बनी। तो हम हारे कहां से। पहले भी एनडीए की सरकार थी आज भी NDA की है और कल भी NDA की सरकार रहेगी। 10 साल बाद भी कांग्रेस 100 के आंकड़े को नहीं छू पाई। अगर मैं कांग्रेस के 2014, 2019, और 2024 चुनाव को जोड़ों तो इन तीनों चुनावों में जितनी सीटें मिली हैं उससे अधिक हमें इसमें मिला है।

 

पवन नहीं, ये आंधी है


नरेंद्र मोदी ने संसद भवन के सेंट्रल हॉल में संबोधन के दौरान एनडीए में शामिल जनसेना पार्टी के प्रमुख पवन कल्याण की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि ये पवन नहीं आंधी है। आंध्र प्रदेश ने इतना बड़ा हमारे प्रति जनमत दिया है। हिंदुस्तान के लिए एक सामान्य मानवीय के विकास की जीविषा है उसका प्रतिबिंब है। इससे पहले पवन कल्याण ने कहा कि मोदी जी आप देश को प्रेरित करते हैं। जब तक आप इस देश के प्रधानमंत्री हैं, हमारा देश कभी किसी के सामने नहीं झुकेगा।

 



गरीबों के देवता... महाप्रभु जगन्नाथ के बारे में ये बोले पीएम मोदी


ओडिशा में बीजेपी ने शानदार प्रदर्शन किया। राज्य में बीजेपी की सरकार तो आई ही लोकसभा चुनाव में भी ये सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी। पीएम मोदी ने ओडिशा में पार्टी के प्रदर्शन को सराहा। इस दौरान उन्होंने कहा कि महाप्रभु जगन्नाथ, मैंने अनुभव किया हमेशा कि ये गरीबों के देवता हैं। वहां जो क्रांति रूप परिणाम आया और मैं इसके साथ कह सकता हूं कि विकसित भारत का जो हमारा सपना है, आने वाले 25 साल, पहले मैंने 10 साल कहा था अब 25 साल कह रहा हूं, महाप्रभु जगन्नाथ की कृपा से ओडिशा देश की विकास इंजन में एक होगा।

 

EVM जिंदा है या मर गया


लोकसभा चुनाव के दौरान लगातार ईवीएम का मुद्दा विपक्ष की ओर से उठाया जा रहा था। अब पीएम मोदी ने ईवीएम का जिक्र कर विपक्षी इंडिया गठबंधन पर करारा अटैक किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ईवीएम जिंदा है या मर गया, पीएम मोदी का विपक्ष पर तंज, क्योंकि ये लोग तय करके बैठे थे कि भारत के लोकतंत्र और लोकतंत्र की प्रक्रिया के प्रति विश्वास ही लोगों का उठ जाए। लगातार ईवीएम को गाली देना, मुझे तो लगता है कि इसबार वो ईवीएम की अर्थी निकालेंगे। लेकिन 4 जून तक उनकी जुबान पर ताले लग गए और वो चुप हो गए। ये ताकत है भारत के लोकतंत्र की और चुनाव आयोग की। मैं मानता हूं कि 5 साल अब ईवीएम सुनाई नहीं देगा। 2029 में जब हम जाएंगे तब ये मुद्दा फिर उठेगा।

 

नेचुरल अलाएंस NDA


पीएम मोदी ने NDA गठबंधन को ऑर्गेनिक अलायंस यानी नेचुरल अलायंस करार दिया। उन्होंने कहा कि इस गठबंधन का मूल और विचारधारा एक है राष्ट्र प्रथम। एनडीए अलायंस सबसे सफल गठबंधन है। ये सत्ता प्राप्त करने का, सरकार चलाने का या कुछ दलों का जमावड़ा नहीं है। ये राष्ट्र प्रथम की मूल भावना से नेशन फर्स्ट के प्रति कमिटेड समूह है।

 

ना हारे थे-ना हारे हैं


एनडीए के खराब प्रदर्शन के नरैटिव पर भी पीएम मोदी ने रिएक्ट किया। उन्होंने कहा कि ना हारे थे ना हारे है। ये एनडीए की महाविजय है। आपने देखा दो दिन कैसा चला वो तो हार चुके हैं... विपक्ष ने ऐसा किया क्योंकि उनको अपने कार्यकर्ताओं का मनोबल ऊंचा करना था। गठबंधन के इतिहास में अगर आंकड़ों के हिसाब से देखें तो ये सबसे मजबूत गठबंधन की सरकार है। लेकिन कोशिश ये की गई इस विजय को स्वीकार नहीं करना, उसको पराजय की छाया में डुबोकर रखना। लेकिन ऐसी चीजों की बाल मृत्यु हो जाती है, लेकिन देशवासी जानते हैं न हम हारे थे और न हारे हैं। लेकिन चार तारीख के बाद हमारा जो व्यवहार रहा है वो हमारी पहचान बताता है कि हम विजय को पचाना जानते हैं। पहले भी एनडीए थी, आज भी एनडीए है और कल भी एनडीए है। तो हारे कहां भाई, आप सोचिए 10 साल बाद भी कांग्रेस 100 के आंकड़े को नहीं छू पाई और अगर मैं 2014, 2019 और 2024 में तीन चुनाव को जोड़कर कहूं कांग्रेस के तीन चुनाव में जितनी सीटें नहीं मिली है उससे ज्यादा हमें इस चुनाव में मिली है। मैं साफ देख रहा हूं साथियों कि इंडि वालों को अंदाज नहीं है कि धीरे-धीरे पहले तो डूब रहे थे ये तेज गति से गर्त में जाने वाले हैं।



मैं एनडीए को ही चुनूंगा...


अपने भाषण के दौरान मोदी ने एक खास बात भी कही। मोदी ने कहा कि अगर मैं एक तरफ NDA रखूं और दूसरी तरफ भारत के लोगों के सपने और संकल्पों को रखूं तो मैं कहूंगा... NDA। पीएम ने इसी के साथ एनडीए का मतलब भी बताया। 

 

N- न्यू इंडिया

D- डेवलप इंडिया

A- एस्पिरेशनल इंडिया

पीएम ने कहा कि इन सपनों और संकल्पों को पूरा करना, ये हम सबका संकल्प भी है, कमिटमेंट भी है और इसको लेकर हमारे पास रोडमैप भी है।


नरेंद्र मोदी ने कहा कि 2024 का जनादेश एक बात को बार-बार मजबूती दे रहा कि देश को आज के वातावरण में सिर्फ एनडीए पर ही भरोसा है। अब जब इतना भरोसा है तो स्वाभाविक है कि देश की अपेक्षाएं भी बढ़ेंगी। मैं इसे अच्छा मानता हूं, हम सबका कर्तव्य भी मानता हूं। हमने 10 साल जो काम किया था वो तो ट्रेलर है। हमें और तेजी से देश की आकांक्षाओं को पूर्ण करने में रत्तीभर भी विलंब नहीं करना है।हम विकास का नया अध्याय लिखेंगे, जनता-जर्नादन की भागदारी का नया अध्याय लिखेंगे, सब मिलकर विकसित भारत के सपने को साकार करके रहेंगे।

 

 

एक पेड़ मां के नाम-सबसे पहल करने का आग्रह किया


एनडीए संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी ने 'एक पेड़ मां के नाम' कैंपेन का भी जिक्र किया। उन्होंने सभी से इस पहल को अपनाने का आग्रह किया। प्रकृति के पोषण के लिए धरती माता और मानव जीवन के पोषण के लिए हमारी माताओं के बीच समानता दर्शाते हुए पीएम मोदी ने दुनिया भर के लोगों से अपनी मां के प्रति प्रेम, आदर और सम्मान के प्रतीक के रूप में एक पेड़ लगाने और धरती माता की रक्षा करने का संकल्प लेने का आह्वान किया।

 

 

वन लाइफ-वन मिशन और वो है मेरी भारत माता


पीएम मोदी ने कहा कि मैं राष्ट्र के प्रति पूरी तरह प्रतिबद्ध हूं। मैं सातों दिन 24घंटे उपलब्ध हूं, हम सभी को देश के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है। मैं विश्वास दिलाता हूं कि मैं आपकी आशाओं और इच्छाओं को पूरा करने में कोई कमी नहीं छोड़ूंगा। मेरे लिए यह जन्म सिर्फ और सिर्फ, वन लाइफ वन मिशन है और वो है मेरी भारत माता। यह मिशन है 140 करोड़ देशवासियों के सपनों को पूरा करने के लिए खप जाना।


लगातार तीसरी बार लोकसभा के नेता चुने जाने पर पीएम मोदी को सीएम योगी ने दी बधाई


पार्लियामेंट के सेंट्रल हॉल में पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की थपथपाई पीठ


अपने एक्स हैंडल पर सीएम योगी ने प्रधानमंत्री मोदी को दी शुभकामनाएं


कहा- पीएम मोदी के नेतृत्व में एनडीए परिवार 'आत्मनिर्भर भारत-विकसित भारत' के निर्माण के लिए पूर्णतः संकल्पित



लखनऊ, 7 जून। शुक्रवार को नरेंद्र मोदी का लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री बनना तय हो गया है। भाजपा संसदीय दल और एनडीए के संसदीय दल ने पार्लियामेंट के सेंट्रल हॉल में नरेंद्र मोदी को लोकसभा का नेता चुना लिया। इस ऐतिहासिक अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी को बधाई दी। उन्होंने पीएम मोदी के नेतृत्व में आत्मनिर्भर और विकसित भारत की दिशा में तेजी से आगे बढ़ने की उम्मीद जताई। सीएम योगी ने अपने एक्स हैंडल पर लिखा, 'एक भारत-श्रेष्ठ भारत' के शिल्पकार, अमृतकाल के सारथी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को लगातार तीसरी बार सर्वसम्मति से भाजपा संसदीय दल, एनडीए संसदीय दल और लोक सभा के नेता चुने जाने पर हार्दिक बधाई। प्रधानमंत्री मोदी जी के यशस्वी नेतृत्व में एनडीए परिवार 'आत्मनिर्भर भारत-विकसित भारत' के निर्माण और 140 करोड़ परिवारीजनों की सेवा के लिए पूर्णतः संकल्पित है। भारत माता की जय।


पीएम मोदी ने थपथपाई सीएम योगी की पीठ


सेंट्रल हॉल में इस कार्यक्रम में सीएम योगी भी उपस्थित थे। जब पीएम मोदी को एनडीए के संसदीय दल का नेता चुना गया तो सभी उपस्थित लोगों ने उन्हें पुष्पगुच्छ देकर उनका अभिवादन किया। इस दौरान जैसे ही सीएम योगी ने पीएम मोदी को बुके भेंट किया, पीएम मोदी ने उनकी पीठ थपथपा दी। लोकसभा नतीजों के बाद यह पहला अवसर था, जब सीएम योगी और पीएम मोदी की मुलाकात हो रही थी। ऐसे में पीएम मोदी का सीएम योगी की पीठ थपथपाना उनकी हौसलाअफजाई करना था, जो यह स्पष्ट संदेश है कि उत्तर प्रदेश के नतीजों को लेकर पीएम मोदी बहुत ज्यादा चिंतित नहीं हैं और उन्हें सीएम योगी के नेतृत्व और उनकी क्षमता पर पूरा भरोसा है।

Commentaires


bottom of page