google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

पाकिस्तान में उफान पर सियासी तपिश, एक और सहयोगी दल ने छोड़ा इमरान का साथ


इस्‍लामाबाद, 27 मार्च 2022 : पाकिस्‍तानमें सियासी तपिशपूरे उफान परहै। विपक्ष इमरानखान की सरकारको उखाड़ फेंकनेपर आमादा है।मुश्किल में फंसेइमरान खान केसहयोगी भी उनकासाथ छोड़ने लगेहैं। सत्‍तारूढ़पीटीआइ की सहयोगीजम्हूरी वतन पार्टीने भी सरकारका साथ छोड़दिया है। जम्हूरीवतन पार्टी केप्रमुख शाहजैन बुगती नेइमरान की रैलीसे ऐन पहलेसरकार से अलगहोने की घोषणाकी।

शाहजैनबुगती ने कहा किउनकी पार्टी विपक्षकी ओर सेलाए गए अविश्‍वास प्रस्‍ताव परसरकार के खिलाफमतदान करेगी। पाकिस्‍तानी अखबार 'द एक्सप्रेस ट्रिब्यून' की रिपोर्ट केमुताबिक शाहजैन बुगती बलूचिस्तानमें सुलह औरसद्भाव को लेकरइमरान खान केविशेष सहायक केरूप में कार्यरतथे। मिली जानकारी के मुताबिक रिपोर्ट में कहाहै कि उन्‍होंने पाकिस्तान पीपुल्सपार्टी (पीपीपी) के अध्यक्षबिलावल भुट्टो जरदारी केसाथ बैठक केबाद पद सेइस्तीफा दे दिया।

इमरानखान की पार्टीपाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफयानी पीटीआइ 28 मार्चको नेशनल असेंबलीमें अविश्वास प्रस्तावका सामना करनापड़ सकता है।पीटीआई के कईसदस्‍य भीपीएम इमरान खानके खिलाफ खुलकरसामने आए हैं।आलम यह हैकि सत्ताधारी दलके कम सेकम 50 मंत्री भी 'लापता' हो गएहैं। सत्‍तापक्ष में लगातारहो रही बगावतको देखकर विपक्षके हौसले बुलंदहैं। विपक्ष कोभरोसा है किउसके अविश्‍वासप्रस्ताव के चलतेइमरान खान कीसरकार गिर जाएगी।

5 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0