google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

पीएम मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में करेंगे भूमि पूजन, भव्यतम राम मंदिर का निर्माण होगा आरंभ

Updated: Jul 19, 2020




प्रधानमंत्री नरेंद मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन करेंगे. पीएमओ ने तारीख तय कर दी है.


अयोध्या में राम मंदिर मॉडल में कोई परिवर्तन नहीं किया जाएगा। लेकिन राम मंदिर के शिखर को और ऊंचा करते हुए उत्तर और दक्षिण साइड राम मंदिर को विस्तार दिया जाएगा। कि खबर के बाद से अयोध्या के साधु-संतों में खुशी की लहर है ।


अयोध्या राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की सर्किट हाउस में हुई बैठक में जहां एक और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अयोध्या राम जन्म भूमि में रामलला के मंदिर के लिए भूमि पूजन की डेट को लेकर चर्चा की गई। जिसमें 3 अगस्त और 5 अगस्त जैसी तिथि को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास उनके आने के लिए पत्र के माध्यम से अवगत कराया गया था ।



वही राम मंदिर की भव्यता को लेकर संतो की मांग पर भी ट्रस्ट ने गंभीरता से विचार किया है। अब राम मंदिर के शिखर 128 फीट की जगह 161 फीट किया जाएगा। साथ ही राम मंदिर विशाल बने इसके लिए राम मंदिर मॉडल में कोई परिवर्तन नहीं करते हुए उत्तर और दक्षिण साइड विस्तार दिया जाएगा ।


ट्रस्ट द्वारा इस निर्णय पर संतो ने खुशी जाहिर की है खासकर उन संतो ने खुशी जाहिर की है जो राम मंदिर की भव्यता को लेकर मांग कर रहे थे। राम मंदिर भव्य बने की मांग करने वाले संत जगतगुरु राम दिनेशचार्य ने राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट और ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास व महामंत्री चंपत राय को धन्यवाद दिया है।



जगतगुरु राम दिनेशचार्य का कहना है कि ट्रस्ट ने संतो की मांग पर ध्यान दिया है । संतो और करोड़ों राम भक्तों की भावनाओं को ट्रस्ट ने समझा । इसके लिए ट्रस्ट को साधुवाद 128 फीट में भगवान राम के साथ न्याय नहीं हो रहा था। अब 161 फीट की ऊंचाई से संतों और राम भक्तों की इच्छाओं की पूर्ति ट्रस्ट ने किया है। राम मंदिर के साथ अन्याय हुआ है।


वही भव्य राम मंदिर की मांग करने वाले रसिक पीठाधीश्वर महंत जनमेजय शरण का कहना है कि सभी धर्मचार्यों का मत था कि भव्य राम मंदिर बने। देश विदेश के राम भक्तों की मांग थी कि राम जी के अनुरूप भव्य राम मंदिर बने। जिसे ट्रस्ट ने मान लिया है। ट्रस्ट को साधुवाद है । नव्य भव्य मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट को साधुवाद है । ट्रस्ट प्रतिमूर्ति रूप में इसे प्रतिपादित भी करें । जो संत पहले ट्रस्ट को कोसते नजर आ रहे थे आज उनमें बदलाव है  राम मंदिर की भव्यता राम मंदिर की ऊंचाई बढ़ने से वह अपनी जीत बात ट्रस्ट के पक्ष में खड़े हो गए हैं ।


अयोध्या से शिल्पी / सुमित

टीम स्टेट टुडे


5 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0